आरोपी MLA को योगी सरकार की क्लीन चिट, कुलदीप सिंह सेंगर बोले- ‘ये निम्न स्तर के लोग हैं’..

0
389
unnao gangrape bjp mla kuldeep singh sengar

unnao gangrape bjp mla kuldeep singh sengar: पीड़ित परिवार की ओर से लगातार आरोप लगाए जा रहे थे कि मौजूदा BJP सरकार विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके परिवार को बचा रही है. इसके बाद CM योगी ने आश्वासन दिया था कि पुलिस आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी.

unnao gangrape bjp mla kuldeep singh sengar

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में युवती ने गैंगरेप मामले में BJP विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के आरोपी भाई अतुल सिंह सेंगर को गिरफ्तार कर लिया गया है. बताया जा रहा है कि यह गिरफ्तारी CM योगी आदित्यनाथ के आदेश पर हुई है. पीड़ित परिवार की ओर से लगातार आरोप लगाए जा रहे थे कि मौजूदा BJP सरकार विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके परिवार को बचा रही है.

इसके बाद CM योगी ने आश्वासन दिया था कि पुलिस आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी.

unnao gangrape bjp mla kuldeep singh sengar

आरोपी विधायक ने दिया अटपटा बयान

पीड़िता के परिवार का आरोप है कि बांगरमऊ के बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने ही जेल में पिटाई करवाकर हत्या कराई है. वहीं आरोपी विधायक कुलदीप सिंह ने कहा, ‘ये निम्न स्तर के लोग हैं, अपराधियों का ये साजिश है’.

पांच दिन से जेल में थे पीड़िता के पिता

पीड़िता के पिता मारपीट और आर्म्स एक्ट में पांच दिनों से जेल में थे. परिवार ने वो फोटो जारी की है, जिसमें उनके चेहरे और शरीर पर चोटों के निशान हैं. परिजनों का आरोप है कि चोट लगने के बाद भी उनका इलाज नहीं कराया गया.

unnao gangrape bjp mla kuldeep singh sengar

BJP विधायक पर आरोप लगाने वाले शख्स की जेल में मौत

पीड़िता के पिता ने BJP विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उसके परिवार वालों पर गैंगरेप का आरोप लगाया था. आरोप है कि पुलिस ने पीड़िता के पिता के कहने पर मुकदमा दर्ज करने से मना कर दिया था, लेकिन विधायक की ओर से छवि खराब करने का मुकदमा दर्ज कराए जाने के बाद पीड़िता के पिता को जेल में डाल दिया गया था, जहां रविवार रात उनकी मौत हो गई.

और पढ़े: उपवास से पहले कोंग्रेसियो ने किया पेट भर नास्ता उड़ाई छोले भटूरे की दावत, फोटो वायरल हुई..

पीड़िता के पिता की मौत पर 2 अफसर समेत 6 पुलिसकर्मी सस्पेंड

पुलिस हिरासत में पीड़िता के पिता की मौत पर 2 पुलिस अधिकारी और 4 कॉन्स्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है. उन्नाव की पुलिस अधीक्षक पुष्पांजलि देवी ने कहा, ‘घटना को गंभीरता से देखते हुए 2 पुलिस अधिकारी और 4 कॉन्स्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है, जबकि बलात्कार पीड़िता के पिता को पीटने वाले चार आरोपियों सोनू, बउवा, विनीत और शैलू को गिरफ्तार कर लिया है.

unnao gangrape bjp mla kuldeep singh sengar

विधायक पर जेल में हत्या कराये जाने के आरोप के बारे में पूछे जाने पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इस बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता. मामले की मजिस्ट्रेट से जांच के आदेश दिये गए हैं. साथ ही मृतक का डाक्टरों के पैनल से पोस्टमार्टम कराने के आदेश दिए गए हैं.

FIR में विधायक का नाम नहीं

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक FIR की कॉपी में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का नाम ही दर्ज नहीं है. FIR में विधायक का नाम नहीं होने को लेकर रेप पीड़ित की बहन ने कहा कि मेरे पिता की पहले ही मौत हो चुकी है, अब पुलिस कह रही है कि आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. आगे उन्होंने कहा कि मैं चाहती हूं कि FIR में विधायक कुलदीप सिंह और अरुण सिंह का नाम शामिल कर दोनों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए.

और पढ़े: सपा की महिला नेता ने की ख़ुदकुशी, पार्टी में शौक..

आरोपों के बाद CM से मिलने पहुंचे थे विधायक

अपने ऊपर लगे आरोपों के बाद BJP विधायक CM योगी आदित्यनाथ से मिलने Annexy Building पहुंचे थे. आरोपों को लेकर उन्होंने कहा कि मेरे खिलाफ साजिश हुई है, मुझे फंसाने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने इस मामले में उच्च स्तरीय जांच की मांग की है. मुख्यमंत्री से मिलने के लिए आने को लेकर उन्होंने कहा कि मुझे बुलाया नहीं गया है, बल्कि मैं खुद उनसे मिलने आया हूं.

उन्होंने कहा कि मुझे जांच से कोई समस्या नहीं है. जांच होने दीजिए और दोषी को कड़ी सजा होनी चाहिए. जांच में यदि मैं दोषी पाया जाता हूं तो मैं सजा का सामना करने के लिए तैयार हूं.

CM ने ADG लखनऊ को सौंपी है मामले की जांच

CM योगी आदित्यनाथ ने इस मामले पर दुख जताया है. उन्होंने कहा कि लखनऊ के ADG को इस मामले की गंभीरता से जांच के आदेश दे दिए गए हैं. इस मामले में जो कोई आरोपी होगा, उसे छोड़ा नहीं जाएगा. युवती और उसके परिवार वालों ने रविवार को लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास के बाहर खुदकुशी करने की कोशिश की थी. युवती ने रविवार दोपहर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास के पास परिवार के साथ पहुंचकर आत्मदाह करने की कोशिश की थी.

जिलाधिकारी रवि कुमार NG ने कहा कि जब दोनों पक्षों की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया था तो एक पक्ष को ही जेल क्यों भेजा गया, इसकी जांच कराई जाएगी.

और पढ़े: उत्तर प्रदेश के हिन्दुओ ने भीमराव अम्बेडकर का नाम बदल खेली नई चाल। क्यों किया राम नाम का उपयोग?

——