शहीद के मासूम बेटे ने दी मुखाग्नि, पत्नी ने कहा बदला लेने का मौका दे CRPF

कोबरा बटालियन के डिप्टी कमांडेंट विकास सिंघल जी सुकमा में IED (इंप्रोवाइस एक्सप्लोसिव डिवाइस) ब्लास्ट की चपेट में आने के चलते शहीद हो गए थे. रविवार को हुए इस हादसे में गंभीर रूप से घायल होने के बाद इन्हें हेलीकाप्टर से रायपुर लाया गया था. विकास उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में रहने वाले थे.

कोबरा बटालियन की वह टीम जो पालोड़ी में तैनात थी, उसी का हिस्सा थे विकास सिंघल. यह रविवार को एरिया डोमिनेशन के लिए निकले थे, ऐसे में कासाराम गांव के पास जवानों की नजर नक्सलियों द्वारा प्लांट किए गए IED पर पड़ने के बाद उन्होंने CRPF BDS (बम डिस्पोज स्क्वॉड) टीम को बुलाया.

जब CRPF BDS (बम डिस्पोज स्क्वॉड) टीम उस IED को डिफ्यूस करने में लगी थी, उस समय उसके पास ही प्लांट किये गए IED में ब्लास्ट हो गया. ब्लास्ट हुए IED पर किसी की नज़र नहीं पड़ी थी, जिस वजह से अचानक हुए ब्लास्ट में डिप्टी कमांडेंट विकास सिंघल बुरी तरह से घायल हो गए और उनके दो साथी मामूली चोटों का शिकार हुए.

CRPF ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक पोस्ट डालते हुए लिखा की, “हम शहीद डिप्टी कमांडेंट विकास सिंघल के वीरता और दृढ़ निष्ठा को सलाम करते हैं, जिन्होंने सुकमा, छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लड़ते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया. हम अपने बहादुर के परिवार के साथ खड़े हैं.” आज उनका शरीर पंचतत्व में वलीन हो गया, उनका एक छोटा सा बेटा हैं जिसने अपने पिता को मुख्याग्नि दी.

शहीद डिप्टी कमांडेंट विकास सिंघल की पत्नी ने CRPF से अपने पति की शहादत का बदला लेने के लिए मंजूरी मांगी हैं. आपको बता दें की ऐसी कई उदाहरण हैं, जिसमें पति की शहीदी के बाद उसकी पत्नी को सैन्य बलों की टुकड़ी में शामिल कर लिया हो. देखना यह होगा की क्या CRPF डिप्टी कमांडेंट विकास सिंघल की पत्नी को CRPF में देश की सेवा और अपने पति की शहादत का बदला लेने का अवसर देती है या नहीं.

सभी तरह की खबरों से जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़े

RELATED ARTICLES