नेपाल बदलना चाहता है 500-1000 के पुराने नोट, भारत ने रख दी हैं ये शर्तें..

Nepal wants change 500-1000 notes: भारत में नोटबंदी के बाद पुराने नोटों को बदलने का मामला खत्म हो चुका है। लेकिन पड़ोसी देश नेपाल में ये पुराने नोट ही सबसे बड़ी समस्या बने हुए हैं। नेपाल के पास 500 और 1000 के पुराने हजारों करोड़ों नोट हैं। इन्हें नेपाली सरकार भारत से बदलने का आग्रह कर रही है। नेपाल को उम्मीद है कि मोदी के इस दौरे पर पुराने नोटों को मसला हल हो सकता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, नोट बदलने से पहले भारत की शर्तें और चिंताएं हैं, जिस पर नेपाल को गंभीरता दिखानी होगी। बता दें कि नेपाल की अपनी करेंसी होने के बावजूद भी वहां के लोग भारत की करेंसी में भी लेनदेन करते हैं. Nepal wants change 500-1000 notes क्या है भारत की शर्तें. जानकारी के मुताबिक, भारत दो शर्ताें पर नेपाल के पुराने नोटों की समस्या हल कर सकता है। पहली शर्त है कि नेपाल इस बात की गारंटी दे कि जो भी नोट बदलने आएगा, उसे अपनी पहचान और जानकारी शेयर करनी होगी. दूसरी शर्त है कि नोट बदलने की एक निर्धारित सीमा तय की जाएगी। अगर समय सीमा निकल जाने के बाद भी कोई नोट बदलता है तो उसे अपनी इनकम का खुलासा भी करना होगा। नेपाल सरकार अगर इन दोनों शर्तों को मान जाता है तो भारत उसके यहां मौजूद हजारों-करोड़ों नोटों के संकट को हल कर सकता है. क्या है भारत की चिंता शर्तों से अलावा भारत की कुछ चिंताएं भी हैं। इसमें सबसे पहले है, भारतीयों द्वारा पुराने नोटों को नेपाल में ठिकाने लगाने की कोशिशें। कई भारतीय कारोबारियों ने पड़ोसी देश में काला धन फंसा रखा है। भारत को नोट बदलने के दौरान पूरी सावधानी बरतनी होगी। नहीं तो कारोबारी भी इसका फायदा उठा सकते हैं। RBI के एक आंकड़े के मुताबिक, पिछले महीने नेपाल में करीब 49 लाख रुपए के 500 और 1000 नोट पकड़े गए थे. और पढ़े: 2000 रुपए के नोटों से जुड़ी इस बड़ी खबर ने मचा दी खलबली, मार्केट में भूचाल आ गया.. Follow @Indiavirals ? ------
 

नेपाल बदलना चाहता है 500-1000 के पुराने नोट, भारत ने रख दी हैं ये शर्तें..

Nepal wants change 500-1000 notes: भारत में नोटबंदी के बाद पुराने नोटों को बदलने का मामला खत्म हो चुका है। लेकिन पड़ोसी देश नेपाल में ये पुराने नोट ही सबसे बड़ी समस्या बने हुए हैं। नेपाल के पास 500 और 1000 के पुराने हजारों करोड़ों नोट हैं। इन्हें नेपाली सरकार भारत से बदलने का आग्रह कर रही है। नेपाल को उम्मीद है कि मोदी के इस दौरे पर पुराने नोटों को मसला हल हो सकता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, नोट बदलने से पहले भारत की शर्तें और चिंताएं हैं, जिस पर नेपाल को गंभीरता दिखानी होगी। बता दें कि नेपाल की अपनी करेंसी होने के बावजूद भी वहां के लोग भारत की करेंसी में भी लेनदेन करते हैं. नेपाल बदलना चाहता है 500-1000 के पुराने नोट, भारत ने रख दी हैं ये शर्तें..

Nepal wants change 500-1000 notes

क्या है भारत की शर्तें.

जानकारी के मुताबिक, भारत दो शर्ताें पर नेपाल के पुराने नोटों की समस्या हल कर सकता है। पहली शर्त है कि नेपाल इस बात की गारंटी दे कि जो भी नोट बदलने आएगा, उसे अपनी पहचान और जानकारी शेयर करनी होगी.

दूसरी शर्त है

कि नोट बदलने की एक निर्धारित सीमा तय की जाएगी। अगर समय सीमा निकल जाने के बाद भी कोई नोट बदलता है तो उसे अपनी इनकम का खुलासा भी करना होगा। नेपाल सरकार अगर इन दोनों शर्तों को मान जाता है तो भारत उसके यहां मौजूद हजारों-करोड़ों नोटों के संकट को हल कर सकता है. नेपाल बदलना चाहता है 500-1000 के पुराने नोट, भारत ने रख दी हैं ये शर्तें..

क्या है भारत की चिंता

शर्तों से अलावा भारत की कुछ चिंताएं भी हैं। इसमें सबसे पहले है, भारतीयों द्वारा पुराने नोटों को नेपाल में ठिकाने लगाने की कोशिशें। कई भारतीय कारोबारियों ने पड़ोसी देश में काला धन फंसा रखा है। भारत को नोट बदलने के दौरान पूरी सावधानी बरतनी होगी। नहीं तो कारोबारी भी इसका फायदा उठा सकते हैं। RBI के एक आंकड़े के मुताबिक, पिछले महीने नेपाल में करीब 49 लाख रुपए के 500 और 1000 नोट पकड़े गए थे. और पढ़े: 2000 रुपए के नोटों से जुड़ी इस बड़ी खबर ने मचा दी खलबली, मार्केट में भूचाल आ गया..

------