रोइंग में मेडल के लिए अर्जुन और अरविंद पर टिकी 133 करोड़ देशवासियों की आस, 27 जुलाई को होगा सेमीफाइनल

0
67
133-crore-countrymens-hope-rests-on-arjun-and-arvind-for-medals-in-rowing-semi-finals-will-be-held-on-july-27

133 crore countrymen’s hope rests on Arjun: टोक्यो ओलंपिक (Olympic) के तीसरे दिन भारतीय खिलाड़ी अर्जुन लाल जाट (Arjun Lal Jaat) और अरविंद सिंह (Arvind Singh) ने पुरुषों की नौकायन लाइटवेट डबलस्कल्स स्पर्धा के रेपेशाज दौर में तीसरे स्थान पर रहते हुए सेमीफाइनल में जगह बना ली है.

इस भारतीय जोड़ी ने 6:51:36 का समय निकाला तथा तीसरा स्थान प्राप्त किया. इस स्पर्धा मे अर्जुन लाल बोअर तथा अरविंद स्ट्रोकर की भूमिका में थे. शुरुआत के 1000 तक यह जोड़ी चौथे स्थान पर चल रही थी लेकिन इसके बाद इन्होंने रफ्तार पकड़ी और खेल खत्म होते समय तीसरा स्थान प्राप्त किया.बीते कल इसी भारतीय टीम ने छह टीमों की स्पर्धा में 6:40:33 का समय निकाला और सेमीफाइनल में जगह बनाई थी.

हालांकि सेमीफाइनल के लिए यह मुकाबला बेहद कडा था क्योंकि प्रथम स्थान पर काबिज पोलैंड का समय 6:43:44 तथा दूसरे स्थान पर काबिज स्पेन का समय 6:45:71 था. इस भारतीय जोड़ी ने उज़्बेकिस्तान की जोड़ी के लय खोने का पूरा फायदा उठाते हुए अपना स्थान सेमीफाइनल में पक्का किया.

रेपेशाज दौर से टीमों क्वार्टर फाइनल, सेमी फाइनल या फाइनल में जगह बनाने के लिए एक और मौका मिलता है. 6 टीमों में से 3 टीम सेमीफाइनल तथा 3 टीम क्लासिफिकेशन दौर मे चली गई.

इस खेल में एक नाव पर 2 खिलाड़ी होते हैं. हर पुरुष प्रतिभागी का औसत वजन 70 किलोग्राम तथा अधिकतम वजन 72.5 किलोग्राम होना चाहिए.

अर्जुन लाल और अरविंद सिंह के सेमीफाइनल में जगह बनाने से रोइंग में पदक की उम्मीद बची हुई है, अब पूरे देश की निगाहें 27 जुलाई को होने वाले सेमीफाइनल मुकाबले पर टिकी हुई है. उस दिन जितनी तेज नाव दौड़ेगी मेडल के करीब उतनी ही तेज पहुंचेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here