Anna Support Modi: मोदी के साथ हुए ‘अन्ना हजारे’ भी, जान कर आप भी हो जायेगे हैरान … जंतर मंतर (Jantar-mantar) से लोकपाल बिल के लिए कांग्रेस सरकार को जमकर कोसने वाले समाज सेवी अन्ना हजारे (Anna Hazare) BJP सरकार के आते ही जनहित की सभी बाते भूलकर एक दम गायब हो गये! लेकिन अब 5 राज्यों के चुनावी नतीजों के बाद फिर से EVM पर शुरू हुई! बहस में अन्ना भी पांच 4 साल बाद आ कूद पड़े हैं!

Anna Support Modi-

BJP के सपोर्ट (Support) में अन्ना ने तोड़ी 4 साल की चुप्पी –

ये वहीं अन्ना है जो BJP काल में करीब 4 साल तक मोन रहे! लेकिन अब जब बीजेपी (Bhajpa party) पर संकट आया तो अपनी गुफा से बाहर निकलकर कहने लगे कि…

“पूरी दुनिया आगे बढ़ रही है, और हम यहां पर दोबारा बैलेट पेपर (Ballet paper) के जमाने में जाने की बात कर रहे हैं! इतना ही नहीं अन्ना ने ये भी कहा कि, EVM का इस्तेमाल करना बिल्कुल सही है! चुनाव आयोग (Election Commission) को इससे आगे बढ़कर टोटलाइजर (Totliser) का इस्तेमाल करना चाहिए, जिससे गलती की गुंजाइश और भी कम हो जाए!”

कांग्रेस काल (Congress Period) में जनहित के लिए अक्सर अन्ना करते थे बड़ी-बड़ी बाते –

अगर याद हो तो करीब 4 साल पहले काँग्रेस काल में अन्ना ने लोकपाल बिल (Lokpal Bill) के लिए जनहित में आन्दोलन किया था! देशहित की बड़ी-बड़ी बाते करते हुए! वो लोकपाल बिल को पास करने के लिए अनशन (Hunger Strike) पर कई-कई दिन भूखे प्यासे बैठे थे!

बीजेपी काल (BJP Period) में अन्ना का आंदोलन पड़ गया फ़ीका –

उस दौर में अन्ना ने जनता को बरगलाते हुए देश में भूचाल ला दिया था! परिणामस्वरूप congress की छवि खराब होने से जनता ने काँग्रेस को नकार दिया और BJP की सरकार बन गई! आज जबकि BJP सरकार को केंद्र में करीब 4 साल का वक्त हो चला है! लेकिन फिर भी भाजपा राज में लोकपाल बिल (Lokpal Bill) पास नही होने पर भी अन्ना का आंदोलन नही हुआ!

EVM मामले में भाजपा के साथ आए अन्ना –

इसी बीच जब दिल्ली मुख्यमंत्री केजरीवाल (Kejriwal, CM Delhi) ने बैलेट पेपर से चुनाव की मांग बस की ही थी! कि अन्ना की नींद खुल गई! EVM के समर्थन में भाजपा के पाले में खड़े अन्ना ने ये तक कह दिया कि बैलेट पेपर (Ballet paper) के इस्तेमाल से देश पीछे चला जाएगा!

Result –

गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों में ईवीएम के मुद्दे को लेकर लगातार सियासी बहस जारी है! पहले बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati, BSP) ने यूपी चुनाव में EVM पर सवाल उठाये थे! जिसके समर्थन में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने भी जांच होने की मांग की थी!

खुद दिल्ली मुख्यमंत्री (Delhi, CM) भी संसद तक में EVM का मुद्दा उठा चुके है ऐसे में अन्ना हजारे का EVM के समर्थन में बोलना सीधा-सीधा बीजेपी को समर्थन करना है!

और देखें – साउथ अफ्रीका की Green Dress देख कर शिखर धवन को हो क्या जाता है…

 

By dp

You missed