“भारत को नहीं बनने देंगे तालिबान”, चुनावी रैली के दौरान ऐसा क्यों कहा ममता बनर्जी ने, मोदी और अमित शाह…

"India will not be made into Taliban": पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Banergee) ने हाल ही में तालिबान का नाम लेकर प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह पर निशाना साधा है ममता बनर्जी ने कहा कि हम किसी भी को भी देश का बंटवारा नहीं करने देंगे पश्चिम बंगाल की सीएम ने कहा की,'नरेंद्र मोदी जी (Modi), अमित शाह जी, हम भारत को तालिबान नहीं बनाने देंगे. भारत एकजुट रहेगा. गांधी जी, नेताजी, विवेकानंद, सरदार वल्लभभाई पटेल, गुरु नानक जी, गौतम बुद्ध और जैन सभी एक साथ इस देश में रहेंगे. हम किसी को भी भारत का बंटवारा नहीं करने देंगे.' बता दें कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भवानीपुर में एक रैली को संबोधित कर रही थी. वह आने वाले चुनाव को लेकर तैयारी कर रही हैं. इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा एक जुमला पार्टी है. वह लोग झूठ बोल रहे हैं कि हमने राज्य में दुर्गा पूजा और लक्ष्मी पूजा की इजाजत नहीं दी. गौरतलब है कि भवानीपुर सीट पर ममता बनर्जी भाजपा की प्रियंका से सीधी चुनौती में हिस्सा ले रही हैं. इसी के मद्देनजर सीएम ने रैली में भाजपा को आड़े हाथों ले लिया. वहीं दूसरी ओर भाजपा ने बुधवार को कहा कि भवानीपुर उपचुनाव के लिए उन्हें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आवास के पास प्रचार करने नहीं दिया जा रहा है. भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष विक्रांत मजूमदार ने अपने बयान के दौरान दावा किया कि उन्हें हरिश चैटर्जी स्ट्रीट पर प्रचार करने से रोका गया जो ममता बनर्जी की आवास की ओर जाती है. ममता भी इस उपचुनाव में उम्मीदवार हैं. पैसा तो उन्होंने आरोप लगाया है कि पुलिस ने भाजपा को प्रचार करने से रोक दिया क्योंकि तृणमूल कांग्रेस को 30 सितंबर को होने वाले चुनाव में हार जाने का डर सता रहा है वही बता दे कि पुलिस उपायुक्त ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उनके पास टीकाकरण प्रमाण पत्र नहीं था और वे उच्च सुरक्षा क्षेत्र में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे, इसलिए उन्हें दूसरी सड़क पर जाने को कहा गया." भाजपा सांसद ज्योतिर्मय सिंह महतो और मघरिया के बीच मौके पर कहासुनी भी हुई. महतो ने दावा किया कि वे घर-घर प्रचार करने के लिए चुनाव आयोग द्वारा लोगों की निर्दिष्ट सीमित संख्या का पालन कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने कहा कि दल में अधिक लोग थे.
 

“भारत को नहीं बनने देंगे तालिबान”, चुनावी रैली के दौरान ऐसा क्यों कहा ममता बनर्जी ने, मोदी और अमित शाह…

"India will not be made into Taliban": पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ( Mamta Banergee) ने हाल ही में तालिबान का नाम लेकर प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह पर निशाना साधा है ममता बनर्जी ने कहा कि हम किसी भी को भी देश का बंटवारा नहीं करने देंगे पश्चिम बंगाल की सीएम ने कहा की,'नरेंद्र मोदी जी ( Modi), अमित शाह जी, हम भारत को तालिबान नहीं बनाने देंगे. भारत एकजुट रहेगा. गांधी जी, नेताजी, विवेकानंद, सरदार वल्लभभाई पटेल, गुरु नानक जी, गौतम बुद्ध और जैन सभी एक साथ इस देश में रहेंगे. हम किसी को भी भारत का बंटवारा नहीं करने देंगे.' बता दें कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भवानीपुर में एक रैली को संबोधित कर रही थी. वह आने वाले चुनाव को लेकर तैयारी कर रही हैं. इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा एक जुमला पार्टी है. वह लोग झूठ बोल रहे हैं कि हमने राज्य में दुर्गा पूजा और लक्ष्मी पूजा की इजाजत नहीं दी. गौरतलब है कि भवानीपुर सीट पर ममता बनर्जी भाजपा की प्रियंका से सीधी चुनौती में हिस्सा ले रही हैं. इसी के मद्देनजर सीएम ने रैली में भाजपा को आड़े हाथों ले लिया. वहीं दूसरी ओर भाजपा ने बुधवार को कहा कि भवानीपुर उपचुनाव के लिए उन्हें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आवास के पास प्रचार करने नहीं दिया जा रहा है. भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष विक्रांत मजूमदार ने अपने बयान के दौरान दावा किया कि उन्हें हरिश चैटर्जी स्ट्रीट पर प्रचार करने से रोका गया जो ममता बनर्जी की आवास की ओर जाती है. ममता भी इस उपचुनाव में उम्मीदवार हैं. पैसा तो उन्होंने आरोप लगाया है कि पुलिस ने भाजपा  को प्रचार करने से रोक दिया क्योंकि तृणमूल कांग्रेस को 30 सितंबर को होने वाले चुनाव में हार जाने का डर सता रहा है वही बता दे कि पुलिस उपायुक्त ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उनके पास टीकाकरण प्रमाण पत्र नहीं था और वे उच्च सुरक्षा क्षेत्र में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे, इसलिए उन्हें दूसरी सड़क पर जाने को कहा गया." भाजपा सांसद ज्योतिर्मय सिंह महतो और मघरिया के बीच मौके पर कहासुनी भी हुई. महतो ने दावा किया कि वे घर-घर प्रचार करने के लिए चुनाव आयोग द्वारा लोगों की निर्दिष्ट सीमित संख्या का पालन कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने कहा कि दल में अधिक लोग थे.