कोरोना अभी देश में चरम पर नहीं, लॉकडाउन में ढील ले लेगी सेकड़ो जाने?

0
88774

देश में लगातार वायरस के मामले बढ़ते ही जा रहे है! जैसे ही देश में लॉक डाउन को ढील दी गई है तब से लेकर अभी तक वायरस के पॉजिटिव मामलों में भारी उछाल देखने को मिल रहा है! जिसके चलते अब तक देश में 56000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके है! वहीं अगर हम मरने वालों की संख्या की बात करें तो 1800 से अधिक तक हो चुकी है!

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 3 मई से लॉक डाउन में ढील दी गई थी और उसके बाद लोग पूरी तरह से भूल चुके हैं कि कोरोना वायरस अभी तक खत्म नहीं हुआ है! इस ढील के चलते लोग पहले की तरह घूमना फिरना शुरु कर चुके हैं! जिसके चलते अब कोरोना वायरस ने अपने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं! नागरिकों ने अभी तक अपनी जिम्मेदारी को नहीं समझा तो यह मामले 2-3 गुना नहीं बल्कि कई गुना बढ़ सकते हैं!

3 मई के बाद ढील देने के बाद लोगों द्वारा लॉक डाउन को नजरअंदाज करने का नतीजा यह सामने आया कि “तीन दिनों में ही कोरोना के मामलों में 10 हजार से अधिक की बढ़ोतरी हुई है! 4 मई को 3656 मामले, 5 मई को 2934, 6 मई को 3561 तथा 7 मई को 3344 मामले सामने आए!” अगर इस वायरस की रफ्तार यही रही तो आने वाले समय में एक लाख से अधिक मामले सामने आ सकते हैं!

डॉक्टर रणदीप गुलेरिया जो कि इंस्ट्रक्टर है उनका कहना है कि “जून-जुलाई में इस वायरस का संक्रमण अपनी पिक पर होगा!” भारत में कोविड-19 संक्रमण को लेकर जो अनुमान लगाए जा रहे हैं वह मॉडलिंग डाटा पर आधारित है! यदि इस मामले में मैथमेटिकल ग्रोथ को देखा जाए तो यही अनुमान लगाया जा रहा है कि जून जुलाई के महीने में यह वायरस अपने उच्च स्तर पर होगा!