लोगो को बेवकूफ बनाते हुए रंगे हाथ पकड़ी गयी चित्रा त्रिपाठी

चित्रा त्रिपाठी का नाम सुनते ही न्यूज़ संस्थान 'इंडिया टुडे ग्रुप' के सबसे बड़े चैनल 'आज तक' पर आने वाला खूबसूरत चेहरा याद आता हैं. लेकिन यह खूबसूरत चेहरा महज़ और महज़ मेकअप का कमाल हैं. असल में चित्रा त्रिपाठी कैसी दिखती हैं, उसकी तस्वीर अपने देख ही ली होगी. अपने झूठे चेहरे की तरह चित्रा त्रिपाठी झूठी खबरें चलाने में भी महारथ हासिल कर चुकी हैं. चित्रा त्रिपाठी ने अपनी तारीफ के पुल बंधवाने के लिए सोशल मीडिया पर एक स्क्रीन शॉट शेयर किया. इस स्क्रीन में चित्रा त्रिपाठी बहुत ज्यादा तारीफ लिखी थी, तो चित्रा त्रिपाठी ने यह लिखते हुए स्क्रीन शॉट शेयर किया की अभी मुझे वत्स अप्प पर किसी ने मैसेज भेजा है तो मैंने सोचा इसे शेयर कर देती हूँ. चित्रा त्रिपाठी ने लिखा है की यह मैसेज मुझे किसी दूसरे ने भेजा हैं. जबकि अगर आप इस मैसेज को ध्यान से देखेंगे और अगर आपने अपने जीवन में कभी 'Whats App' इस्तेमाल किया है तो आप समझ जाएंगे की यह मैसेज किसी ने चित्रा को भेजा नहीं है, बल्कि चित्रा ने किसी को भेजा हैं. तो सवाल यह है की क्या गलती से चित्रा त्रिपाठी ने दूसरे मोबाइल का स्क्रीन शॉट सोशल मीडिया पर डाल दिया? या फिर उन्हें इस बात का अंदाज़ा ही नहीं था की, सोशल मीडिया के जमाने में अब लोगों से झूठ बोलना आसान नहीं. इस स्क्रीन शॉट से यह तो साफ़ हो गया की चित्रा त्रिपाठी ने अपनी ख़बरों की तरह एक फ़र्ज़ी पोस्ट शेयर किया हैं. लेकिन अगर देश के जानी मानी पत्रकार अपनी झूठी तारीफ, झूठी खूबसूरती के लिए इस हद्द तक जा सकती हैं तो उससे यह देश के लोग कैसे निष्पक्ष पत्रकारिता की उम्मीद कर सकते हैं? क्या पत्रकार अपनी तारीफ सुनने के लिए इतने उत्सुक रहते हैं की वह अपने ही एक मोबाइल फ़ोन से खुद की तारीफ लिखकर दूसरे मोबाइल फ़ोन से पढ़ते हैं? फिर यही नहीं उसे सोशल मीडिया पर भी डालते हैं की देखो लोग कैसे मेरी तारीफ करते हैं. बस उम्मीद है की अगली बार वह स्क्रीन शॉट मैसेज भेजे गए मोबाइल का ना निकाले.
 

लोगो को बेवकूफ बनाते हुए रंगे हाथ पकड़ी गयी चित्रा त्रिपाठी

चित्रा त्रिपाठी का नाम सुनते ही न्यूज़ संस्थान 'इंडिया टुडे ग्रुप' के सबसे बड़े चैनल 'आज तक' पर आने वाला खूबसूरत चेहरा याद आता हैं. लेकिन यह खूबसूरत चेहरा महज़ और महज़ मेकअप का कमाल हैं. असल में चित्रा त्रिपाठी कैसी दिखती हैं, उसकी तस्वीर अपने देख ही ली होगी. अपने झूठे चेहरे की तरह चित्रा त्रिपाठी झूठी खबरें चलाने में भी महारथ हासिल कर चुकी हैं. लोगो को बेवकूफ बनाते हुए रंगे हाथ पकड़ी गयी चित्रा त्रिपाठी चित्रा त्रिपाठी ने अपनी तारीफ के पुल बंधवाने के लिए सोशल मीडिया पर एक स्क्रीन शॉट शेयर किया. इस स्क्रीन में चित्रा त्रिपाठी बहुत ज्यादा तारीफ लिखी थी, तो चित्रा त्रिपाठी ने यह लिखते हुए स्क्रीन शॉट शेयर किया की अभी मुझे वत्स अप्प पर किसी ने मैसेज भेजा है तो मैंने सोचा इसे शेयर कर देती हूँ. चित्रा त्रिपाठी ने लिखा है की यह मैसेज मुझे किसी दूसरे ने भेजा हैं. जबकि अगर आप इस मैसेज को ध्यान से देखेंगे और अगर आपने अपने जीवन में कभी 'Whats App' इस्तेमाल किया है तो आप समझ जाएंगे की यह मैसेज किसी ने चित्रा को भेजा नहीं है, बल्कि चित्रा ने किसी को भेजा हैं. तो सवाल यह है की क्या गलती से चित्रा त्रिपाठी ने दूसरे मोबाइल का स्क्रीन शॉट सोशल मीडिया पर डाल दिया? या फिर उन्हें इस बात का अंदाज़ा ही नहीं था की, सोशल मीडिया के जमाने में अब लोगों से झूठ बोलना आसान नहीं. इस स्क्रीन शॉट से यह तो साफ़ हो गया की चित्रा त्रिपाठी ने अपनी ख़बरों की तरह एक फ़र्ज़ी पोस्ट शेयर किया हैं. लेकिन अगर देश के जानी मानी पत्रकार अपनी झूठी तारीफ, झूठी खूबसूरती के लिए इस हद्द तक जा सकती हैं तो उससे यह देश के लोग कैसे निष्पक्ष पत्रकारिता की उम्मीद कर सकते हैं? लोगो को बेवकूफ बनाते हुए रंगे हाथ पकड़ी गयी चित्रा त्रिपाठी क्या पत्रकार अपनी तारीफ सुनने के लिए इतने उत्सुक रहते हैं की वह अपने ही एक मोबाइल फ़ोन से खुद की तारीफ लिखकर दूसरे मोबाइल फ़ोन से पढ़ते हैं? फिर यही नहीं उसे सोशल मीडिया पर भी डालते हैं की देखो लोग कैसे मेरी तारीफ करते हैं. बस उम्मीद है की अगली बार वह स्क्रीन शॉट मैसेज भेजे गए मोबाइल का ना निकाले.