मुमताज के भाई ने की थी हेमा मालिनी के साथ बड़े पर्दे पर सख्ती, अवॉर्ड फंक्शन के दौरान ही चली गई थी जान

Mumtaz's brother did strictness with Hema Malini: हेमा मालिनी (Hema Mailini) की आईकॉनिक फिल्म सीता-गीता (Sita-Gita) को शायद ही कोई भूला होगा. इस फिल्म में हेमा के साथ धर्मेंद्र (Dharmendra) और संजीव कुमार (Sanjeev Kumar) भी थे. फिल्म में हेमा का डबल रोल था और इस फिल्म में मुमताज के भाई ने हेमा के साथ ऑनस्क्रीन खूब सख्ती की थी. तो आप जानते हैं, ये एक्टर कौन था और कैसे अवार्ड फंक्शन के दौरान मौत हो गई थी. बता दें कि, हेमा मालिनी के साथ फिल्म सीता-गीता में विलेन का किरदार निभाने वाले रुपेश कुमार (Rupesh Kumar) थे. रुपेश बॉलीवुड के नामी विलेन में शुमार थे लेकिन, 49 साल की उम्र में ही उनकी मौत हो गई थी. गौरतलब है कि, दर्जनों फिल्मों में विलेन का शानदार किरदार निभाने वाले एक्टर रूपेश कुमार अभिनेत्री मुमताज के चचेरे भाई थे. 16 जनवरी 1946 को पैदा हुए रूपेश कुमार ने साल 1965 में फिल्म रुस्तम ए हिंद से सिनेमा मैं अपना पहला कदम रखा. ध्यान देने वाली बात यह है कि रूपेश कुमार को रमेश सिप्पी की फिल्म सीता और गीता में मुख्य विलेन का रोल दिया था और इस फिल्म से उन्हें अच्छी खासी पहचान मिली थी. इस फिल्म में सख्त विलेन बने रुपेश ने हेमा पर फिल्म में खूब सख्ती की थी. बेल्ट से पिटाई करते हुए उन्हें देखकर जाने कितने लोग उन्हें क्रूर समझे होंगे, लेकिन उनकी ये उनकी एक्टिंग का जलवा था. फिल्म में वह हेमा मालिनी, धर्मेंद्र और संजीव कुमार के साथ नजर आए. बता दें, रूपेश का असली नाम अब्बास फराशाही था. गौरतलब है कि, तीन दशक तक सिनेमा में सक्रिय रहे रूपेश ने 70 से अधिक फिल्मों में काम किया था। टीवी सीरियल बहादुर शाह जफर में वह एहसान उल्ला खां के रोल में भी नजर आए. 29 जनवरी 1995 को एक अवॉर्ड समारोह में रूपेश कुमार ने शिरकत की थी और उसी दौरान उन्हें हॉट अटैक आया. अस्पताल ले जाते समय ही उनकी मौत हो गई थी। उस समय रूपेश केवल 49 साल के थे.
 

मुमताज के भाई ने की थी हेमा मालिनी के साथ बड़े पर्दे पर सख्ती, अवॉर्ड फंक्शन के दौरान ही चली गई थी जान

Mumtaz's brother did strictness with Hema Malini: हेमा मालिनी ( Hema Mailini) की आईकॉनिक फिल्म सीता-गीता ( Sita-Gita) को शायद ही कोई भूला होगा. इस फिल्म में हेमा के साथ धर्मेंद्र ( Dharmendra) और संजीव कुमार ( Sanjeev Kumar) भी थे. फिल्म में हेमा का डबल रोल था और इस फिल्म में मुमताज के भाई ने हेमा के साथ ऑनस्क्रीन खूब सख्ती की थी. तो आप जानते हैं, ये एक्टर कौन था और कैसे अवार्ड फंक्शन के दौरान मौत हो गई थी. बता दें कि, हेमा मालिनी के साथ फिल्म सीता-गीता में विलेन का किरदार निभाने वाले रुपेश कुमार ( Rupesh Kumar) थे. रुपेश बॉलीवुड के नामी विलेन में शुमार थे लेकिन, 49 साल की उम्र में ही उनकी मौत हो गई थी. गौरतलब है कि, दर्जनों फ‍िल्‍मों में विलेन का शानदार किरदार न‍िभाने वाले एक्‍टर रूपेश कुमार अभिनेत्री मुमताज के चचेरे भाई थे. 16 जनवरी 1946 को पैदा हुए रूपेश कुमार ने साल 1965 में फ‍िल्‍म रुस्‍तम ए हिंद से सिनेमा मैं अपना पहला कदम रखा. ध्यान देने वाली बात यह है कि रूपेश कुमार को रमेश सिप्‍पी की फ‍िल्‍म सीता और गीता में मुख्‍य विलेन का रोल दिया था और इस फिल्म से उन्हें अच्छी खासी पहचान मिली थी. इस फिल्म में सख्त विलेन बने रुपेश ने हेमा पर फिल्म में खूब सख्ती की थी. बेल्ट से पिटाई करते हुए उन्हें देखकर जाने कितने लोग उन्हें क्रूर समझे होंगे, लेकिन उनकी ये उनकी एक्टिंग का जलवा था. फ‍िल्‍म में वह हेमा मालिनी, धर्मेंद्र और संजीव कुमार के साथ नजर आए. बता दें, रूपेश का असली नाम अब्‍बास फराशाही था. गौरतलब है कि, तीन दशक तक सिनेमा में सक्रिय रहे रूपेश ने 70 से अधिक फ‍िल्‍मों में काम किया था। टीवी सीरियल बहादुर शाह जफर में वह एहसान उल्‍ला खां के रोल में भी नजर आए. 29 जनवरी 1995 को एक अवॉर्ड समारोह में रूपेश कुमार ने शिरकत की थी और उसी दौरान उन्‍हें हॉट अटैक आया. अस्पताल ले जाते समय ही उनकी मौत हो गई थी। उस समय रूपेश केवल 49 साल के थे.