उत्तर प्रदेश में हुआ दर्दनाक हादसा, पत्नी रह गई और 4 जिंदगी चली गई

Tragic accident happened in Uttar Pradesh; प्रयागराज-कानपुर हाईवे पर शनिवार कि सुबह आधार पुर गांव के सामने तेज रफ्तार कार खड़े कंटेनर से टकरा गई इस हादसे में कार सवार रेलवेकर्मी उनके पिता और दो बेटियों की मौत हो गई जबकि कार चला रही रेलकर्मी की पत्नी शिक्षिका (Teacher) वह बेटा घायल हो गया.

हम आपको बता दें कि प्रतापगढ़ के रानीगंज में रहने वाली नीलम वर्मा कानपुर (Kanpur) जाने के लिए भोर पहर से ही तैयारी में जुटी थीं. तड़के करीब चार बजे पिकअप में सामान लादा गया. पांच से छह बजे के बीच परिवार कानपुर के लिए निकला. ऐसा अंदेशा जताया जा रहा है कि कार चलाते वक्त नीलम को झपकी आई और उनकी कार सिक्सलेन पर किनारे खड़े कंटेनर में पीछे से जा टकराईं.

जिस कार से परिवार यात्रा कर रहा था, वह कार नीलम वर्मा ने 2020 में दीपावली पर ली थी. पुलिस जब मौके पर पहुंची तो बेहोश नीलम वर्मा ड्राइविंग सीट पर थीं. उन्होंने सीट बेल्ट लगा रखी थी और उनकी तरफ का एयरबैग भी खुला था. जबकि बगल में बैठे अमर सिंह ने सीट बेल्ट नहीं लगा रखी थी. हालांकि उनके सामने लगा एयरबैग खुला मिला, लेकिन वह उनकी जान नहीं बचा सका. पुलिस का मानना है कि सीट बेल्ट न लगी होने से अमर सिंह का सिर आगे किसी चीज से टकरा गया. सिर पर आई गंभीर चोट से इसकी पुष्टि भी होती है.

राहगीरों ने पुलिस को बुलाया कि कार तेज रफ्तार में थी. क्षतिग्रस्त कार को देखकर पुलिस का भी अनुमान है कि कार की रफ्तार 100 किमी प्रति घंटे के करीब थी और जैसे ही वह कंटेनर से टकराई तो एक तेज आवाज ने आसपास मौजूद लोगों को चौंका दिया. जब लोग कार के नजदीक पहुंचे तो अंदर सभी लोग मरणासन्न हालत में पड़े थे.

हादसे के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और सभी को बाहर निकाला गया। एंबुलेंस से अमर सिंह, अनन्या, तन्नो, रामकिशोर, नीलम को एंबुलेंस के जरिए अस्पताल लाया गया.

सभी तरह की खबरों से जुड़े रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़े

RELATED ARTICLES