जय श्रीराम’ कहने वालों को आतंकवादी बताने वाला शरजील उस्मानी, अब हो गया मामला दर्ज

मुस्लिम एक्टिविस्ट सरजील उस्मानी पर हिंदुओं को आतंकवादी बताने पर महाराष्ट्र में एफआईआर दर्ज की गई है. सरजील उस्मानी ने कुछ समय पूर्व अपने ट्विटर हैंडल पर हिंदुओं के खिलाफ विवादास्पद टिप्पणी कर दी थी. इस ट्वीट पर विवाद बढ़ने के पश्चात इसे डिलीट कर दिया गया था.

सरजील उस्मानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र रह चुके हैं. इन्होंने 17 मई 2021 को एक ट्वीट लिखा था, जिसमें उसने कहा था कि,” जो भी हिंदू जय श्री राम बोलता है वह एक आतंकवादी है.”

इस ट्वीट के बाद ही उसने अपना ट्विटर अकाउंट बंद कर दिया था. इसके पश्चात उसने जो अपना अकाउंट सार्वजनिक किया तब त यह ट्वीट डिलीट हो चुका था.

एक गुनाह के वजह से महाराष्ट्र पुलिस ने भारतीय दंड संहिता धारा 295-A (धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाना) तथा इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट (ITA) के तहत उस्मानी के विरुद्ध मामला दर्ज किया है.

उस्मानी के खिलाफ यह पहला मामला नहीं है जो दर्ज हुआ है. इसके अलावा भी कई ऐसे मामले हैं जिसमें उस्मानी का नाम शामिल थे. उत्तर प्रदेश एंटी टेरेरिस्ट स्क्वाड (ATS) मैं जुलाई 2020 में आजमगढ़ से उसे गिरफ्तार किया था. इससे पहले 2019 में उस पर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी इंसाफ कराने को लेकर उसका नाम आया था.

 

पिछले कई वर्षों से ऐसे कई सारे मामले देखने को मिले हैं जिसमें हिंदू विरोधी नारे और प्रोपेगेंडा चलाया जाता रहा है. भारत में कई ऐसे मुस्लिम विचारधारा रखने वाले व्यक्ति हैं जो अपनी हिंदू घृणा का परिचय दिया है.

सभी तरह की खबरों से जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़े

RELATED ARTICLES