मंदिरों की ‘मूर्तियों’ को बताया नंगी, दिया उदाहरण, Poonam Pandey ने बताया पोर्नोग्राफी और न्यूडिटी में फर्क

Poonam pandey explaining difference between pornography and nudity in latest video on social media : पोर्नोग्राफी कांड में फसी बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के बिजनिसमैन पति राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद से ही बॉलीवुड की दो मॉडल्स लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं. पहले नंबर पर है पूनम पांडे और दूसरी हैं शर्लिन चोपड़ा. ये दोनों मॉडल्स पहले ही राज कुंद्रा मामले पर अपना-अपना बयान दे चुकी हैं. अब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर पूनम पांडे का एक नया वीडियो वायरल किया जा रहा है जिसमें वह न्यूडिटी पर अपने विचार अपने फैंस को बता रही हैं. पोर्नोग्राफी और न्यूडिटी पर दिया बयान बता दें कि राज कुंद्रा केस में उनके समर्थक लगातार ये कहते आये हैं कि जो कुछ भी कुंद्रा कर रहे थे वो इरोटिका (न्यूडिटी) की स्लैब में आता है न कि पोर्नोग्राफी की स्लैब में. हाल में पूनम पांडे का जो वीडियो शेयर किया जा रहा है उसमें वह भी इसी बारे में बात करती दिख रही हैं. पूनम ने मंदिरों और आर्ट का उदाहरण देते हुए ये बताती नजर आ रही हैं कि किस तरह न्यूडिटी एक तरह का आर्ट है. पूनम ने बताया क्या है दोनों में फर्क अपने वीडियो में पूनम कहती है, 'इन दिनों मुझे इस प्रकार के काफी मैसेजस आ रहे हैं जिनमें मुझसे कहा जा रहा है कि मैं पोर्नोग्राफी और इरोटिका को के बारे में स्पष्ट करूं. तो में कहना चाहती हु कि मैं उतनी अधिक योग्य नहीं हूं कि इन्हें अपने स्तर पर स्पष्ट कर सकूं लेकिन मैं न्यूडिटी को अच्छी तरह से समझती हूं क्योंकि मैंने इसे पहले किया हुआ है. मैंने काफी न्यूड फोटोशूट कराये हैं. न्यूडिटी के बारे में, में बस इतना कह सकती हु वो ये है कि अगर आप आज बुक सेलर पर जाते हैं तो आप वह से कामसूत्र की कोई भी किताब आसानी से खरीद सकते हैं.' मंदिरों और कलाकारों का दिया उदाहरण आगे पूनम पांडे कहती है, '70-80 के दशक में MF हुसैन भी न्यूड पेंटिंग्स किया करते थे. ये आर्ट का ही एक स्वरूप था. हमारे पास मंदिर और काफी ऐसे खूबसूरत जगह हैं जहां पर आप नंगी मूर्तियां को देख सकते हैं. ये एक तरह की खूबसूरत कला है. न्यूडिटी के बारे में, में यही सोचती हूं. यहां तक कि ये आमतौर पर हमारी फिल्मों में भी दिखाया जाता है. इसे एक आर्ट के तौर पर परोसा जाता है. तो मैं भी इसके बारे में यही सोचती हूं.' लगातार Indiavirals खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
 

मंदिरों की ‘मूर्तियों’ को बताया नंगी, दिया उदाहरण, Poonam Pandey ने बताया पोर्नोग्राफी और न्यूडिटी में फर्क

Poonam pandey explaining difference between pornography and nudity in latest video on social media : पोर्नोग्राफी कांड में फसी बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के बिजनिसमैन पति राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के बाद से ही बॉलीवुड की दो मॉडल्स लगातार सुर्खियों में बनी हुई हैं. पहले नंबर पर है पूनम पांडे और दूसरी हैं शर्लिन चोपड़ा. ये दोनों मॉडल्स पहले ही राज कुंद्रा मामले पर अपना-अपना बयान दे चुकी हैं. अब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर पूनम पांडे का एक नया वीडियो वायरल किया जा रहा है जिसमें वह न्यूडिटी पर अपने विचार अपने फैंस को बता रही हैं. पोर्नोग्राफी और न्यूडिटी पर दिया बयान बता दें कि राज कुंद्रा केस में उनके समर्थक लगातार ये कहते आये हैं कि जो कुछ भी कुंद्रा कर रहे थे वो इरोटिका (न्यूडिटी) की स्लैब में आता है न कि पोर्नोग्राफी की स्लैब में. हाल में पूनम पांडे का जो वीडियो शेयर किया जा रहा है उसमें वह भी इसी बारे में बात करती दिख रही हैं. पूनम ने मंदिरों और आर्ट का उदाहरण देते हुए ये बताती नजर आ रही हैं कि किस तरह न्यूडिटी एक तरह का आर्ट है. मंदिरों की ‘मूर्तियों’ को बताया नंगी, दिया उदाहरण, Poonam Pandey ने बताया पोर्नोग्राफी और न्यूडिटी में फर्क पूनम ने बताया क्या है दोनों में फर्क अपने वीडियो में पूनम कहती है, 'इन दिनों मुझे इस प्रकार के काफी मैसेजस आ रहे हैं जिनमें मुझसे कहा जा रहा है कि मैं पोर्नोग्राफी और इरोटिका को के बारे में स्पष्ट करूं. तो में कहना चाहती हु कि मैं उतनी अधिक योग्य नहीं हूं कि इन्हें अपने स्तर पर स्पष्ट कर सकूं लेकिन मैं न्यूडिटी को अच्छी तरह से समझती हूं क्योंकि मैंने इसे पहले किया हुआ है. मैंने काफी न्यूड फोटोशूट कराये हैं. न्यूडिटी के बारे में, में बस इतना कह सकती हु वो ये है कि अगर आप आज बुक सेलर पर जाते हैं तो आप वह से कामसूत्र की कोई भी किताब आसानी से खरीद सकते हैं.' मंदिरों की ‘मूर्तियों’ को बताया नंगी, दिया उदाहरण, Poonam Pandey ने बताया पोर्नोग्राफी और न्यूडिटी में फर्क मंदिरों और कलाकारों का दिया उदाहरण आगे पूनम पांडे कहती है, '70-80 के दशक में MF हुसैन भी न्यूड पेंटिंग्स किया करते थे. ये आर्ट का ही एक स्वरूप था. हमारे पास मंदिर और काफी ऐसे खूबसूरत जगह हैं जहां पर आप नंगी मूर्तियां को देख सकते हैं. ये एक तरह की खूबसूरत कला है. न्यूडिटी के बारे में, में यही सोचती हूं. यहां तक कि ये आमतौर पर हमारी फिल्मों में भी दिखाया जाता है. इसे एक आर्ट के तौर पर परोसा जाता है. तो मैं भी इसके बारे में यही सोचती हूं.'   लगातार Indiavirals खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें