अजीत हत्याकांड : अवैध संबंध बनाकर हड़प लिए लाखों रुपये

Ajit murder case: राजनगर एक्सटेंशन स्थित रामेश्वरम सोसाइटी की 7वि मंजिल से गिरकर हुई अजीत सिंह की मोत के मामले में नंदग्राम थाने में हत्या का केस दर्ज किया गया है पुलिस ने मृतक अजीत सिँह की पत्नी की तहरीर पर दंपत्ति सहित तीन लोगो पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज की है आरोप लगाया है की नामजद आरोपी महिला ने पहले तो अजीत सिंह से सम्भन्ध बनाये और फिर एक फर्म में पार्टनर बनाने के नाम पर उनसे लाखो रूपये ऐंठ लिए| बाद में तीनो आरोपियो ने उनकी हत्या कर सोसाइटी की 7वि मंजिल से उन्हें फेंक दिया पुलिस का कहना है की साक्ष्यों के आधार पर मामले की जाँच की जा रही है राखी व् अमित से हिसाब किताब करने आये थे मृतक अजित सिंह : पीड़ित रचना सिंह ने बताया की 21 अगस्त को उनके पति अजित सिंह गुरुग्राम से राखी और उसके पति अजित सिंह से फर्म का हिसाब किताब करने यहाँ आये थे घर से निकलने से पहले उन्होंने रचना से खा था की वह आज राखी और उसके पति से अपना हिसाब किताब क्र उसने सम्भन्ध खत्म कर लेंगे | इसके बाद अजित घर नहीं लोटे | बकौल रचना शाम करीब 4 बजे उन्हें पुलिस ने अजीत के राखी और अमित के फ्लैट के निचे मर्त हालत में पड़े होने की सुचना दी थी | जिसके बाद वह अपने परिजनों के साथ आयी और शव को गुरग्राम ले जाया गया| पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ मोत से पहले मारपीट का खुलासा: रचना का दावा है की पैसे मांगने पर राखी और उसके पति अमित ने पहले अजीत के साथ मारपीट की और बाद में बेहोशी की हालत में सोसाइटी के पीछे की तरफ फेंक दिया | जिससे उनकी मोके पर ही मोत हो गयी | रचना ने बताया की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी अजित के साथ मोत से पहले मार पीट किये जाने और चोट पहुंचाने का खुलासा हुआ है | ट्वीट और कम पोर्टल पर शिकायत करने के बाद पुलिस ने किया मामला दर्ज: मृतक की पत्नी का कहना है की पति की मौत पर तीन दिनों टकटक वो बेसुध रही जिसकी वजह से वो पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं कर पायी| इसके बाद जब वह नंदग्राम थाने में शिकायत करने पहुंची तो पुलिस ने अजीत की मौत को आत्महत्या बताकर उन्हें टरका दिया | आपको बता दे पुलिस के हाथ अभी तक भी इस मामले में कोई अहम सबूत हाथ नहीं लगे है ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. Indiavirals पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें
 

अजीत हत्याकांड : अवैध संबंध बनाकर हड़प लिए लाखों रुपये

Ajit murder case: राजनगर एक्सटेंशन स्थित रामेश्वरम सोसाइटी की 7वि मंजिल से गिरकर हुई अजीत सिंह की मोत के मामले में नंदग्राम थाने में हत्या का केस दर्ज किया गया है पुलिस ने मृतक अजीत सिँह की पत्नी की तहरीर पर दंपत्ति सहित तीन लोगो पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज की है आरोप लगाया है की नामजद आरोपी महिला ने पहले तो अजीत सिंह से सम्भन्ध बनाये और फिर एक फर्म में पार्टनर बनाने के नाम पर उनसे लाखो रूपये ऐंठ लिए| बाद में तीनो आरोपियो ने उनकी हत्या कर सोसाइटी की 7वि मंजिल से उन्हें फेंक दिया पुलिस का कहना है की साक्ष्यों के आधार पर मामले की जाँच की जा रही है राखी व् अमित से हिसाब किताब करने आये थे मृतक अजित सिंह : पीड़ित रचना सिंह ने बताया की 21 अगस्त को उनके पति अजित सिंह गुरुग्राम से राखी और उसके पति अजित सिंह से फर्म का हिसाब किताब करने यहाँ आये थे घर से निकलने से पहले उन्होंने रचना से खा था की वह आज राखी और उसके पति से अपना हिसाब किताब क्र उसने सम्भन्ध खत्म कर लेंगे | इसके बाद अजित घर नहीं लोटे | बकौल रचना शाम करीब 4 बजे उन्हें पुलिस ने अजीत के राखी और अमित के फ्लैट के निचे मर्त हालत में पड़े होने की सुचना दी थी | जिसके बाद वह अपने परिजनों के साथ आयी और शव को गुरग्राम ले जाया गया| पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ मोत से पहले मारपीट का खुलासा: रचना का दावा है की पैसे मांगने पर राखी और उसके पति अमित ने पहले अजीत के साथ मारपीट की और बाद में बेहोशी की हालत में सोसाइटी के पीछे की तरफ फेंक दिया | जिससे उनकी मोके पर ही मोत हो गयी | रचना ने बताया की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी अजित के साथ मोत से पहले मार पीट किये जाने और चोट पहुंचाने का खुलासा हुआ है | ट्वीट और कम पोर्टल पर शिकायत करने के बाद पुलिस ने किया मामला दर्ज: मृतक की पत्नी का कहना है की पति की मौत पर तीन दिनों टकटक वो बेसुध रही जिसकी वजह से वो पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं कर पायी| इसके बाद जब वह नंदग्राम थाने में शिकायत करने पहुंची तो पुलिस ने अजीत की मौत को आत्महत्या बताकर उन्हें टरका दिया | आपको बता दे पुलिस के हाथ अभी तक भी इस मामले में कोई अहम सबूत हाथ नहीं लगे है ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें  फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.  Indiavirals पर विस्तार से पढ़ें  मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें