भारत ने की अंतरिक्ष में सर्जिकल स्ट्राइक, 3 मिनट में 300 किलोमीटर दूर सैटलाइट को मार गिराया भारत ने, जानिये इस सफलता के क्या है मायने

भारत में आज अपना नाम ‘स्पेस पावर’ के रूप में दर्ज करा दिया है।

0
141

Indias surgical strike leo satelites: सुबह करीब 11:30 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने एक ट्वीट किया जिसमे उन्होंने अपने प्यारे देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा “मेरे प्यारे देशवासियों आज सवेरे लगभग 11:45 से 12:00 बजे में एक महत्वपूर्ण सन्देश लेकर आप के बीच आऊंगा” पीएम मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन दिया है और ऐसी बाते बताई हैं जिसे जानकर हर भारतीय को गर्व होगा।

पीएम मोदी ने बताया की भारत ने आज लो अर्थ ऑरबिट में घूम रहे एक लाइव सैटेलाइट को दूसरे सैटेलाइट के जरिए एंटी सैटेलाइट मिसाइल को मार गिराया है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत ने आज अपना नाम अंतरिक्ष महाशक्ति के रुप में दर्ज करा दिया है। अभी तक दुनिया के सिर्फ तीन देश ऐसे थे जिन्हें ये उपलब्धि हासिल थी और वो थे अमेरिका, रुस, औऱ चीन। अब ये शक्ति पाने वाला चौथा देश भारत है। हर हिंदुस्तानी के लिए इससे बड़ा गर्व का पल नहीं हो सकता है।

इस ट्वीट को कुछ ही समय में हजारों लोगों ने रिट्वीट भी किया है। पीएम मोदी के पिछले 5 वर्षो के कार्यकाल में पहली बार उन्होंने इस तरह ट्वीट करके समय दिया है। अपने सन्देश में नरेंद्र मोदी ने बताया की भारत ने अंतरिक्ष में एक सेटेलाइट को मार गिराया है और अब भारत एंटी सेटेलाइट शक्ति संपन्न देश बन गया है। अपने सन्देश में पीएम मोदी ने कहा की “भारत ने आज एक अभूतपूर्व सिद्धि हासिल की है। भारत में आज अपना नाम ‘स्पेस पावर’ के रूप में दर्ज करा दिया है। अब तक रूस, अमेरिका और चीन को ये दर्जा प्राप्त था, अब भारत को भी यह उपलब्धि हासिल की है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारा यह ऑपरेशन किसी भी प्रकार की संधि का उपयोग नहीं करता है, जिससे देश में सुरक्षा और शांति का वातावरण बनता है। पीएम ने कहा कि हमारा प्रयास शांति बनाए रखना है न कि युद्ध का माहौल बनाना। पीएम ने कहा कि कुछ समय पहले हमारे वैज्ञानिकों ने लो अर्थ आर्बिट में लगभग 300 किलोमीटर दूर घूम रहे जीवित उपग्रहों को मार गिराया है। ये ऑपरेशन सिर्फ 3 मिनट में पूरा किया गया है। पीएम ने कहा कि इसके लिए मिशन शक्ति के वैज्ञानिक बधाई के पात्र हैं। पीएम ने कहा कि हमने इस दौरान अंतरराष्ट्रीय कानून नहीं तोड़ा। परीक्षण किसी भी संधि का उल्लंघन नहीं करता है। यह मिशन सपनों की सुरक्षा के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। पीएम ने कहा कि आज की एंटी-सैटेलाइट मिसाइल इंडिया की सुरक्षा और विकास यात्रा के मद्देनजर, हम विश्व समुदाय को आश्वस्त करना चाहते हैं कि हमने जो भी नई क्षमता बनाई है, वह किसी के खिलाफ नहीं है, लेकिन यह एक सुरक्षात्मक पहल है।