कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला ने उठाया राज से पर्दा, बताया क्यों कैप्टन अमरिंदर को हटाया गया मुख्यमंत्री पद से

Captain Amarinder was removed from the post of Chief Minister: हाल ही में पंजाब (Punjab) का सियासी संग्राम काफी ज्यादा गर्म हो चुका है. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewal) ने शनिवार को दावा किया कि अमरिंदर सिंह (Amrinder Singh) को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से आलाकमान सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने नहीं हटाया बल्कि कांग्रेस के 78 विधायक उन्हें हटाना चाहते थे. गौरतलब है कि, यह बयान ऐसे समय पर आया है जब अमरिंदर सिंह ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद पार्टी नेतृत्व पर उन्हें अपमानित करने का आरोप लगाया है. बता दें कि सूर्य वालों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि, 'जब कोई मुख्यमंत्री अपने सभी विधायकों का विश्वास खो देता है तो उसे अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. 79 में से 78 विधायकों ने कांग्रेस हाईकमान को लिखा था कि सीएम को बदल देना चाहिए. अगर हम सीएम नहीं बदलते तो इसे तानाशाही कहते. एक तरफ 78 विधायक और एक तरफ अकेला मुख्यमंत्री. सोनिया गांधी कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष हैं और पंजाब में मुख्यमंत्री बदलने का फैसला उन्होंने नहीं लिया. जैसा कि मैंने आपको बताया, 78 विधायकों ने पत्र लिखा था और उसके बाद हमने मुख्यमंत्री को बदल दिया.' https://twitter.com/ANI/status/1444285683183489038 इस कॉन्फ्रेंस में सूर्य वालों ने आगे कहा कि,' कांग्रेस ने पंजाब में अनुसूचित जाति वर्ग के बेटे चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाकर मिसाल पेश की है. बीजेपी 15 राज्यों में सत्ता पर काबिज है, उसने एक भी अनुसूचित जाति वर्ग को मुख्यमंत्री बनाया है. जब कांग्रेस ने नजीर पेश की है तो भाजपा को दिक्कत क्यों हो रही है.' वहीं दूसरी ओर सुरजेवाला के बयान पर पलटवार करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपना बयान जारी करते हुए कहा कि, 'मैंने 2017 के बाद से पंजाब में हर चुनाव जीता है. यह वे लोग नहीं थे जिन्होंने मुझ पर से विश्वास खो दिया था. पूरे मामले की साजिश नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और उनके सहयोगियों ने की थी. न जाने क्यों उन्हें अब भी हुक्म चलाने की इजाजत दे रहे हैं.'
 

कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला ने उठाया राज से पर्दा, बताया क्यों कैप्टन अमरिंदर को हटाया गया मुख्यमंत्री पद से

Captain Amarinder was removed from the post of Chief Minister: हाल ही में पंजाब ( Punjab) का सियासी संग्राम काफी ज्यादा गर्म हो चुका है. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव रणदीप सुरजेवाला ( Randeep Surjewal) ने शनिवार को दावा किया कि अमरिंदर सिंह ( Amrinder Singh) को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से आलाकमान सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने नहीं हटाया बल्कि कांग्रेस के 78 विधायक उन्हें हटाना चाहते थे. गौरतलब है कि, यह बयान ऐसे समय पर आया है जब अमरिंदर सिंह ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद पार्टी नेतृत्व पर उन्हें अपमानित करने का आरोप लगाया है. बता दें कि सूर्य वालों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि, 'जब कोई मुख्यमंत्री अपने सभी विधायकों का विश्वास खो देता है तो उसे अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. 79 में से 78 विधायकों ने कांग्रेस हाईकमान को लिखा था कि सीएम को बदल देना चाहिए. अगर हम सीएम नहीं बदलते तो इसे तानाशाही कहते. एक तरफ 78 विधायक और एक तरफ अकेला मुख्यमंत्री. सोनिया गांधी कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष हैं और पंजाब में मुख्यमंत्री बदलने का फैसला उन्होंने नहीं लिया. जैसा कि मैंने आपको बताया, 78 विधायकों ने पत्र लिखा था और उसके बाद हमने मुख्यमंत्री को बदल दिया.' https://twitter.com/ANI/status/1444285683183489038 इस कॉन्फ्रेंस में सूर्य वालों ने आगे कहा कि,' कांग्रेस ने पंजाब में अनुसूचित जाति वर्ग के बेटे चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाकर मिसाल पेश की है. बीजेपी 15 राज्यों में सत्ता पर काबिज है, उसने एक भी अनुसूचित जाति वर्ग को मुख्यमंत्री बनाया है. जब कांग्रेस ने नजीर पेश की है तो भाजपा को दिक्कत क्यों हो रही है.' वहीं दूसरी ओर सुरजेवाला के बयान पर पलटवार करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपना बयान जारी करते हुए कहा कि, 'मैंने 2017 के बाद से पंजाब में हर चुनाव जीता है. यह वे लोग नहीं थे जिन्होंने मुझ पर से विश्वास खो दिया था. पूरे मामले की साजिश नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और उनके सहयोगियों ने की थी. न जाने क्यों उन्हें अब भी हुक्म चलाने की इजाजत दे रहे हैं.'