गाजी मियाँ को मारने वाले राजा सुहेलदेव की बायोपिक को अक्षय ने ठुकराया

क्या आप जानते हैं बॉलीवुड में राजा सुहेलदेव पर एक बायोपिक बनाने को लेकर प्रयास किया जा रहा हैं. इतिहास में दर्ज़ है की राजा सुहेलदेव ने ही गाजी मियाँ को युद्ध में हराकर मार दिया था. इसीलिए डायरेक्टर इस फिल्म में राजा सुहेलदेव का किरदार निभाने के लिए अक्षय कुमार को लेना चाहते थे, लेकिन उन्होंने यह फिल्म करने से इंकार कर दिया. उसके बाद डायरेक्टर ने अजय देवगन से भी संपर्क किया लेकिन उन्होंने भी इस फिल्म को करने से साफ़ इंकार कर दिया. अगर आपको नहीं पता की गाज़ी मियाँ कौन था तो आपको बता दें 11वीं शताब्दी में बहराइच में ग़ज़नवी सेनापति सैयद सालार मसूद ग़ाज़ी को ही लोग गाज़ी मियाँ कहा करते थे. फिर एक बार युद्ध के दौरान गाज़ी मियाँ का सामना राजा सुहेलदेव के साथ हुआ और राजा सुहेलदेव ने गाज़ी मियाँ को युद्ध में हराते हुए उसे मौत के घाट उतार दिया. बताया जा रहा है की, इस पर अमिश त्रिपाठी ने एक किताब लिखी हुई है, जिसपर आधारित फिल्म के डायरेक्टर अश्विन वर्डे इसका निर्माण करना चाहते हैं. अश्विन वर्डे ने कहा की अक्षय कुमार को फिल्म की स्क्रिप्ट पसंद नहीं आई, उन्होंने इसकी स्क्रिप्ट में सुधार करने की बात की और उनके पास फिलहाल डेट्स न होने की भी बात की. फिल्म के डायरेक्टर का कहना है की, हम इस फिल्म की शूटिंग को अगले साल यानी 2021 में शुरू करना चाहते हैं. इसी के साथ फिल्म के मुख्य किरदार यानी अभिनेता को कम से कम 70 दिन हमें देने होंगे और अक्षय कुमार का कहना है की उनके पास अगले 2 साल के लिए बिलकुल भी समय नहीं हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो फिल्म के डायरेक्टर जल्द ही किसी दूसरे स्टार को फिल्म में काम करने के लिए मना सकते हैं. लेकिन सवाल यह है की आखिर ऐसी क्या वजह है की बॉलीवुड के दिगज स्टार ऐसी फिल्म को ठुकरा रहें हैं. जो सीधे-सीधे आक्रमणकारियों के साथ युद्ध और उसमें मिली जीत को दर्शाती हो. भारत ऐसा देश हैं जहाँ अकबर पर फ़िल्में पहले बनी, जिसमें उसके जीवन को इतना सादा और अच्छा दिखाया गया और आज तक महाराणा प्रताप जिन्होंने उसके साथ संघर्ष किया युद्ध किया उनपर कोई फिल्म नहीं बनी.
 

गाजी मियाँ को मारने वाले राजा सुहेलदेव की बायोपिक को अक्षय ने ठुकराया

क्या आप जानते हैं बॉलीवुड में राजा सुहेलदेव पर एक बायोपिक बनाने को लेकर प्रयास किया जा रहा हैं. इतिहास में दर्ज़ है की राजा सुहेलदेव ने ही गाजी मियाँ को युद्ध में हराकर मार दिया था. इसीलिए डायरेक्टर इस फिल्म में राजा सुहेलदेव का किरदार निभाने के लिए अक्षय कुमार को लेना चाहते थे, लेकिन उन्होंने यह फिल्म करने से इंकार कर दिया. गाजी मियाँ को मारने वाले राजा सुहेलदेव की बायोपिक को अक्षय ने ठुकराया उसके बाद डायरेक्टर ने अजय देवगन से भी संपर्क किया लेकिन उन्होंने भी इस फिल्म को करने से साफ़ इंकार कर दिया. अगर आपको नहीं पता की गाज़ी मियाँ कौन था तो आपको बता दें 11वीं शताब्दी में बहराइच में ग़ज़नवी सेनापति सैयद सालार मसूद ग़ाज़ी को ही लोग गाज़ी मियाँ कहा करते थे. फिर एक बार युद्ध के दौरान गाज़ी मियाँ का सामना राजा सुहेलदेव के साथ हुआ और राजा सुहेलदेव ने गाज़ी मियाँ को युद्ध में हराते हुए उसे मौत के घाट उतार दिया. बताया जा रहा है की, इस पर अमिश त्रिपाठी ने एक किताब लिखी हुई है, जिसपर आधारित फिल्म के डायरेक्टर अश्विन वर्डे इसका निर्माण करना चाहते हैं. अश्विन वर्डे ने कहा की अक्षय कुमार को फिल्म की स्क्रिप्ट पसंद नहीं आई, उन्होंने इसकी स्क्रिप्ट में सुधार करने की बात की और उनके पास फिलहाल डेट्स न होने की भी बात की. फिल्म के डायरेक्टर का कहना है की, हम इस फिल्म की शूटिंग को अगले साल यानी 2021 में शुरू करना चाहते हैं. इसी के साथ फिल्म के मुख्य किरदार यानी अभिनेता को कम से कम 70 दिन हमें देने होंगे और अक्षय कुमार का कहना है की उनके पास अगले 2 साल के लिए बिलकुल भी समय नहीं हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो फिल्म के डायरेक्टर जल्द ही किसी दूसरे स्टार को फिल्म में काम करने के लिए मना सकते हैं. गाजी मियाँ को मारने वाले राजा सुहेलदेव की बायोपिक को अक्षय ने ठुकराया लेकिन सवाल यह है की आखिर ऐसी क्या वजह है की बॉलीवुड के दिगज स्टार ऐसी फिल्म को ठुकरा रहें हैं. जो सीधे-सीधे आक्रमणकारियों के साथ युद्ध और उसमें मिली जीत को दर्शाती हो. भारत ऐसा देश हैं जहाँ अकबर पर फ़िल्में पहले बनी, जिसमें उसके जीवन को इतना सादा और अच्छा दिखाया गया और आज तक महाराणा प्रताप जिन्होंने उसके साथ संघर्ष किया युद्ध किया उनपर कोई फिल्म नहीं बनी.