राहुल गांधी की वजह से कांग्रेस की बढ़ी मुसीबतें, चारों ओर हो रही आलोचना …

0
737
Rahul Gandhi 1984 Riots Mystery

Rahul Gandhi 1984 Riots Mystery: राहुल गांधी Politics में हमेशा ही अपने बेवाक बयानों को लेकर जाने गए हैं। लेकिन हाल ही में उन्होंने CONG PARTY की छवि को और अधिक बेहतर बनाने के लिए एक ऐसा बयान दे डाला, जिसके चलते चारों और कांग्रेस और राहुल गांधी की आलोचना हो रही है। बताते चलें कि राहुल गांधी फिलहाल वर्तमान समय में ब्रिटेन दौरे पर हैं।

Rahul Gandhi 1984 Riots Mystery-


गौरतलब है कि राहुल गांधी ने लंदन में अपने एक दिए गए बयान में कहा था कि सन 1984 में हुए सिख दंगों में कांग्रेस पार्टी का कोई हाथ नहीं था। यह बयान आते ही India में चारों तरफ उनकी आलोचनाएं हो रही हैं। बताते चलें कि BJP के MP उमा भारती ने राहुल गांधी को मानसिक रूप से अस्वस्थ भी करार दे दिया था।

उन्होंने यह भी कहा कि जिस व्यक्ति को यह नहीं पता कि सन 1984 में आखिर हुआ क्या था, वह कांग्रेस का अध्यक्ष है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि CONG दंगे में अब तक जिन लोगों पर केस चले हैं, वह सभी CONG के हैं। तथा कुछ कांग्रेसियों को तो सजा भी हो चुकी है।

इसके अलावा अन्य दलों के भी नेताओं ने राहुल गांधी (CONG) को इस बयान के पश्चात आड़े हाथों ले लिया है। यह विवाद इतना अधिक बढ़ चुका है कि स्वयं CONG के विभिन्न नेताओं को राहुल गांधी के बचाव में भी उतरना पड़ा।

बताते चलें कि अमरिंदर सिंह ने राहुल गांधी का बचाव करते हुए कहा है कि सन 1984 के दंगे इंदिरा गांधी की मृत्यु के पश्चात हुए थे। उस समय राजीव गांधी बंगाल में पढ़ाई कर रहे थे। इस कारण से राजीव गांधी पर 1984 के दंगों का आरोप लगाना मूर्खता होगी। हालांकि उन्होंने इस दंगे के कुछ जिम्मेदार लोगों के नाम भी लिए।

Rahul remember statement Kumaraswamy

लेकिन यह तो निश्चित है कि Rahul Gandhi के इस बयान ने एक बार फिर से विरोधियों को बोलने का मौका दे दिया है। हालांकि CONG पार्टी अब इस बयान को किस प्रकार से संभालती है, यह देखने वाली बात होगी। सन 1984 में हुए सिख दंगों के बारे में आपकी क्या राय है हमें कमेंट बॉक्स में जरुर बताएं।

और देखे – आखिर क्यों जिन्ना ने एक हिन्दू से लिखवाया था पाकिस्तान का पहला राष्ट्रगान, जानिए वजह