काले धन से जुड़े झूठ जिनका टूटना है बहुत जरूरी !

Black money myths : Demonetization की पहली सालगिराह 8 नवंबर 2017 पर विपक्ष कांग्रेस ने जहां विरोध प्रदर्शन किया वहीं BJP Anti black money day मना रही थी. 8 नवंबर 2016 को पहली बार काले धन के खिलाफ एक बहुत बड़ी पहल की गई थी, लेकिन हम लोग जिस काले धन को लेकर बातें कर रहे हैं आखिर वो चीज़ क्या है ? काला धन आखिर हैं क्या ? सीधा पर कहे तो काला धन वो धन है जिसपर Tax नहीं सरकार से लगाया जा सकता. क्योंकि, ये गैरकानूनी (illegal) गतिविधियों या गलत धंधो से कमाया जाता है और साफ़ तौर पर इसे Tax statement में नहीं बताया जा सकता है. कुछ सही कामो से भी कमाया लिया गया धन काले धन में बदल ही जाता है जब उससे कोई illegal काम किया जाता हैं. या उसे बिना टैक्स दिए ही आगे पैसा कमाने के लिए लगा दिया जाए. जैसे सरकारी डॉक्टर प्राइवेट practice करें, सरकारी टीचर्स tutions दें या वकील लिखित फीस से ज्यादा पैसे ले और उसका ब्योरा Tax में ना दे. कुल कितना काला धन मौजूद है इसका तो शायद अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता. 2012 की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत के 6 लाख करोड़ रुपए काले धन के रूप में विदेशों में हैं. अब ये 2017 चल रहा है तो खुद ही सोच लीजिए कितना धन हो सकता है. बहुत से झूठ काले धन के बारे फैले हुए हैं जिनके बारे में आपको सच जान लेना चाहिए. (Black money myths in India) 1. विदेश बैंक अकाउंट का मतलब काला धन छुपा रखा है. यकीन मानिए ये मैंने बहुत लोगों के मुंह से सुना है. आस-पास का कोई इंसान विदेश में पढ़ने जाता है तो मोहल्ले की आंटियां भी ये कहने में चूकती नहीं हैं. लेकिन अगर किसी का विदेश में बैंक अकाउंट है इसका मतलब ये नहीं कि उसके पास काला धन है. जो भी भारतीय विदेश जाता है पढ़ने या काम करने उसे वहां का बैंक में अकाउंट खुलवाना ही पड़ता है. 2004 में RBI ने विदेशों में बैंक अकाउंट खोलने वाले भारतीयों के लिए नियम में बदलाव किया था. ना ही केवल भारतीय विदेशों में अकाउंट खोल सकते हैं बल्कि $1,25,000 (81 लाख रुपए) तक की लिमिट भी है. मतलब ये विदेश में पैसा रखना गैरकानूनी नहीं है. 2. काला धन सफेद करने में परेशानी होती है. ये तो बिलकुल ही खारीज करने वाली बात है. काले धन को कुछ तरीकों से काफी आसानी से सफेद में बदला जा सकता है. अगर आप किसी दुकान से 5,000 का सामान खरीदने की रसीद लेते हो. थोड़ा कमीशन उस दुकानवाले को देते हो और असल में सामान नहीं नहीं लेते हो. अब आप उस रसीद को अपने Office में लगा देते हो और उसके पैसे ले लेते हो. ऐसे में आपके पास से पैसे नहीं गए और दूसरी जगह पैसे मिल भी गए. मेरे पास उस पैसे का लेखा-जोखा यानि रसीद भी है. दूसरा उदहारण ये की माना अगर आपने कोई गाड़ी बेची और उसकी कीमत 1 लाख लगाई, लेकिन खरीदने वाले को बिल 60 हजार का बना कर दिया. ऐसे में बचे हुए 40 हजार आपका काला धन होगा और जिसने गाड़ी खरीदी है उसे भी कम टैक्स देना होगा. तो वो एक टैक्स चोर होगा. 3. अधिकतर काला धन Swiss Account में है. Switzerland एक Tax Heaven Country है और उसमें कई लोगों के अकाउंट भी हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि सारा काला धन Swiss Account में है. Swiss Bank पैसे पर interest बहुत कम देते हैं. 1-2% लगभग. ऐसे में जिन लोगों का ये पैसा है वो इसे transfer करते रहते हैं. Black money myths in India- @indiavirals.com Property वगैरा में इन्वेस्ट कर देते हैं. ये भी हो सकता है कि इसमें से अधिकतर पैसा भारत में वापस आ जाए और वो सफेद धन में बदल जाए. इसलिए सारा पैसा Swiss account में नहीं रहता. 4. Paradise papers में काले धन का ब्योरा है. Paradise papers जो 5 नवंबर को लीक किए गए हैं उसमें ये बताया गया है कि 714 भारतीयों के इसमें नाम हैं. और इसे काले धन से जोड़कर देखा जा रहा है. इसे सीधे तौर पर काला धन नहीं कहा जा सकता. इसे बस investment कहा जा सकता है. कारण ये है कि official तौर पर इसे विदेशों में investment कहा जाएगा. क्योंकि विदेशों में अपने नाम से कंपनी बनाना गैरकानूनी नहीं है Black money myths in India- @indiavirals.com हां, ये नैतिकता के आधार पर गलत कहा ही जायेगा कि अपने देश को छोड़कर Tax बचाने के लिए दूसरे देश में कंपनी खोल रखी हैं. लेकिन असल में ये सिर्फ हमारे कानून के लूप होल का तोड़ हैं. लेकिन ऐसा कहना कि 714 नाम सभी काले धन वाले हैं और गलत धंधे कर्कटे हैं ये गलत हैं. Read also : 10 Celebrity जिन्हें बिग बॉस में हिस्सा लेने के लिए मोटी रकम दी जा चुकी हैं। Follow @Indiavirals
 

