घर में आने वाले गैस सिलेंडर को लेकर सरकार ने किया यह बड़ा बदलाव

आज देश भर में हर घर के अंदर आपको गैस सिलेंडर जरूर मिलेगा. यह गैस सिलेंडर आप फ़ोन, इंटरनेट या फिर गैस कंपनी के पास कॉपी लेजाकर भी बुक कर सकते हैं. बुकिंग के 2 से 7 दिन के भीतर गैस सिलेंडर आपके घर आ जाता हैं. ऐसे में अब बहुत सारी शियाक़तें आने लगी थी की, गैस सिलेंडर बुक होने के बाद लोगों को डिलीवर नहीं होता जबकि कंपनी डिलीवर शो कर रही हैं.. जिसका मतलब साफ़ था की, गैस सिलेंडर को आपके घर पहुँचाने वाला इंसान बाहर ही गैस सिलेंडर बेच देता था. ऐसे में फ्री की सब्सिडी कस्टमर के खाते में आ जाती थी तो ज्यादातर लोग इस घोटाले में भी चुप रहना पसंद करते थे. लेकिन क्या हो जब आपको सिलेंडर की बहुत ज्यादा जरूरत हो और आप सिलेंडर बुक करे और सिलेंडर आपके घर ही न पहुंचे? इसलिए अब सरकार ने इस घोटाले को रोकने के लिए एक नया तरीका निकाला हैं. अब आपके पास 1 नवंबर से सिलेंडर बुक करने के लिए एक मोबाइल नंबर गैस की कॉपी के साथ लिंक होना अनिवार्य कर दिया गया हैं. अगर पहले से फ़ोन या इंटरनेट से गैस बुक करते हैं तो आपको कुछ नया करने की जरूरत नहीं हैं. आप 1 नवंबर के बाद जैसे पहले सिलेंडर बुक किया करते थे, वैसे ही सिलेंडर बुक करना हैं. सिलेंडर बुक करने के बाद आपको एक OTP आएगा, वो OTP आपको सेव करके रखना हैं. जिस दिन सिलेंडर वाला आपके घर सिलेंडर देने आएगा, आपको यह OTP उसे दिखा देना हैं. इसी के साथ आपके सिलेंडर की डिलीवरी सफलता पूर्वक हो जाएगी और सरकार को भी यह सुनिश्चित हो जाएगा की जो सिलेंडर आपने बुक किया था वह आपके तक ही पहुंचा हैं, न की बीच में उसे किसी ने बेच दिया हैं. इससे पहले भी सरकार ने आधार कार्ड में सब्सिडी ट्रांसफर करने के बाद देश के लाखों करोड़ों रूपए बचा लिए थे. इस बार OTP वाली नई योजना की बात करें तो इससे उन लोगों को अब राहत मिलेगी जो सिलेंडर बुक तो करते थे, कंपनी डिलीवर भी दिखाती थी, लेकिन सिलेंडर आपकी रसोई तक कभी पहुंचता नहीं था.
 

घर में आने वाले गैस सिलेंडर को लेकर सरकार ने किया यह बड़ा बदलाव

आज देश भर में हर घर के अंदर आपको गैस सिलेंडर जरूर मिलेगा. यह गैस सिलेंडर आप फ़ोन, इंटरनेट या फिर गैस कंपनी के पास कॉपी लेजाकर भी बुक कर सकते हैं. बुकिंग के 2 से 7 दिन के भीतर गैस सिलेंडर आपके घर आ जाता हैं. ऐसे में अब बहुत सारी शियाक़तें आने लगी थी की, गैस सिलेंडर बुक होने के बाद लोगों को डिलीवर नहीं होता जबकि कंपनी डिलीवर शो कर रही हैं.. घर में आने वाले गैस सिलेंडर को लेकर सरकार ने किया यह बड़ा बदलाव जिसका मतलब साफ़ था की, गैस सिलेंडर को आपके घर पहुँचाने वाला इंसान बाहर ही गैस सिलेंडर बेच देता था. ऐसे में फ्री की सब्सिडी कस्टमर के खाते में आ जाती थी तो ज्यादातर लोग इस घोटाले में भी चुप रहना पसंद करते थे. लेकिन क्या हो जब आपको सिलेंडर की बहुत ज्यादा जरूरत हो और आप सिलेंडर बुक करे और सिलेंडर आपके घर ही न पहुंचे? इसलिए अब सरकार ने इस घोटाले को रोकने के लिए एक नया तरीका निकाला हैं. अब आपके पास 1 नवंबर से सिलेंडर बुक करने के लिए एक मोबाइल नंबर गैस की कॉपी के साथ लिंक होना अनिवार्य कर दिया गया हैं. अगर पहले से फ़ोन या इंटरनेट से गैस बुक करते हैं तो आपको कुछ नया करने की जरूरत नहीं हैं. आप 1 नवंबर के बाद जैसे पहले सिलेंडर बुक किया करते थे, वैसे ही सिलेंडर बुक करना हैं. सिलेंडर बुक करने के बाद आपको एक OTP आएगा, वो OTP आपको सेव करके रखना हैं. जिस दिन सिलेंडर वाला आपके घर सिलेंडर देने आएगा, आपको यह OTP उसे दिखा देना हैं. इसी के साथ आपके सिलेंडर की डिलीवरी सफलता पूर्वक हो जाएगी और सरकार को भी यह सुनिश्चित हो जाएगा की जो सिलेंडर आपने बुक किया था वह आपके तक ही पहुंचा हैं, न की बीच में उसे किसी ने बेच दिया हैं. घर में आने वाले गैस सिलेंडर को लेकर सरकार ने किया यह बड़ा बदलाव इससे पहले भी सरकार ने आधार कार्ड में सब्सिडी ट्रांसफर करने के बाद देश के लाखों करोड़ों रूपए बचा लिए थे. इस बार OTP वाली नई योजना की बात करें तो इससे उन लोगों को अब राहत मिलेगी जो सिलेंडर बुक तो करते थे, कंपनी डिलीवर भी दिखाती थी, लेकिन सिलेंडर आपकी रसोई तक कभी पहुंचता नहीं था.