कौन है डिंपल चीमा, कियारा आडवाणी ने उनसे मिलकर क्या कहा…

एक और जहां डायरेक्टर विष्णुवर्धन की फिल्म 'शेरशाह' (Shershaah) मैं कैप्टन बत्रा की बहादुरी और साहस का जश्न मनाती है, जिन्होंने 1999 के कारगिल युद्ध के दौरान अपनी अंतिम सांस तक पाकिस्तान के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी. वही दूसरी ओर फिल्म में कियारा आडवाणी (Kiara Advani ) कैप्टन बत्रा की मंगेतर डिंपल चीमा की भूमिका में हैं. जिन्होंने कारगिल युद्ध में विक्रम के शहीद होने के बाद कभी शादी न करने का फैसला किया था. डिंपल चीमा कौन है? मिस डिंपल चीमा (Dimple Cheema) वह शक्स हैं, जिनको कैप्टन विक्रम बत्रा की गर्लफ्रेंड के नाम से जाना जाता है. ये अपनी प्रेम कहानी के लिए मशहूर हैं. कैप्टन विक्रम बत्रा (Bikram Batra) सन्न 1999 के कारगिल युद्ध में शहीद हो गए थे, जिसके बाद से डिंपल उनकी विधवा बन कर रह रही हैं. डिंपल और विक्रम की शादी नहीं हुई थी, फिर भी दोनों का रिश्ता इतना गहरा था कि विक्रम के शहीद होने के बाद डिंपल विक्रम की विधवा पत्नी बन कर रह रही हैं. डिंपल चीमा की पढ़ाई- मिस डिंपल चीमा चंडीगढ़ के कॉलेज से (पंजाब विश्वविद्यालय में) बीए की पढ़ाई कर रही थी, तब उनकी मुलाकात विक्रम बत्रा से हुई थी. उस समय बिक्रम भी बीए अंग्रेजी मास्टर करने उस विश्वविद्यालय में पहुंचे थे, लेकिन बीच में ही दोनों ने अपनी पढ़ाई छोड़ दी थी. कियारा आडवाणी ने अपने एक इंटरव्यू में कहा, 'मेरे लिए डिंपल एक गुमनाम नायिका हैं, जिन्होंने अपने प्यार के लिए लड़ाई लड़ी और अपनी जिंदगी में आने वाली हर चुनौती का पूरी ताकत के साथ सामना किया.' कियारा ने अपने इंटरव्यू में आगे कहा कि, 'डिंपल चीमा के किरदार ने मुझे बिना शर्त प्यार में यकीन करना सिखाया. ध्यान देने वाली बात यह कि फिल्म 'शेरशाह' की शूटिंग शुरू करने से पहले कियारा ने डिंपल से मुलाकात की और अपने किरदार में ढलने की कोशिश की'. कियारा ने कहा, 'जब मैं उन्हें सुन रही थी. तो मुझे ऐसा अहसास हुआ जैसे मैं उन्हें पहले से जानती थी. मुझे लगा कि मैं फिल्म के माध्यम से उनकी लाइफ की जर्नी का हिस्सा हूं.' कियारा ने बताया कि डायरेक्टर विष्णुवर्धन ने उन्हें डिंपल चीमा की नकल न करने की सलाह दी थी. उन्होंने आगे कहा, 'आप किसी किरदार की नकल करने की कोशिश करके उसके साथ न्याय नहीं कर सकते, लेकिन अगर आप कहानी से इमोशनली कनेक्ट कर पाते हैं तो आपको सही दिशा मिल जाती है. कियारा ने कहा कि 'शेरशाह' जैसी फिल्म का हिस्सा बनना उनके लिए 'जीवन भर का अवसर था'. कियारा ने फिल्म की शूटिंग से एक दिन पहले कैप्टन बत्रा के परिवार से मुलाकात को याद किया और कहा, 'पालमपुर में शूटिंग शुरू करने के एक दिन पहले हम उनके घर गए, उनके परिवार से मिले, इसने हमें एक इमोशनली फिल्म से जोड़ा. 'शेरशाह' हमारे लिए एक फिल्म से बढ़कर है, यह हर सैनिक के लिए एक श्रधांजलि है'.
 

