साउथ सिनेमा के जाने माने कलाकार किच्छा सुदीप ने बीते दिन यह बयान देकर हंगामा कर दिया कि हिंदी अब राष्ट्रभाषा नहीं रही. उन्होंने यह बयान हिंदी भाषी राज्यों में साउथ फिल्मों की अपार सफलता पर दिया है। ‘बाहुबली सीरीज’, ‘ट्रिपल आर’ और ‘केजीएफ 2’ की बंपर कमाई के बाद यह बहस लगातार बढ़ती जा रही है कि क्या साउथ की फिल्में अब हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को पछाड़कर पूरे देश पर कब्जा कर लेंगी? किच्चा सुदीप के इस बयान को कई लोग गले नहीं लगा रहे हैं, जिनमें अजय देवगन भी एक हैं.

गौरतलब है कि अजय देवगन ने कुछ समय पहले इंटरनेट पर ट्वीट कर कीचचा से पूछा है कि अगर हिंदी राष्ट्रभाषा नहीं है तो वह इसी भाषा में डबिंग करके अपनी फिल्में क्यों रिलीज कर रहे हैं? अजय देवगन ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘किच्छा मेरे भाई, अगर आपके अनुसार हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा नहीं है तो आप अपनी मातृभाषा की फिल्मों को हिंदी में डब करके रिलीज क्यों करते हैं? हिंदी हमारी मातृभाषा और राष्ट्रभाषा थी, है और रहेगी। जन गण मन।’

हम आपको बताते चलें कि अजय देवगन के इस ट्वीट को उनके ही फैन्स गले नहीं लगा रहे हैं. फैन्स लगातार अजय देवगन के लिए ट्वीट कर लिख रहे हैं कि उनके जैसे एक्टर को ऐसा करना शोभा नहीं देता. एक फैन ने ट्वीट में लिखा, ‘कृपया इस भाषा युद्ध को बंद करें। भारत की हर भाषा महत्वपूर्ण है। हिंदी भाषी हिंदी बोलते हैं, कन्नड़ भाषी कन्नड़ बोलते हैं और तमिल भाषी तमिल बोलते हैं। हमारे देश की हर भाषा खूबसूरत है।

हम सभी इस बात से पूरी तरह से वाकिफ हैं कि एक तरफ जहां अजय देवगन बॉलीवुड इंडस्ट्री के सुपरस्टार उनकी हर फिल्मों का उनके फैंस और बॉलीवुड के चाहने वालों को बेसब्री से इंतजार रहता है वहीं दूसरी तरफ भी साउथ फिल्म के सुपरस्टार और विलेन के रूप में किच्छा  जाने जाते हैं अब यह देखना दिलचस्प होगा कि इन दोनों के बीच कितना लंबे समय तक ट्विटर पर बहस बाजी चलती है और इस पर साउथ फिल्म एक्टर का अगला बयान क्या आता है.

By Admin