गठबंधन में दरार कांग्रेस ने उद्धव के खिलाफ खोला मोर्चा? जल्द होगा निर्णय किसको मिलेगी पांचवी सीट

0
49
शिवसेना कांग्रेस एनसीपी, शिवसेना, कांग्रेस, एनसीपी, Shiv Sena Congress NCP

3 पार्टी के जुगाड़ वाली उद्धव सरकार की दीवारें अब सरकने लगी है! उद्धव ठाकरे और शरद पवार के खेल के खिलाफ अब कांग्रेस पार्टी खुलकर सामने आ गई है! प्रदेश कांग्रेस नेताओ के बीच पिछले 2 दिनों से अंदर खाने बैठक शुरू है! लेकिन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट ने ठाकरे सरकार के खिलाफ अपनी नाराजगी खुलकर जाहिर की!

दरअसल, महाराष्ट्र की सत्ता में शामिल होते हुए भी कांग्रेस को उतना महत्व नहीं मिल रहा है जितना वह हकदार है! शिवसेना अध्यक्ष और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और एनसीपी के मुखिया शरद पवार आपस में चर्चा कर किसी भी मुद्दे पर निर्णय ले लेते हैं और कांग्रेस को इसमें शामिल करने की जरूरत ही नहीं महसूस की जाती है!

यही वजह है कि पिछले दिनों इस मुद्दे पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और नेता राहुल गांधी ने कहा था कि महाराष्ट्र में कांग्रेस शामिल जरूर है लेकिन निर्णय में उनके नेताओं की सलाह नहीं ली जाती! इसके बाद आदित्य ठाकरे के साथ राहुल गांधी की टेलीफोन वार्ता में सब कुछ ठीक होने की बात सामने आई थी! खुद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आश्वासन दिया था कि कांग्रेस को सरकार में पूरा सम्मान दिया जाएगा!

कांग्रेस के एक मंत्री ने बताया है कि कांग्रेस कोटे में मंत्रियों की बैठक में अन्य मुद्दों पर चर्चा की गई, बैठक में इस बात पर जोर दिया गया तीन दलों की सरकार में कांग्रेस को भी बराबर का सम्मान मिलना चाहिए! और सरकारी निर्णय प्रक्रिया में भी कांग्रेस की भागीदारी होनी चाहिए!

उधव ठाकरे सरकार में एनसीपी दिन प्रतिदिन भारी पड़ती जा रही है! कांग्रेस नेता को यह खटक रहा है और इससे पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में नाराजगी है! इस बीच कांग्रेस ने मुख्यमंत्री तक अपनी बात पहुंचाने के लिए शिवसेना सचिव व मुख्यमंत्री के निजी सचिव के साथ बैठक की!

सूत्रों के अनुसार, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बालासाहेब थोराट , प्रदेश एनसीपी अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री से विधान परिषद के राज्यपाल नामित 12 सीटों के नामों को अंतिम रूप देने के लिए बैठक बुलाने का अनुरोध किया था लेकिन अभी तक यह बैठक नहीं हो सकी है! गठन के समय ही यह तय हो चुका है कि विधान परिषद में तीनों दलों को 4-4 सीट मिलेगी! लेकिन अब शिवसेना 5 सीटों का दावा कर रही है जो कि एनसीपी और कांग्रेस को स्वीकार नहीं होगा! बालासाहेब थोराट कहते हैं कि हमारे बीच असहमति के कई मुद्दे हैं! सरकार के निर्णय प्रक्रिया में कांग्रेस को विश्वास में लिया जाना चाहिए! और इसके लिए जल्द ही उद्धव ठाकरे से बात की जाएगी!