केजरीवाल ने की अमित शाह से मुलाकात, अब LG और केंद्र के इस आदेश को लागु किया जायगा

0
244

10 जून को देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के 1501 नए मामले सामने आए है। लेकिन इनमे से 48 लोगो की मौ’त हो गई है। इतनी बड़ी तादाद में कोरोना वायरस फैला है, कि देश की राजधानी में भी हड़कंप मचा हुआ है। इसी मामलो को दखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने केंद्रीय ग्रह मंत्री अमित शाह से भी मुलाकात की तो। 10 जून को हुई इस मुलाकात के बाद केजरीवाल ने ट्वीट के जरिये कहा है, ”कि उन्होंने हमारी हर संभव मदद करने का प्रयास किया है और हमे भरोसा भी दिलाया है।” दिल्ली के सीएम ने ट्वीट किया है, ”कि अमित शाह से उनकी मुलाकात के बाद अमित शाह बोलै है की वो दिल्ली में भी कोरोना की स्थिति को दयानं में रखते हुए मदद करेंगे। और उन्होंने सभी प्रकार के सहयोग का आश्वासन भी दिया है।”

क्योकि दिल्ली में कोरोना से पीड़ित लोगो की संख्या अब काफी तेजी से फेल रही है। इस समय कुल इस वायरस संकर्मित लोगो की संख्या 32810 हो गई है। वहीं अब तक 984 लोग इस वायरस की वजह से अपनी जा’न गवा चुके है। इसलिए अरविन्द केजरीवाल ने ग्रह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की है, क्योंकि कोरोना के कारण दिल्ली में बहुत ज्यादा स्थिति बिगड़ती जा रही है।

कोरोना वायरस के खिलाफ इस लड़ाई को हमे एक आं’दोलन बनाना होगा।

इससे पहले भी केजरीवाल ने 10 जून को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। उस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने बोला था, ” कि अब 15 जून तक ये केस 44 हजार हो जायगे, और 30 जून तक एक लाख, 15 जुलाई तक ये केस और भी बढ़कर 2.25 लाख तक हो जायगे। वे और इसी को देखते हुए 15 जून तक 6681, और 30 जून तक 15000 बेड त्यार होंगे और 15 जुलाई तक 30 हज़ार और 31 जुलाई तक 80 हजार बेड की जरूरत होगी। यह एक बहुत बड़ी चुनौती है। इसलिए अब इस कोरोना की इस लड़ाई को जनांदोलन बनाना होगा। ये समय लड़ने का नहीं बल्कि इस मुश्किल समय में एक साथ मिलकर काम करने का है।”

केजरीवाल ने ये भी बोला है, कि दिल्ली केबिनेट ने ये फैसला लिया है, कि दिल्ली में सिर्फ और सिर्फ दिल्ली वालो का ही इलाज होगा। जब तक ये संकट है, तब तक लेकिन उपराज्य ने केजरीवाल के इस फैसले को पलट दिया है . अब LG और केंद्र के इस आदेश को लागु किया जायगा। अब हमे पहले की तरह एक दूसरे के साथ नहीं लड़ना, बल्कि एक साथ मिलकर कार्य करना है और ये भी बोला है, कि इस पर राजनीती भी नहीं होनी चाहिए। केजरीवाल ने बोला, कि भले ही हमारे कामो में कुछ कमियाँ होगी, लेकिन हमारी नियत और इच्छाशक्ति में जरा भी कमी नहीं है। और मैं दिल्ली की सारी जनता को विश्वास भी दिलाता हूँ, कि हम आपका पूरा इलाज करवाएगे।