TMC का हाल देखकर सोनिया गांधी ने बुलाई आपातकाल बैठक

0
248

तृणमूल कांग्रेस जिसके कई नेता पार्टी से नाराज़ चल रहे थे, ममता बनर्जी ने उनकी नाराज़गी दूर करने की बजाए उनसे संवाद की ख़त्म कर दिया. नतीजा चुनाव अभी शुरू भी नहीं हुए की TMC के एक-एक विधायक करके पार्टी से टूटने शुरू हो गए. अब आलम यह है की अगर पश्चमी बंगाल में सरकार चुनाव से पहले ही बहुमत खो दे तो हैरानी नहीं होगी.

अब वही हाल कांग्रेस का भी हैं, नाराज़ नेताओं की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं लेकिन शीर्ष पर बैठे नेताओं से उनका संवाद ख़त्म हो चूका हैं. ऐसे में सोनिया गांधी ने TMC का हाल देखते हुए कांग्रेस की एक आपातकाल बैठक बुलाने का फैसला किया हैं. इस बैठक में 23 असंतुष्ट नेता जिन्होंने पार्टी की कमान गैर गांधी परिवार को सौंपने की वकालत की थी उन्हें खासतौर पर इस बैठक में बुलाया गया हैं.

इसी दौरान कांग्रेस में पार्टी अध्यक्ष के नाम पर चर्चा होगी और पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, पृथ्वीराज चव्हाण, शशि थरूर, भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कई अन्य नेता सोनिया गांधी से मुलाक़ात भी करेंगे. वहीं गांधी परिवार के वफादार नेताओं का कहना है की कांग्रेस के ज्यादातर नेता राहुल गांधी को दुबारा अध्यक्ष बनते हुए देखना चाहते हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने सोनिया गांधी को पार्टी से असंतुष्ट नेताओं के साथ मीटिंग करने की सलाह दी थी. बिहार में हुई चुनावी हार के बाद मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ का कहना था की गठबंधन वाली पार्टियां और कांग्रेस के ही नेताओं में कांग्रेस के नेर्तत्व को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं, जो पार्टी के भविष्य को लेकर खतरा पैदा करेंगे.

इस बैठक में अंसतुष्ट नेताओं के सवालों का जवाब दिया जाएगा, जिससे उनके मन में जो कड़वाहट हैं वो कम की जा सके. हालाँकि यह इतना आसान नहीं होगा क्योंकि पिछली बार की बैठक में गांधी परिवार पर सवाल उठाने वाले नेताओं को ‘गद्दार’ करार दिया गया था. ऐसे में देखना यह होगा की कांग्रेस इन नताओं को कैसे आपने विश्वास में लेती हैं और जो हालात और जानकारी निकल रही है उससे यह तो साफ़ है की सोनिया गांधी पार्टी की कमान राहुल गांधी के इलावा किसी दूसरे को सौंपना नहीं चाहती.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here