बाबा का ढाबा: वीडियो वायरल करने वाले पर लगा दान हड़पने का आरोप

अभी कुछ हफ्ते पहले की बात है, जब स्वाद ऑफिशियल नाम के यूट्यूब चैनल को चलाने वाले गौरव वासन ने एक वीडियो को वायरल किया था. यह वीडियो था ‘बाबा का ढाबा’ चलाने वाले बुजुर्ग दंपत्ति कांता प्रसाद और बादामी देवी का था. वीडियो देश विदेश में खूब वायरल हुआ, बच्चे बच्चे की जुबान पर 'बाबा का ढाबा' का नाम चढ़ चूका था. देश में कई बड़ी हस्तियों ने वीडियो को शेयर किया, देश की कई नामी-ग्रामी कंपनीज ने भी 'बाबा का ढाबा' के सपोर्ट में अपना योगदान दिया. देश और दुनिया से कई लोगों ने स्वाद ऑफिशियल द्वारा दिए गए UPI और बैंक अकाउंट में पैसे दान किये. कुछ ही दिनों में इस बुजुर्ग दंपति की मुस्कुराते हुए वीडियो सामने आने लगी. उसके बाद स्वाद ऑफिशियल नाम के यूट्यूब चैनल को चलाने वाले गौरव वासन ने एक और वीडियो जारी किया. इस वीडियो में गौरव ने कहा की मेरे पास लगभग 2 लाख रूपए का दान आ चूका हैं, आप और पैसे देना बंद कर दीजिये. हालाँकि अब भी पहले वाला वीडियो वायरल हो रहा था और उस वीडियो UPI और बैंक डिटेल हटाए नहीं गए थे. दूसरा वीडियो उतना वायरल नहीं हुआ था, जिसका मतलब साफ़ था की, लोगो को पता ही नहीं चला की गौरव ने दान न देने की अपील डाली हैं. अब एक यूट्यूबर लक्ष्य चौधरी ने गौरव वासन पर फ्रॉड करने का आरोप लगा दिया हैं. उसका कहना है की वीडियो बनाने तक गौरव ने दान में मिले हुए पैसों को बुजुर्ग दंपति को नहीं दिया. एक इंटरव्यू में भी कांता प्रसाद ने बताया की गौरव ने हमसे पहले ही दिन हमारी बैंक डिटेल्स मांगी थी, हमने उसे अपनी बैंक डिटेल्स दी भी दी. लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद हमें पता चला की एक जगह पर गौरव ने अपनी बैंक डिटेल वीडियो के साथ डाली हैं. कांता प्रसाद ने यह भी दावा किया की गौरव ने अभी तक उन्हें दान में मिला एक भी पैसा नहीं दिया हैं. विवाद जब आगे बड़ा तो गौरव ने अगले ही दिन 2 लाख 33 हजार का चेक देते हुए एक वीडियो बनाया और कहा की मैं जल्द ही अपनी बैंक स्टेटमेंट भी जारी करूंगा. हालाँकि अभी तक गौरव ने अपनी बैंक स्टेटमेंट की डिटेल जारी नहीं की. ऐसे में सवाल यह भी उठता है की 2 लाख तो वीडियो वायरल होने से पहले ही आ चुके थे तो क्या वायरल होने के बाद मात्र 33000 ही आए? जबकि गौरव ने पहले खुद एक वीडियो में कहा था उसके पास लगभग 20 लाख रूपए की राशि एकत्रित हुई हैं. उसके बाद पैसों का गबन करने का आरोप लगने के बाद ही बैंक चेक क्यों काटा गया? जब बुजुर्ग दंपति का अपना बैंक अकाउंट था तो गौरव ने वीडियो में अपनी बैंक डिटेल्स क्यों दी? सवाल कई हैं और जवाब मात्र एक ऑनलाइन दुनिया में जल्द किसी पर भरोसा न करें.
 