काले धन से जुड़े झूठ जिनका टूटना है बहुत जरूरी !

Black money myths : Demonetization की पहली सालगिराह 8 नवंबर 2017 पर विपक्ष कांग्रेस ने जहां विरोध प्रदर्शन किया वहीं BJP Anti black money day मना रही थी. 8 नवंबर 2016 को पहली बार काले धन के खिलाफ एक बहुत बड़ी पहल की गई थी, लेकिन हम लोग जिस काले धन को लेकर बातें कर रहे हैं आखिर वो चीज़ क्या है ?

काला धन आखिर हैं क्या ?

सीधा पर कहे तो काला धन वो धन है जिसपर Tax नहीं सरकार से लगाया जा सकता. क्योंकि, ये गैरकानूनी ( illegal) गतिविधियों या गलत धंधो से कमाया जाता है और साफ़ तौर पर इसे Tax statement में नहीं बताया जा सकता है. कुछ सही कामो से भी कमाया लिया गया धन काले धन में बदल ही जाता है जब उससे कोई illegal काम किया जाता हैं. या उसे बिना टैक्स दिए ही आगे पैसा कमाने के लिए लगा दिया जाए. जैसे सरकारी डॉक्टर प्राइवेट practice करें, सरकारी टीचर्स tutions दें या वकील लिखित फीस से ज्यादा पैसे ले और उसका ब्योरा Tax में ना दे. bank2-650_112916060309.jpg कुल कितना काला धन मौजूद है इसका तो शायद अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता. 2012 की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत के 6 लाख करोड़ रुपए काले धन के रूप में विदेशों में हैं. अब ये 2017 चल रहा है तो खुद ही सोच लीजिए कितना धन हो सकता है. बहुत से झूठ काले धन के बारे फैले हुए हैं जिनके बारे में आपको सच जान लेना चाहिए.

(Black money myths in India)

1. विदेश बैंक अकाउंट का मतलब काला धन छुपा रखा है.

