जब कर्ज में डूबे थे राज कपूर और राजेश खन्ना की फीस देने के लिए भी पैसे नहीं थे, तब राज कपूर ने ऋषि कपूर पर खेला था जुआ

When Raj Kapoor and Rajesh Khanna were in debt: बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार थे और सभी चाहते थे कि उनके साथ वक्त राज कपूर (Raj Kapoor) की राजेश खन्ना के साथ फिल्म करने के लिए लेकिन होने के कारण उनका नहीं हो पा रहा था समय मेरा नाम जोकर के फ्लॉप होने के कारण राष्ट्रपुत्र बहुत कर्ज में डूब गए थे लेकिन कुछ कर सेवा फिल्म बॉबी बना कर उभर आए थे. ऋषि कपूर, डिंपल कपाड़िया की डेब्यू फिल्म के बारे में चली है हमें किस्सा सुनाते हैं. गौरतलब है कि जब राज कपूर जब फिल्म बॉबी बनाने का प्लान कर रहे थे तब वह राजेश खन्ना को ही अपना हीरो बनाना चाहते थे, लेकिन राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) ने इतनी फीस बता दी थी कि कर्ज में डूबे होने के कारण वह राजेश खन्ना की फीस अफोर्ड नहीं कर पा रहे थे. उसी समय राज कपूर के दिमाग में एक आइडिया आया और उन्होंने अपने बेटे ऋषि कपूर को इस फिल्म का हीरो बना दिया राज कपूर के मास्टर स्ट्रोक से बिना फीस दिए ही घर से ही उन्हें वापी के लिए एक हीरो मिल गया और एक्ट्रेस डिंपल कपाड़िया पहले से ही फाइनल थी. बता देऋषि कपूर अनसेंसर्ड में राज कपूर के बेटे ऋषि कपूर ने खुलकर बताया था कि बॉबी उन्हें लांच करने के लिए नहीं बनाई गई थी. अगर उन्हें लांच करने के लिए या फिर बनाई गई होती फिल्म का नाम फीमेल कैरेक्टर के नाम पर बॉबी नहीं रखा जाता. साथ ही साथ ऋषि कपूर ने यह भी बताया था कि बॉबी उनके पिता राज कपूर की एक जुए का दाऊ थी जो अगर हिट होती तो बल्ले बल्ले और अगर फ्लॉप होती तो मुश्किलें और बढ़ जाती. ऋषि कपूर ने अपने किताब में एक और खुलासा किया था कि इस फिल्म से गानों की लिप्सिंग का भी ट्रेंड चेज हुआ था. वह गाने सेट पर सूट के समय चिल्ला चिल्ला कर गाते थे और यही कारण था कि लोगों को लगा कि सच में हीरो गाना गा रहा है.
 

जब कर्ज में डूबे थे राज कपूर और राजेश खन्ना की फीस देने के लिए भी पैसे नहीं थे, तब राज कपूर ने ऋषि कपूर पर खेला था जुआ

When Raj Kapoor and Rajesh Khanna were in debt: बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार थे और सभी चाहते थे कि उनके साथ वक्त राज कपूर ( Raj Kapoor) की राजेश खन्ना के साथ फिल्म करने के लिए लेकिन होने के कारण उनका नहीं हो पा रहा था समय मेरा नाम जोकर के फ्लॉप होने के कारण राष्ट्रपुत्र बहुत कर्ज में डूब गए थे लेकिन कुछ कर सेवा फिल्म बॉबी बना कर उभर आए थे. ऋषि कपूर, डिंपल कपाड़िया की डेब्यू फिल्म के बारे में चली है हमें किस्सा सुनाते हैं. गौरतलब है कि जब राज कपूर जब फिल्म बॉबी बनाने का प्लान कर रहे थे तब वह राजेश खन्ना को ही अपना हीरो बनाना चाहते थे, लेकिन राजेश खन्ना (Rajesh Khanna) ने इतनी फीस बता दी थी कि कर्ज में डूबे होने के कारण वह राजेश खन्ना की फीस अफोर्ड नहीं कर पा रहे थे. उसी समय राज कपूर के दिमाग में एक आइडिया आया और उन्होंने अपने बेटे ऋषि कपूर को इस फिल्म का हीरो बना दिया राज कपूर के मास्टर स्ट्रोक से बिना फीस दिए ही घर से ही उन्हें वापी के लिए एक हीरो मिल गया और एक्ट्रेस डिंपल कपाड़िया पहले से ही फाइनल थी. बता देऋषि कपूर अनसेंसर्ड में राज कपूर के बेटे ऋषि कपूर ने खुलकर बताया था कि बॉबी उन्हें लांच करने के लिए नहीं बनाई गई थी. अगर उन्हें लांच करने के लिए या फिर बनाई गई होती फिल्म का नाम फीमेल कैरेक्टर के नाम पर बॉबी नहीं रखा जाता. साथ ही साथ ऋषि कपूर ने यह भी बताया था कि बॉबी उनके पिता राज कपूर की एक जुए का दाऊ थी जो अगर हिट होती तो बल्ले बल्ले और अगर फ्लॉप होती तो मुश्किलें और बढ़ जाती. ऋषि कपूर ने अपने किताब में एक और खुलासा किया था कि इस फिल्म से गानों की लिप्सिंग का भी ट्रेंड चेज हुआ था. वह गाने सेट पर सूट के समय चिल्ला चिल्ला कर गाते थे और यही कारण था कि लोगों को लगा कि सच में हीरो गाना गा रहा है.