अपने आपको ताकतवर समझने वाला चीन को भारत ने दिया जबरदस्त झटका …

Strategic Business Authority- 1 Mystery: खुद को बहुत ताकतवर समझने वाले चीन को पिछले कुछ दिनों से लगातार झटके मिल रहे हैं, पहले तो उससे दूसरा सबसे बड़े Stock Market बाज़ार का रुतबा छिन गया, उसकी Economic की गति मंद हो गई और अब America ने NSG पर चीन को एक और बड़ा झटका दिया है. Strategic Business Authority- 1 Mystery- चीन हमेशा से ही NSG में भारत के शामिल करने का विरोध करता आया है, लेकिन अब America ने भारत को सामरिक व्यापार प्राधिकरण-1 (STA-1) का दर्जा देकर चीन की बोलती बंद कर दी है. America के China से बिगड़ते रिशते भारत के लिए अच्छी खबर साबित हो रहा है. सामरिक व्यापार प्राधिकरण-1 (STA-1) का दर्जा पाने के बाद भारत के लिए अब America से अत्याधुनिक हथियारों और उनकी प्रौद्योगिकी हासिल करना आसान हो गया है. साथ ही India को प्रमुख रक्षा साझेदार का दर्जा भी मिल गया है. इस घोषणा के साथ ही America से भारत को Drone विमानों समेत तमाम आधुनिक हथियारों के निर्यात पर से सरकारी नियंत्रण हटा लिया है. America ने भारत को यह दर्जा देकर China के मंसूबों पर पानी फेर दिया है, क्योंकि वह हमेशा से NSG में शामिल होने की भारत की मांग पर रोड़ा अटकाता रहा है, ऐसे में भारत को मिला यह दर्जा उसके मुंह पर जोरदार तमाचे की तरह है. अब भारत को वहीं सारी सुविधाएं मिलेंगी, जो NSG में शामिल किसी देश को मिलती हैं. यह दर्जा पाने वाला भारत अब दुनिया का एकमात्र Atomic संपन्न देश बन गया है. America द्वारा किसी भी देश को सामरिक व्यापार प्राधिकरण-1 (STA-1) का दर्जा तभी दिया जाता है जब वह चार प्रमुख संगठनों- परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी), मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था (MTCR), वासेनार व्यवस्था (डब्ल्यूए) और Australia ग्रुप का सदस्य हो. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने STA-1 का दर्जा पाने की ये शर्त रखी थी. भारत ने NSG को छोड़कर बाकी तीनों संगठनों की सदस्यता पहले ही हासिल कर ली थी, लेकिन चीन की वजह से भारत को NSG की सदस्यता नहीं मिल पा रही थी. इसके बाद ट्रंप प्रशासन ने भारत को अपना प्रमुख रक्षा साझेदार मानते हुए नियमों में ढील दी, जिसके बाद भारत को STA-1 का दर्जा मिल गया. दरअसल, सामरिक व्यापार प्राधिकरण- 1 (STA-1) के तहत अमेरिका से बिना किसी License के अत्याधुनिक और संवेदनशील हथियारों के निर्यात की अनुमति देता है और भारत के लिए यह दर्जा बहुत फायदेमंद साबित होगा. दुनिया में सिर्फ 36 Country ही इस सूची में शामिल हैं और अब India 37वां देश बन गया है. इस List में शामल होने के बाद भारत अब आसानी से America से संवेदनशील हथियार खरीद पाएगा. मोदी के नेतृत्व वाली BJP सरकार के लिए भी ये बड़ी उपलब्धि है क्योंकि नरेंद्र मोदी के PM रहते हुए America से भारत के संबंध बहुत अच्छे हो गए हैं और जिसका फायदा भविष्य में भी होगा. और देखे - Breaking : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिली खुली जान मारने की धमकी, साथ ही में बोला जिस में दम हो तो रोक ले … Follow @Indiavirals
 

अपने आपको ताकतवर समझने वाला चीन को भारत ने दिया जबरदस्त झटका …

Strategic Business Authority- 1 Mystery: खुद को बहुत ताकतवर समझने वाले चीन को पिछले कुछ दिनों से लगातार झटके मिल रहे हैं, पहले तो उससे दूसरा सबसे बड़े Stock Market बाज़ार का रुतबा छिन गया, उसकी Economic की गति मंद हो गई और अब America ने NSG  पर चीन को एक और बड़ा झटका दिया है.