यकीन मानिए ये मैंने बहुत लोगों के मुंह से सुना है. आस-पास का कोई इंसान विदेश में पढ़ने जाता है तो मोहल्ले की आंटियां भी ये कहने में चूकती नहीं हैं. लेकिन अगर किसी का विदेश में बैंक अकाउंट है इसका मतलब ये नहीं कि उसके पास काला धन है. काला धन जो भी भारतीय विदेश जाता है पढ़ने या काम करने उसे वहां का बैंक में अकाउंट खुलवाना ही पड़ता है. 2004 में RBI ने विदेशों में बैंक अकाउंट खोलने वाले भारतीयों के लिए नियम में बदलाव किया था. ना ही केवल भारतीय विदेशों में अकाउंट खोल सकते हैं बल्कि $1,25,000 ( 81 लाख रुपए) तक की लिमिट भी है. मतलब ये विदेश में पैसा रखना गैरकानूनी नहीं है.

2. काला धन सफेद करने में परेशानी होती है.

ये तो बिलकुल ही खारीज करने वाली बात है. काले धन को कुछ तरीकों से काफी आसानी से सफेद में बदला जा सकता है. अगर आप किसी दुकान से 5,000 का सामान खरीदने की रसीद लेते हो. थोड़ा कमीशन उस दुकानवाले को देते हो और असल में सामान नहीं नहीं लेते हो. अब आप उस रसीद को अपने Office में लगा देते हो और उसके पैसे ले लेते हो. ऐसे में आपके पास से पैसे नहीं गए और दूसरी जगह पैसे मिल भी गए. मेरे पास उस पैसे का लेखा-जोखा यानि रसीद भी है. दूसरा उदहारण ये की माना अगर आपने कोई गाड़ी बेची और उसकी कीमत 1 लाख लगाई, लेकिन खरीदने वाले को बिल 60 हजार का बना कर दिया. ऐसे में बचे हुए 40 हजार आपका काला धन होगा और जिसने गाड़ी खरीदी है उसे भी कम टैक्स देना होगा. तो वो एक टैक्स चोर होगा.

3. अधिकतर काला धन Swiss Account में है.

Switzerland एक Tax Heaven Country है और उसमें कई लोगों के अकाउंट भी हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि सारा काला धन Swiss Account में है. Swiss Bank पैसे पर interest बहुत कम देते हैं. 1-2% लगभग. ऐसे में जिन लोगों का ये पैसा है वो इसे transfer करते रहते हैं.

Black money myths in India- @indiavirals.com

Property वगैरा में इन्वेस्ट कर देते हैं. ये भी हो सकता है कि इसमें से अधिकतर पैसा भारत में वापस आ जाए और वो सफेद धन में बदल जाए. इसलिए सारा पैसा Swiss account में नहीं रहता.

4. Paradise papers में काले धन का ब्योरा है.

Paradise papers जो 5 नवंबर को लीक किए गए हैं उसमें ये बताया गया है कि 714 भारतीयों के इसमें नाम हैं. और इसे काले धन से जोड़कर देखा जा रहा है. इसे सीधे तौर पर काला धन नहीं कहा जा सकता. इसे बस investment कहा जा सकता है. कारण ये है कि official तौर पर इसे विदेशों में investment कहा जाएगा. क्योंकि विदेशों में अपने नाम से कंपनी बनाना गैरकानूनी नहीं है

Black money myths in India- @indiavirals.com

हां, ये नैतिकता के आधार पर गलत कहा ही जायेगा कि अपने देश को छोड़कर Tax बचाने के लिए दूसरे देश में कंपनी खोल रखी हैं. लेकिन असल में ये सिर्फ हमारे कानून के लूप होल का तोड़ हैं. लेकिन ऐसा कहना कि 714 नाम सभी काले धन वाले हैं और गलत धंधे कर्कटे हैं ये गलत हैं. Read also : 10 Celebrity जिन्हें बिग बॉस में हिस्सा लेने के लिए मोटी रकम दी जा चुकी हैं।