इमरान खान ने उठाई RSS पर ऊँगली, तो दिग्विजय सिंह और संजय राऊत उतर आए मैदान में किया समर्थन बोले-भूल जाओ बातचीत

Imran Khan raised his finger on RSS: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) को भारत-पाक के बीच रुकावट में रुकावट बताने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) और शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने अभी हाल ही में करारा जवाब दे दिया है. कांग्रेस के राज्यसभा सांसद ने कहा कि इमरान खान जब तक आतंकी आकाओं पर सख्त कार्रवाई नहीं करेंगे तब तक दोनों देशों के बीच बातचीत की कोई गुंजाइश नहीं हो सकती है. वही संजय रावत ने भी इमरान खान को लगाते हुए कहा कि पाकिस्तान तालिबान का निर्माता है और दुनिया भर में आतंकवाद के लिए जिम्मेदार है. हम आपको बता दें कि कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने शनिवार को कहा कि जब तक पाकिस्तान के इमरान खान सरकार मुंबई आतंकवादी हमलों और भारत के खिलाफ दहशतगर्दी की अन्य हरकतों के मददगारों पर सख्त कार्रवाई नहीं करती, तब तक दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच बातचीत का सिलसिला बहाल होना मुमकिन नहीं है. उन्होंने आगे कहा, "भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत बहाल करने में वे सारे लोग बाधा हैं जिनकी मुंबई आतंकवादी हमलों और अन्य आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने वाले लोगों को प्रश्रय और वित्तीय मदद देने में शामिल होने को लेकर पहचान हो गई है." इसके साथ-साथ उन्होंने हाफिज सईद और मसूद अजहर का नाम लेते हुए कहा कि भारत विरोधी आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देने वाले लोग पूरी तरह से पाकिस्तान सरकार के संरक्षण में हैं. उन्होंने कहा जब तक इमरान खान सरकार के इन लोगों को पनाह देती रहेगी और इन पर सख्त कार्रवाई नहीं करेगी तब तक दोनों पड़ोसी देशों के बीच बातचीत भला किस आधार पर हो सकती है. गौरतलब है कि राज्यसभा सांसद और शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि पाकिस्तान तालिबान का जन्मदाता है और दुनियाभर में आतंकवाद के लिए जिम्मेदार है. राउत ने कहा कि अफगानिस्तान में मौजूदा हालात के लिए पाकिस्तान ही जिम्मेदार है. उन्होंने कहा,'तालिबान को किसने बनाया? पाकिस्तान ने. तालिबान की मदद से पाकिस्तान ने जो आतंकवाद फैलाया उसे पूरी दुनिया ने सहा है. इसलिए इमरान खान पर भरोसा ना करें.' राउत ने आगे कहा, ''RSS की विचारधारा क्या है? कि जम्मू कश्मीर भारत का हिस्सा है, यह सच है. यह पूरे देश के लोगों की भी भावना है.'
 

इमरान खान ने उठाई RSS पर ऊँगली, तो दिग्विजय सिंह और संजय राऊत उतर आए मैदान में किया समर्थन बोले-भूल जाओ बातचीत

Imran Khan raised his finger on RSS: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ( RSS) को भारत-पाक के बीच रुकावट में रुकावट बताने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ( Imran Khan) को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ( Digvijay Singh) और शिवसेना नेता संजय राउत ( Sanjay Raut) ने अभी हाल ही में करारा जवाब दे दिया है. कांग्रेस के राज्यसभा सांसद ने कहा कि इमरान खान जब तक आतंकी आकाओं पर सख्त कार्रवाई नहीं करेंगे तब तक दोनों देशों के बीच बातचीत की कोई गुंजाइश नहीं हो सकती है. वही संजय रावत ने भी इमरान खान को लगाते हुए कहा कि पाकिस्तान तालिबान का निर्माता है और दुनिया भर में आतंकवाद के लिए जिम्मेदार है. हम आपको बता दें कि कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने शनिवार को कहा कि जब तक पाकिस्तान के इमरान खान सरकार मुंबई आतंकवादी हमलों और भारत के खिलाफ दहशतगर्दी की अन्य हरकतों के मददगारों पर सख्त कार्रवाई नहीं करती, तब तक दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच बातचीत का सिलसिला बहाल होना मुमकिन नहीं है. उन्होंने आगे कहा, "भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत बहाल करने में वे सारे लोग बाधा हैं जिनकी मुंबई आतंकवादी हमलों और अन्य आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने वाले लोगों को प्रश्रय और वित्तीय मदद देने में शामिल होने को लेकर पहचान हो गई है." इसके साथ-साथ उन्होंने हाफिज सईद और मसूद अजहर का नाम लेते हुए कहा कि भारत विरोधी आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ावा देने वाले लोग पूरी तरह से पाकिस्तान सरकार के संरक्षण में हैं. उन्होंने कहा जब तक इमरान खान सरकार के इन लोगों को पनाह देती रहेगी और इन पर सख्त कार्रवाई नहीं करेगी तब तक दोनों पड़ोसी देशों के बीच बातचीत भला किस आधार पर हो सकती है. गौरतलब है कि राज्यसभा सांसद और शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि पाकिस्तान तालिबान का जन्मदाता है और दुनियाभर में आतंकवाद के लिए जिम्मेदार है. राउत ने कहा कि अफगानिस्तान में मौजूदा हालात के लिए पाकिस्तान ही जिम्मेदार है. उन्होंने कहा,'तालिबान को किसने बनाया? पाकिस्तान ने. तालिबान की मदद से पाकिस्तान ने जो आतंकवाद फैलाया उसे पूरी दुनिया ने सहा है. इसलिए इमरान खान पर भरोसा ना करें.' राउत ने आगे कहा, ''RSS की विचारधारा क्या है? कि जम्मू कश्मीर भारत का हिस्सा है, यह सच है. यह पूरे देश के लोगों की भी भावना है.'