कौन है डिंपल चीमा, कियारा आडवाणी ने उनसे मिलकर क्या कहा…

एक और जहां डायरेक्टर विष्णुवर्धन की फिल्म 'शेरशाह' ( Shershaah) मैं कैप्टन बत्रा की बहादुरी और साहस का जश्न मनाती है, जिन्होंने 1999 के कारगिल युद्ध के दौरान अपनी अंतिम सांस तक पाकिस्तान के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी. वही दूसरी ओर फिल्म में कियारा आडवाणी ( Kiara Advani ) कैप्टन बत्रा की मंगेतर डिंपल चीमा की भूमिका में हैं. जिन्होंने कारगिल युद्ध में विक्रम के शहीद होने के बाद कभी शादी न करने का फैसला किया था.

डिंपल चीमा कौन है?

मिस डिंपल चीमा ( Dimple Cheema) वह शक्स हैं, जिनको कैप्टन विक्रम बत्रा की गर्लफ्रेंड के नाम से जाना जाता है. ये अपनी प्रेम कहानी के लिए मशहूर हैं. कैप्टन विक्रम बत्रा ( Bikram Batra) सन्न 1999 के कारगिल युद्ध में शहीद हो गए थे, जिसके बाद से डिंपल उनकी विधवा बन कर रह रही हैं. डिंपल और विक्रम की शादी नहीं हुई थी, फिर भी दोनों का रिश्ता इतना गहरा था कि विक्रम के शहीद होने के बाद डिंपल विक्रम की विधवा पत्नी बन कर रह रही हैं.

डिंपल चीमा की पढ़ाई-

मिस डिंपल चीमा चंडीगढ़ के कॉलेज से (पंजाब विश्वविद्यालय में)  बीए की पढ़ाई कर रही थी, तब उनकी मुलाकात विक्रम बत्रा से हुई थी. उस समय बिक्रम भी बीए अंग्रेजी मास्टर करने उस विश्वविद्यालय में पहुंचे थे, लेकिन बीच में ही दोनों ने अपनी पढ़ाई छोड़ दी थी. कियारा आडवाणी ने अपने एक इंटरव्यू में कहा, 'मेरे लिए डिंपल एक गुमनाम नायिका हैं, जिन्होंने अपने प्यार के लिए लड़ाई लड़ी और अपनी जिंदगी में आने वाली हर चुनौती का पूरी ताकत के साथ सामना किया.' कियारा ने अपने इंटरव्यू में आगे कहा कि, 'डिंपल चीमा के किरदार ने मुझे बिना शर्त प्यार में यकीन करना सिखाया. ध्यान देने वाली बात यह कि फिल्म 'शेरशाह' की शूटिंग शुरू करने से पहले कियारा ने डिंपल से मुलाकात की और अपने किरदार में ढलने की कोशिश की'. कियारा ने कहा, 'जब मैं उन्हें सुन रही थी. तो मुझे ऐसा अहसास हुआ जैसे मैं उन्हें पहले से जानती थी. मुझे लगा कि मैं फिल्म के माध्यम से उनकी लाइफ की जर्नी का हिस्सा हूं.' कियारा ने बताया कि डायरेक्टर विष्णुवर्धन ने उन्हें डिंपल चीमा की नकल न करने की सलाह दी थी. उन्होंने आगे कहा, 'आप किसी किरदार की नकल करने की कोशिश करके उसके साथ न्याय नहीं कर सकते, लेकिन अगर आप कहानी से इमोशनली कनेक्ट कर पाते हैं तो आपको सही दिशा मिल जाती है. कियारा ने कहा कि 'शेरशाह' जैसी फिल्म का हिस्सा बनना उनके लिए 'जीवन भर का अवसर था'. कियारा ने फिल्म की शूटिंग से एक दिन पहले कैप्टन बत्रा के परिवार से मुलाकात को याद किया और कहा, 'पालमपुर में शूटिंग शुरू करने के एक दिन पहले हम उनके घर गए, उनके परिवार से मिले, इसने हमें एक इमोशनली फिल्म से जोड़ा. 'शेरशाह' हमारे लिए एक फिल्म से बढ़कर है, यह हर सैनिक के लिए एक श्रधांजलि है'.