रवि कुमार , सुशील कुमार के बाद फाइनल में पहुचने वाले दूसरे पहलवान बने

0
72
ravi-kumar-becomes-second-wrestler-after-sushil-kumar-to-reach-final

Ravi Kumar becomes second wrestler: टोक्यो ओलंपिक (Olympic) 2020 में 4 अगस्त को भारत का चौथा पदक पक्का हो चुका है और अब तक ओलम्पिक खेलो में सबसे बेहतरीन दिन बीत रहा. रेसलर रवि कुमार सेमीफाइनल मैच में रवि ने 57kg भारवर्ग में कजाकिस्तान के नूरइस्लाम सानायेव को मात देकर फाइनल में जगह बना ली है. इसी के साथ रवि (Ravi) ने देश के लिए मेडल पक्का कर लिया है. अब उनकी निगाहें देश के लिये गोल्ड जीतने पर हैं.

इससे पहले, रवि ने पैन अमेरिकी रजत पदक विजेता कोलंबियाई ऑस्कर टाइग्रेरोस को 13-2 और बल्गेरियाई जॉर्जी वांगेलोव को 14-4 से हराकर अपना वर्चस्व दिखाया और तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर अपने पहले दो मुकाबले जीतकर सेमीफाइनल में पहुंचे.

अपने शुरुआती मुकाबले में, विश्व के कांस्य पदक विजेता और दो बार के एशियाई चैंपियन को रवि ने टेकडाउन के माध्यम से 2-0 की बढ़त ले ली, लेकिन कोलंबियाई ने पहले दौर में बराबरी करने के लिए संघर्ष किया.

रवि के डबल लेग अटैक ने उन्हें एक और टेकडाउन दिलाया. टाइग्रेरोस को पछाड़ने के लिए भारतीय ने तेज गति से अंक जमा करना जारी रखा.

व्यक्तिगत विश्व कप के कांस्य पदक विजेता वांगेलोव के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में, रवि पहले अवधि में तीन टेकडाउन के माध्यम से 6-0 से आगे बढ़े. बल्गेरियाई ने शानदार पलटवार करते हुए इसे 8-2 से बनाने से पहले दूसरी अवधि की शुरुआत में दो और अंक जुटाए.

आज का यह मुकाबला पुरुषों के 57 kg कैटेगरी में कजाकिस्तान के पहलवान नूरीसलाम के खिलाफ बड़ा ही जबरदस्त हुआ.

बताते चले कि रवि ने मैच की शुरुआत से ही अपनी पकड़ बनायी रखी थी. पहले राउंड खत्म होने तक उन्होंने 2-1 की लीड ले रखी थी. दूसरे राउंड की शुरुआत में 2-9 से पिछड़ गया, कजाख में टेकडाउन किया और उसके बाद भारतीय खिलाड़ी के पैरों को में कई मोड़ आए.

हालांकि, रवि ने अंतर को पाटने के लिए अपनी कि शैली दिखाई, और 5-9 पर, उन्होंने कज़ाख को शानदार ढंग से पिन किया और वह सुशील कुमार के बाद फाइनल में पहुंचने वाले दूसरे पहलवान बन गए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here