बिहार में BJP और JDU के बीच फंसा वित् और गृह मंत्रालय का पेंच

0
80

जैसा की आप सब जानते हैं कल नितीश कुमार 14 मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री पद की शपथ ले चुके हैं. बीजेपी ने ज्यादा सीटें जीतने के बाद भी बिहार में मुख्यमंत्री पद पर नितीश कुमार को बैठने दिया हैं. जबकि अब दोनों पार्टियों में विभागों को लेकर मंथन चल रहा हैं.

ऐसे में सूत्रों के हवाले से खबर है की बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और देश के गृहमंत्री अमित शाह पटना में रात को एक हाई लेवल मीटिंग कर रहे हैं. इस मीटिंग में राज्य के एहम पदों के बटवारे को लेकर मंथन किया जा रहा हैं. बताया जा रहा है की बीजेपी ने JDU से गृह मंत्रालय और वित् मंत्रालय की मांग की हैं.

वही नितीश कुमार ने वित् मंत्रालय अपनी पार्टी के पास रखने का मन बना चुके हैं. BJP के पास कमी इस बात की है की उनके पास बिहार में कोई बड़ा नेता हैं, ऐसे में इंटर पास तार किशोर और रेणु देवी को तो कला और संस्कृति विभाग मिलना तय है, पर तार किशोर के लिए वित्त मंत्रालय संभालना मुश्किल होगा हालाँकि दोनों की बिहार के उप मुख्यमंत्री बनाये गए हैं.

ऐसे में बीजेपी वित् मंत्रालय JDU को सौंप सकती है हालाँकि राजनैतिक पंडितों का कहना है की गृह मंत्रालय का कामकाज नितीश कुमार ज्यादातर खुद ही देखते हैं. इसलिए इसबार भी वह इसे अपने पास रख सकते हैं. अशोक चौधरी को शिक्षा मंत्रालय और विजय कुमार चौधरी को वित्त मंत्रालय दिया जा सकता हैं.

इसके इलावा जरूरी विभाग जैसे की पथ निर्माण और उत्पाद-मद्य निषेध और भवन निर्माण विभाग में से दो मुकेश सहनी और संतोष मांझी की झोली में गिर सकते हैं. बिहार के पुरुष उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद को कल्याण मंत्रालय दिया जा सकता है. बताया जा रहा है की भाजपा के मंगल पांडेय को एक बार फिर स्वास्थ्य मंत्रालय दिया जा सकता हैं.

देखना यह होगा की विभागों के बटवारे के दौरान क्या बड़े नेता आपसी सुलह में इन मंत्रालयों का मुद्दा निपटा लेंगे या फिर बड़े भाई और छोटे भाई की भूमिका के बीच सरकार में आंतरिक कलह देखने को मिलेगा, यह तो आने वाला खैर वक़्त ही बताएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here