मुख्यमंत्री योगी की पुलिस इन जिलों में अपराधियों पर कहर बनकर टूटी, 733 करोड रुपए की संपत्ति कर दी कुर्क और…

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने राज्य के अंदर अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई हुई है! जिसके चलते उत्तर प्रदेश की पुलिस ने जमकर माफियाओं और अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की है! सरकार के द्वारा उठाए जा रहे एक्शन के बाद अब पुलिस प्रशासन के ऊपर जनता का विश्वास बढ़ गया है वहीं दूसरी ओर योगी सरकार पर भी जनता का विश्वास बना हुआ है! यही नहीं बल्कि बीजेपी की सरकार ने उत्तर प्रदेश के अंदर कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए तथा लोगों को सुरक्षित रखने के लिए देश के कुख्यात अपराधियों की लिस्ट बनाकर उनके सहयोगी तथा अन्य छोटे-बड़े के खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दी है! इस सिलसिले को लेकर उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश मिलने के बाद यूपी पुलिस ने माफिया एवं गिरोह बंद गतिविधियों में लिप्त कुख्यात अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की है! उनका कहना है कि इस कार्यवाही के क्रम में 1 जनवरी 2020 से 26 दिसंबर 2020 तक लिस्टेड माफिया अपराधियों और उनके सहयोगियों से धारा 14 के अंतर्गत 733 करोड रुपए की संपत्ति कुर्क की गई है! अवनीश कुमार अवस्थी का कहना है कि सरकार और उत्तर प्रदेश पुलिस की यह सबसे बड़ी सफलता है कि हमने राज्य में सक्रिय अपराध के ठेकेदारों की कमर को तोड़ दिया है! मिल रही जानकारी के अनुसार धारा 14 के अंतर्गत की जाने वाली कार्यवाही के अंदर उत्तर प्रदेश के 10 जिलों में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ सबसे आगे है! लखनऊ में उत्तर प्रदेश पुलिस ने अपराधियों और छोटे-बड़े गैंग के खिलाफ कार्रवाई करते हुए लगभग 88,15,52,248 रुपए की संपत्ति कुर्क की है! इस लिस्ट में गौतमबुध नगर दूसरे नंबर पर है जहां से 66,80,32,248 रुपए की संपत्ति पुलिस ने कुर्क की! बलरामपुर में 58,60,62,000 रुपए, गाजीपुर में 42,09,72,335 रुपये, गोरखपुर में 38,20,80,000 रुपये, औरैया में 31,22,73,192 रुपये, जौनपुर में 29,40,87,939,रुपये, मुजफ्फरनगर में 28,83,75,000 रिपये, प्रयागराज में 26,17,90,722 रुपये और देवरिया में 24,39,09,741रुपए की बड़ी संपत्ति यूपी पुलिस ने कुर्क की है!
 

मुख्यमंत्री योगी की पुलिस इन जिलों में अपराधियों पर कहर बनकर टूटी, 733 करोड रुपए की संपत्ति कर दी कुर्क और…

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने राज्य के अंदर अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई हुई है! जिसके चलते उत्तर प्रदेश की पुलिस ने जमकर माफियाओं और अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की है! सरकार के द्वारा उठाए जा रहे एक्शन के बाद अब पुलिस प्रशासन के ऊपर जनता का विश्वास बढ़ गया है वहीं दूसरी ओर योगी सरकार पर भी जनता का विश्वास बना हुआ है! यही नहीं बल्कि बीजेपी की सरकार ने उत्तर प्रदेश के अंदर कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए तथा लोगों को सुरक्षित रखने के लिए देश के कुख्यात अपराधियों की लिस्ट बनाकर उनके सहयोगी तथा अन्य छोटे-बड़े के खिलाफ कार्यवाही शुरू कर दी है! इस सिलसिले को लेकर उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश मिलने के बाद यूपी पुलिस ने माफिया एवं गिरोह बंद गतिविधियों में लिप्त कुख्यात अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की है! उनका कहना है कि इस कार्यवाही के क्रम में 1 जनवरी 2020 से 26 दिसंबर 2020 तक लिस्टेड माफिया अपराधियों और उनके सहयोगियों से धारा 14 के अंतर्गत 733 करोड रुपए की संपत्ति कुर्क की गई है! अवनीश कुमार अवस्थी का कहना है कि सरकार और उत्तर प्रदेश पुलिस की यह सबसे बड़ी सफलता है कि हमने राज्य में सक्रिय अपराध के ठेकेदारों की कमर को तोड़ दिया है! मिल रही जानकारी के अनुसार धारा 14 के अंतर्गत की जाने वाली कार्यवाही के अंदर उत्तर प्रदेश के 10 जिलों में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ सबसे आगे है! लखनऊ में उत्तर प्रदेश पुलिस ने अपराधियों और छोटे-बड़े गैंग के खिलाफ कार्रवाई करते हुए लगभग 88,15,52,248 रुपए की संपत्ति कुर्क की है! इस लिस्ट में गौतमबुध नगर दूसरे नंबर पर है जहां से 66,80,32,248 रुपए की संपत्ति पुलिस ने कुर्क की! बलरामपुर में 58,60,62,000 रुपए, गाजीपुर में 42,09,72,335 रुपये, गोरखपुर में 38,20,80,000 रुपये, औरैया में 31,22,73,192 रुपये, जौनपुर में 29,40,87,939,रुपये, मुजफ्फरनगर में 28,83,75,000 रिपये, प्रयागराज में 26,17,90,722 रुपये और देवरिया में 24,39,09,741रुपए की बड़ी संपत्ति यूपी पुलिस ने कुर्क की है!