केंद्र सरकार के बाद अब योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर फैसले से पहले किया दमदार ऐलान

0
320

Announcement before the Ram temple decision: अयोध्या में राम मंदिर मामले पर फैसला अब कभी भी आ सकता है। ऐसे में माहौल को देखते हुए अयोध्या में पूरी तरह से सावधानी बरती जा रही है। आपको बता दें कि अयोध्या मामले की सुनवाई पूरी हो चुकी है। जिस पर सर्वोच्च न्यायालय ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई 17 नवंबर को सेवानिवृत्त होंगे। लेकिन अपनी सेवानिवृत्ति से ठीक पहले वह अयोध्या मामले पर फैसला भी सुनाएंगे। ऐसे में पूरे देश की निगाहें इस फैसले पर टिकी होंगी।

अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था-

announcement before the Ram temple decision

मामले को देखते हुए अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद है। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी सरकार से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या मामले में सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आने के मद्देनजर प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों को कानून व्यवस्था दुरुस्त रखने के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने कहा है कि प्रदेश में शांति हर हाल में बनाए रखने के लिए अधिकारी पूरी तरह से तत्पर रहें।

सीएम योगी आदित्यनाथ का दमदार ऐलान-

announcement before the Ram temple decision

अब राम मंदिर मामले पर फैसला आने से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने दमदार ऐलान करते हुए यूपी में अयोध्या और लखनऊ जनपदों के लिए एक-एक हेलीकॉप्टर की व्यवस्था तत्काल सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही उन्होंने प्रदेश स्तर पर और प्रत्येक जनपद में एक नियंत्रण कक्ष स्थापित कर उसे तुरंत संचालित करने का निर्देश दिया है जो कि 24 घंटे लगातार काम करेंगे।

पैरा मिलिट्री दलों की 40 कंपनियां भेजी-

announcement before the Ram temple decision

बता दे कि इससे पहले अयोध्या मामले में फैसले की जल्द संभावना को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक दमदार फैसला लिया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी किया है। साथ ही दमदार फैसला लेते हुए गृह मंत्रालय ने यूपी के लिए पैरा मिलिट्री दलों की 40 कंपनियां भेजी हैं। एक कंपनी में 100 सुरक्षाकर्मी होते हैं। ऐसे में उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए गृह मंत्रालय ने पैरा मिलिट्री दल के 4000 जवानों को रवाना कर दिया है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि अगले एक हफ्ते के अंदर अयोध्या में राम मंदिर मामले को लेकर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला कभी भी आ सकता है।