महज 2 देशों तक ही सीमित नहीं रहेगी इजरायल और फिलिस्तीन की जंग, पुतिन- अब सबक सिखाना होगा

0
5278

इजरायल और फिलिस्तीन के बीच खूनी संघर्ष भी विश्व युद्ध का रूप ले सकता है। तुर्की और रूसजिस तरह से इस मुद्दे को देख रहे हैं उसने आशंका जताई है कि यह संघर्ष केवल दो देशों तक सीमित नहीं रहेगा। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन ने इस संबंध में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बात की है। एर्दोगन ने पुतिन से कहा है कि इजरायल ने फिलिस्तीन के प्रति जो रवैया अपनाया है, उसके लिए उसे कड़ा सबक सिखाने की जरूरत है।

टेलीफोन पर बातचीत

रसीप तैयप एर्दोगन ने रूस के राष्ट्रपति से कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को इज़राइल को एक कठिन और अलग सबक सिखाना चाहिए। तुर्की के राष्ट्रपति के संचार निदेशालय के अनुसार, दोनों देशों के नेताओं ने बुधवार को टेलीफोन पर यरूशलेम के विवादित क्षेत्र पर चर्चा की। इस दौरान, एर्दोगन ने कहा, ‘अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को इज़राइल को एक मजबूत और अलग सबक सिखाना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को इस्राइल को स्पष्ट संदेश देने के लिए शीघ्र हस्तक्षेप करना चाहिए ‘

एर्दोगन ने यह सुझाव दिया

तुर्की द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि राष्ट्रपति एर्दोगन ने रूस के राष्ट्रपति पुतिन को सुझाव दिया कि फिलिस्तीनियों की रक्षा के लिए एक अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा बल पर विचार किया जाना चाहिए। इस बीच, गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि गाजा में 16 बच्चों और पांच महिलाओं सहित मरने वालों की संख्या बढ़कर 65 हो गई है। जबकि 86 बच्चों और 39 महिलाओं सहित कम से कम 365 लोग घायल हुए हैं।

सिटी कमांडर ढेर

आतंकवादी समूह हमास का गाजा सिटी कमांडर इजरायली हवाई हमले में मारा गया है। हमास ने इसकी पुष्टि की है। रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि 2014 में गाजा की लड़ाई के बाद से बुधवार के हमले में मारे गए बासम इस्सा हमास का अब तक का सबसे बड़ा अधिकारी था। दूसरी ओर, इजरायल के रक्षा मंत्री बेनी गैंट्स ने स्पष्ट कर दिया है कि हमले नहीं रुकेंगे। उन्होंने कहा कि गाजा पट्टी और फिलिस्तीन में हमारी सेना के हमले नहीं रुकेंगे। हम तब तक इंतजार करने के लिए तैयार नहीं हैं जब तक कि दुश्मन पूरी तरह शांत न हो जाए। इसके बाद ही शांति बहाली पर कोई बात होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here