मोदी एक बार फिर से प्रधानमंत्री तो बन गए लेकिन इन तीन चुनौतियों से कैसे निपटेंगे, दूसरी चुनौती है सबसे बड़ी

3 Challenge Modi: राष्ट्रपति भवन में गुरुवार को करीब आठ हजार मेहमानों की मौजूदगी में नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली! उनके साथ 40 मंत्रियों ने भी शपथ ली! देश की जनता ने एक बार फिर बहुमत देकर भारतीय जनता पार्टी को सत्ता में काबिज किया है! इस वजह से इस बार लोगों की उम्मीदें भी बढ़ी हैं! वैसे तो नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बन गए हैं लेकिन इन तीन चुनौतियों से कैसे निपटेंगे? इनमें से दूसरी सबसे बड़ी चुनौती है! 3 Challenge Modi - मोदी के सामने यह पहली चुनौती है नरेंद्र मोदी की पहली चुनौती संघ का एजेंडा है जिसे भाजपा अपने घोषणा पत्र में शामिल करती रही है! चुनौती राम मंदिर का मुद्दा है, जिसके लिए भाजपा हिंदू समुदाय का वोट खरीदती है! हालांकि यह मामला उच्चतम न्यायालय में है, लेकिन संघ और साधु समुदाय भाजपा पर मंदिर निर्माण को लेकर दबाव बनाते रहते हैं! अब इस बार मोदी इस चुनौती से कैसे निपटेंगे, यह देखने वाली बात होगी! 3 Challenge Modi - मोदी के सामने यह दूसरी सबसे बड़ी चुनौती है मोदी के सामने दूसरी सबसे बड़ी चुनौती बेरोजगारी की समस्या है! इस चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को घेर लिया था और इस मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी कहीं पीछे हट गई! हालांकि, दूसरे कार्यकाल में, नरेंद्र मोदी को बेरोजगारी की समस्या पर लगाम लगाना होगा ताकि आने वाले तीन विधानसभा चुनावों में उन्हें वोट मिल सके! 3 Challenge Modi - मोदी के सामने यह तीसरी चुनौती है मोदी सरकार के सामने तीसरी बड़ी चुनौती अल्पसंख्यकों का विश्वास जीतना है! संसदीय दल के नेता बनने के बाद, पहली बार, सभी विश्वास के शब्द का उपयोग करने के लिए भाजपा के नारे को बदल दिया! हालांकि अल्पसंख्यकों का विश्वास जीतना मोदी सरकार और भाजपा के लिए एक चुनौती है! इस बार अगर मोदी अल्पसंख्यकों का विश्वास जीत लेते हैं तो आने वाले चुनावों में उन्हें बढ़त मिलेगी!
 

मोदी एक बार फिर से प्रधानमंत्री तो बन गए लेकिन इन तीन चुनौतियों से कैसे निपटेंगे, दूसरी चुनौती है सबसे बड़ी

3 Challenge Modi: राष्ट्रपति भवन में गुरुवार को करीब आठ हजार मेहमानों की मौजूदगी में नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली! उनके साथ 40 मंत्रियों ने भी शपथ ली! देश की जनता ने एक बार फिर बहुमत देकर भारतीय जनता पार्टी को सत्ता में काबिज किया है! इस वजह से इस बार लोगों की उम्मीदें भी बढ़ी हैं! वैसे तो नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बन गए हैं लेकिन इन तीन चुनौतियों से कैसे निपटेंगे? इनमें से दूसरी सबसे बड़ी चुनौती है!

3 Challenge Modi - मोदी के सामने यह पहली चुनौती है

मोदी एक बार फिर से प्रधानमंत्री तो बन गए लेकिन इन तीन चुनौतियों से कैसे निपटेंगे, दूसरी चुनौती है सबसे बड़ी नरेंद्र मोदी की पहली चुनौती संघ का एजेंडा है जिसे भाजपा अपने घोषणा पत्र में शामिल करती रही है! चुनौती राम मंदिर का मुद्दा है, जिसके लिए भाजपा हिंदू समुदाय का वोट खरीदती है! हालांकि यह मामला उच्चतम न्यायालय में है, लेकिन संघ और साधु समुदाय भाजपा पर मंदिर निर्माण को लेकर दबाव बनाते रहते हैं! अब इस बार मोदी इस चुनौती से कैसे निपटेंगे, यह देखने वाली बात होगी!

3 Challenge Modi - मोदी के सामने यह दूसरी सबसे बड़ी चुनौती है

मोदी एक बार फिर से प्रधानमंत्री तो बन गए लेकिन इन तीन चुनौतियों से कैसे निपटेंगे, दूसरी चुनौती है सबसे बड़ी मोदी के सामने दूसरी सबसे बड़ी चुनौती बेरोजगारी की समस्या है! इस चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को घेर लिया था और इस मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी कहीं पीछे हट गई! हालांकि, दूसरे कार्यकाल में, नरेंद्र मोदी को बेरोजगारी की समस्या पर लगाम लगाना होगा ताकि आने वाले तीन विधानसभा चुनावों में उन्हें वोट मिल सके!

3 Challenge Modi - मोदी के सामने यह तीसरी चुनौती है

मोदी एक बार फिर से प्रधानमंत्री तो बन गए लेकिन इन तीन चुनौतियों से कैसे निपटेंगे, दूसरी चुनौती है सबसे बड़ी मोदी सरकार के सामने तीसरी बड़ी चुनौती अल्पसंख्यकों का विश्वास जीतना है! संसदीय दल के नेता बनने के बाद, पहली बार, सभी विश्वास के शब्द का उपयोग करने के लिए भाजपा के नारे को बदल दिया! हालांकि अल्पसंख्यकों का विश्वास जीतना मोदी सरकार और भाजपा के लिए एक चुनौती है! इस बार अगर मोदी अल्पसंख्यकों का विश्वास जीत लेते हैं तो आने वाले चुनावों में उन्हें बढ़त मिलेगी!