फिल्मेकर अशोक पंडित ने कहा,’ कांग्रेस-चीनी भाई-भाई’

0
52

फिल्मेकर अशोक पंडित (Ashok Pandit) सोशल मीडिया में अपनी बेबाक अंदाज के लिए जाने जाते हैं. सोशल मीडिया पर अक्सर व सरकार के बारे में बोलना पसंद करते हैं इस बार उन्होंने सोशल मीडिया पर सरकार से जुड़े कई सारे सवालों को डाला है और इसके साथ साथ उन्होंने कई जवाबों को भी दिया है. इस दौरान फोटो शेयर करते हुए अशोक पंडित ने अपनी बेबाकी की का परिचय देते हुए कहा कि ,‘कॉन्ग्रेस-चीनी भाई-भाई’.

उन्होंने अपने पोस्ट ने पहला सवाल किया है, ‘महत्वपूर्ण सवाल, भारत में गरीबी कब शुरू हुई?’. इसके जवाब में उन्होंने लिखा कि ‘ 26 मई, 2014.’ इसके पहले गरीब महंगी कारों में घूम रहे थे और ठंडी कॉफी पी रहे थे.

दूसरे सवाल में उन्होंने पूछा,’ कुटिल मीडिया और कुछ धार्मिक संस्थानों का भारतीय लोकतंत्र पर से कब भरोसा टूटा?’. जवाब में उन्होंने कहा साल 2014, 26 मई को.

तीसरा सवाल, अंबानी और अडानी का अमीर बन गए? उत्तर- 26 मई, 2014 को. इससे पहले वो मुंबई की सड़कों पर भीख मांग रहे थे. चौथा सवाल- पेट्रोल और डीजल की कीमत में वृद्धि कब हुई? उत्तर – 26 मई, 2014 को. उसी दिन तक पेट्रोल ₹14 प्रति लीटर में बेचा जाता था.

पांचवा सवाल- कश्मीर मुद्दे कब शुरू हुआ? उत्तर 26 मई 2014 को. उसके पहले सभी आतंकवादी शांति के दूत थे. वह घाटी में बच्चों को चॉकलेट बांटते थे और वहां की स्त्रियों को अपनी मां बहन मानते थे.

छठा सवाल, चीन और पाकिस्तान के साथ भारत के मुद्दे कब शुरू हुए हैं? उत्तर- 26 मई 2014 से. इससे पहले पाकिस्तान और चीन ने भारतीयों को बहुत प्यार दिया. अपने देखते ही गले लगा लेते थे.

सातवां सवाल – लोगों को कब पता चला कि विदेशी बैंकों में भारतीयों का काला धन जमा है? उत्तर – 26 मई 2014 को. इसके पहले भारतीय वह ब्लैक मनी के बारे में कुछ पता नहीं था. मैंने सोचा कि जिन होठों पर काली इंक गिर जाती है वह काला धन होता है और उसे साफ करने के लिए विदेश भेजा जाता है.

आठवां सवाल- असहिष्णुता शब्द का आविष्कार कब किया गया? उत्तर – 26 मई 2014 को. इसी दिन यह शब्द शब्दकोश में जोड़ा गया. वाले लोगों को या पता भी नहीं था कि इस चीज को पुरस्कार वापस करके महसूस किया जा सकता है.

इस पर आम लोगों ने प्रतिक्रिया व्यक्त की और कुछ लोगों ने कहा कि भाई पैसा बोलता है, भाई डोनेशन कब काम आएगा, लगता है बहुत फ्री हो कम से कम इस आपदा में लोगों की मदद ही कर दो.

इसी दौरान पंकज नाम के यूजर ने लिखा कि ‘ आपके सारे प्रश्न और मूर्खता का जवाब मैं दूंगा. समय लगेगा क्योंकि मैं तब से आपके सामने रख लूंगा, आपके तो सारे सवालों का जवाब एक ही था, इसलिए आपके लिए यह आसान था.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here