Strategic Business Authority- 1 Mystery-

चीन हमेशा से ही NSG में भारत के शामिल करने का विरोध करता आया है, लेकिन अब America ने भारत को सामरिक व्यापार प्राधिकरण-1 (STA-1) का दर्जा देकर चीन की बोलती बंद कर दी है.

America के China से बिगड़ते रिशते भारत के लिए अच्छी खबर साबित हो रहा है.

अपने आपको ताकतवर समझने वाला चीन को भारत ने दिया जबरदस्त झटका … सामरिक व्यापार प्राधिकरण-1 (STA-1) का दर्जा पाने के बाद भारत के लिए अब America से अत्याधुनिक हथियारों और उनकी प्रौद्योगिकी हासिल करना आसान हो गया है. साथ ही India को प्रमुख रक्षा साझेदार का दर्जा भी मिल गया है. इस घोषणा के साथ ही America से भारत को Drone विमानों समेत तमाम आधुनिक हथियारों के निर्यात पर से सरकारी नियंत्रण हटा लिया है. अपने आपको ताकतवर समझने वाला चीन को भारत ने दिया जबरदस्त झटका … America ने भारत को यह दर्जा देकर China के मंसूबों पर पानी फेर दिया है, क्योंकि वह हमेशा से NSG में शामिल होने की भारत की मांग पर रोड़ा अटकाता रहा है, ऐसे में भारत को मिला यह दर्जा उसके मुंह पर जोरदार तमाचे की तरह है. अब भारत को वहीं सारी सुविधाएं मिलेंगी, जो NSG में शामिल किसी देश को मिलती हैं. यह दर्जा पाने वाला भारत अब दुनिया का एकमात्र Atomic संपन्न देश बन गया है. अपने आपको ताकतवर समझने वाला चीन को भारत ने दिया जबरदस्त झटका … America द्वारा किसी भी देश को सामरिक व्यापार प्राधिकरण-1 (STA-1) का दर्जा तभी दिया जाता है जब वह चार प्रमुख संगठनों- परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी), मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण व्यवस्था (MTCR), वासेनार व्यवस्था (डब्ल्यूए) और Australia ग्रुप का सदस्य हो. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने STA-1 का दर्जा पाने की ये शर्त रखी थी. भारत ने NSG को छोड़कर बाकी तीनों संगठनों की सदस्यता पहले ही हासिल कर ली थी, लेकिन चीन की वजह से भारत को NSG की सदस्यता नहीं मिल पा रही थी. इसके बाद ट्रंप प्रशासन ने भारत को अपना प्रमुख रक्षा साझेदार मानते हुए नियमों में ढील दी, जिसके बाद भारत को STA-1 का दर्जा मिल गया. अपने आपको ताकतवर समझने वाला चीन को भारत ने दिया जबरदस्त झटका … दरअसल, सामरिक व्यापार प्राधिकरण- 1 (STA-1) के तहत अमेरिका से बिना किसी License के अत्याधुनिक और संवेदनशील हथियारों के निर्यात की अनुमति देता है और भारत के लिए यह दर्जा बहुत फायदेमंद साबित होगा. दुनिया में सिर्फ 36 Country ही इस सूची में शामिल हैं और अब India 37वां देश बन गया है. इस List में शामल होने के बाद भारत अब आसानी से America से संवेदनशील हथियार खरीद पाएगा. मोदी के नेतृत्व वाली BJP सरकार के लिए भी ये बड़ी उपलब्धि है क्योंकि नरेंद्र मोदी के PM रहते हुए America से भारत के संबंध बहुत अच्छे हो गए हैं और जिसका फायदा भविष्य में भी होगा. और देखे -  Breaking : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिली खुली जान मारने की धमकी, साथ ही में बोला जिस में दम हो तो रोक ले …