बाबा का ढाबा: वीडियो वायरल करने वाले पर लगा दान हड़पने का आरोप

अभी कुछ हफ्ते पहले की बात है, जब स्वाद ऑफिशियल नाम के यूट्यूब चैनल को चलाने वाले गौरव वासन ने एक वीडियो को वायरल किया था. यह वीडियो था ‘बाबा का ढाबा’ चलाने वाले बुजुर्ग दंपत्ति कांता प्रसाद और बादामी देवी का था. वीडियो देश विदेश में खूब वायरल हुआ, बच्चे बच्चे की जुबान पर 'बाबा का ढाबा' का नाम चढ़ चूका था. बाबा का ढाबा: वीडियो वायरल करने वाले पर लगा दान हड़पने का आरोप देश में कई बड़ी हस्तियों ने वीडियो को शेयर किया, देश की कई नामी-ग्रामी कंपनीज ने भी 'बाबा का ढाबा' के सपोर्ट में अपना योगदान दिया. देश और दुनिया से कई लोगों ने स्वाद ऑफिशियल द्वारा दिए गए UPI और बैंक अकाउंट में पैसे दान किये. कुछ ही दिनों में इस बुजुर्ग दंपति की मुस्कुराते हुए वीडियो सामने आने लगी. उसके बाद स्वाद ऑफिशियल नाम के यूट्यूब चैनल को चलाने वाले गौरव वासन ने एक और वीडियो जारी किया. इस वीडियो में गौरव ने कहा की मेरे पास लगभग 2 लाख रूपए का दान आ चूका हैं, आप और पैसे देना बंद कर दीजिये. हालाँकि अब भी पहले वाला वीडियो वायरल हो रहा था और उस वीडियो UPI और बैंक डिटेल हटाए नहीं गए थे. दूसरा वीडियो उतना वायरल नहीं हुआ था, जिसका मतलब साफ़ था की, लोगो को पता ही नहीं चला की गौरव ने दान न देने की अपील डाली हैं. अब एक यूट्यूबर लक्ष्य चौधरी ने गौरव वासन पर फ्रॉड करने का आरोप लगा दिया हैं. उसका कहना है की वीडियो बनाने तक गौरव ने दान में मिले हुए पैसों को बुजुर्ग दंपति को नहीं दिया. एक इंटरव्यू में भी कांता प्रसाद ने बताया की गौरव ने हमसे पहले ही दिन हमारी बैंक डिटेल्स मांगी थी, हमने उसे अपनी बैंक डिटेल्स दी भी दी. लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद हमें पता चला की एक जगह पर गौरव ने अपनी बैंक डिटेल वीडियो के साथ डाली हैं. कांता प्रसाद ने यह भी दावा किया की गौरव ने अभी तक उन्हें दान में मिला एक भी पैसा नहीं दिया हैं. विवाद जब आगे बड़ा तो गौरव ने अगले ही दिन 2 लाख 33 हजार का चेक देते हुए एक वीडियो बनाया और कहा की मैं जल्द ही अपनी बैंक स्टेटमेंट भी जारी करूंगा. हालाँकि अभी तक गौरव ने अपनी बैंक स्टेटमेंट की डिटेल जारी नहीं की. ऐसे में सवाल यह भी उठता है की 2 लाख तो वीडियो वायरल होने से पहले ही आ चुके थे तो क्या वायरल होने के बाद मात्र 33000 ही आए? जबकि गौरव ने पहले खुद एक वीडियो में कहा था उसके पास लगभग 20 लाख रूपए की राशि एकत्रित हुई हैं. उसके बाद पैसों का गबन करने का आरोप लगने के बाद ही बैंक चेक क्यों काटा गया? जब बुजुर्ग दंपति का अपना बैंक अकाउंट था तो गौरव ने वीडियो में अपनी बैंक डिटेल्स क्यों दी? सवाल कई हैं और जवाब मात्र एक ऑनलाइन दुनिया में जल्द किसी पर भरोसा न करें.