UIDAI ने बदल दिया आपका आधार कार्ड, बदला हुआ नज़र आएगा आपका आधार कार्ड..

0
442

Aadhar card virtual id: आधार जारी करने वाले इस प्राधिकरण ने एक बयान में कहा है कि उसने E-आधार पर मौजूदा QR code की जगह नया QR code शुरू किया है.

Aadhar card virtual id

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने E-आधार के लिए एक नया QR code शुरू किया है. इस QR code में अब आधार धारक की जनसांख्यिकीय जानकारी के साथ साथ-साथ फोटो भी होगी. आधार जारी करने वाले इस प्राधिकरण ने एक बयान में कहा है कि उसने E-आधार पर मौजूदा QR code की जगह नया QR code शुरू किया है. इस QR code में अब आधार किसी भी indivisual की demographic डिटेल के साथ उसकी फोटो भी होगी. किसी भी indivisual का offline verification करने के लिए UIDAI ने अब ई आधार में नया update किया है.

Aadhar card virtual id

Aadhar card virtual id

नए code verification होगी आसान

अब तक इस कोड में केवल आधार धारक से जुड़ी जानकारी होती थी. नए कोड में उसकी फोटो भी होगी. आपको बता दें, QR code barcode label का ही एक रूप है. इसमें छुपी सूचनाओं को मशीन पढ़ सकती हैं. ई-आधार, 12 अंकों की विशेष संख्या का electronic संस्करण है जिसे UIDAI की website से download किया जा सकता है. UIDAI के CEO अजय भूषण पांडेय का कहना है कि यह एक साधारण offline mechanism है, जो किसी आधार कार्ड की वास्तविकता जल्द verify कर लेगा.

Aadhar card virtual id

बदल जाएगा आपका ‘आधार’

प्राधिकरण का कहना है कि बैंक जैसे संस्थान अब आधार कार्ड का offline verification भी कर पाएंगे. UIDAI के CEO अजय भूषण ने कहा, ‘यह आधार कार्ड के त्वरित सत्यापन का सरल ‘offline’ प्रणाली है. उनका कहना है कि E-आधार पर फोटो भी होगी, जिससे यह पहचान करना आसान होगा कि पहचान कराने वाले का ही आधार कार्ड है.

और पढ़े: OMG ! SC Order: Now no need to link Aadhaar to mobiles and bank accounts

मिलेंगी सभी सुविधाएं

E-आधार QR code reader software Nodal Body की website पर 27 मार्च 2018 से ही उपलब्ध है. सूत्रों के अनुसार offline verification की इस सुविधा से एक और विकल्प उपलब्ध होगा और यह सुनिश्चित होगा कि आधार कार्ड धारक को आधार से जुड़ी किसी सुविधा से वंचित नहीं किया जाए.

virtual ID का beta version हुआ था जारी

UIDAI ने हाल ही में virtual ID का beta version जारी किया था. इसे UIDAI की website पर जनरेट किया जा सकता है. 16 अंकों की यह ID जनरेट करने के बाद कहीं भी आधार verification के लिए आप इस ID को दे सकेंगे. आप virtual ID के जरिए ही अपनी पहचान को सत्यापित करा सकेंगे और आधार कार्ड नंबर देने की भी जरूरत नहीं होगी. आधार कार्ड की अनिवार्यता के विरोध और उसके चलते privacy के खतरे के मद्देनजर UIDAI ने यह कदम उठाया है. 16 अंकों की इस ID के जरिए आपके पते और फोटो का verification भी हो सकेगा.

और पढ़े: आधार कार्ड हो जाएगा ‘बेकार’! 1 जून से मोदी सरकार ला रही है नई ‘वर्चुअल ID’

——