मिडिया को दबाने वालो की लिस्ट में आया मोदी का नाम

Modi's name came in the list of those who suppress the media: मीडिया जो कि हमारे लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता है! ऐसे में एक लिस्ट सामने आई है जो कि दुनिया में मीडिया की आजादी को कम करने वालों की लिस्ट है और इसके अंदर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम शामिल है! प्रधानमंत्री मोदी के साथ साथ इस लिस्ट में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, किम जोंग, सी जिनपिंग समेत 37 नाम शामिल है यह लिस्ट रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स की तरफ से बनाई गई है! 5 साल के बाद सोमवार को इस लिस्ट को जारी किया गया है इससे पहले यह लिस्ट साल 2016 में जारी की गई थी! ग्लोबल प्रेस संस्था का कहना है कि यह लिस्ट के अंदर शामिल है 30 नेताओं में से 17 नाम पहली बार जोड़े गए कहा तो यह जा रहा है कि इन नेताओं ने ना सिर्फ अभिव्यक्ति पर रोक का प्रयास किया है बल्कि पत्रकारों को मनमाने ढंग से जेल भी भेजा है! इस लिस्ट में 19 देशों को रेड कलर में जोड़ा गया था! अर्थात इन देशों के अंदर पत्रकारिता के लिए आसिफ खराब हालत वाले देशों में से एक बताया गया जबकि 16 देश के अंदर ब्लैक कोडिंग भी दी गई है अर्थात यहां की स्थिति बेहद ही ज्यादा खराब है! गौरतलब है कि रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स को RSF के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि फ्रांसीसी में इसका नाम रिपोर्टर सा फ्रांतिए है! संस्था की ओर से जारी की गई लिस्ट में कहा गया है कि यह नाम प्रेस की आजादी पर लगातार हम ला कर रहे हैं इसे संस्थान ने गैलरी ऑफ ग्रिम पोट्रेट कहां है यानी कि निराशा बढ़ाने वाले चेहरों की गैलरी! अगर इस सूची में शामिल अन्य नामों की बात करें तो सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान, ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो, हंगरी के विक्टर ओरबान, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, सीरिया के बशर अल-असद, ईरान के सर्वोच्च नेता खमेनेई, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और बेलारूस के लुकाशेंको!
 

मिडिया को दबाने वालो की लिस्ट में आया मोदी का नाम

Modi's name came in the list of those who suppress the media: मीडिया जो कि हमारे लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता है! ऐसे में एक लिस्ट सामने आई है जो कि दुनिया में मीडिया की आजादी को कम करने वालों की लिस्ट है और इसके अंदर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम शामिल है! प्रधानमंत्री मोदी के साथ साथ इस लिस्ट में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान, किम जोंग, सी जिनपिंग समेत 37 नाम शामिल है यह लिस्ट रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स की तरफ से बनाई गई है! 5 साल के बाद सोमवार को इस लिस्ट को जारी किया गया है इससे पहले यह लिस्ट साल 2016 में जारी की गई थी! ग्लोबल प्रेस संस्था का कहना है कि यह लिस्ट के अंदर शामिल है 30 नेताओं में से 17 नाम पहली बार जोड़े गए कहा तो यह जा रहा है कि इन नेताओं ने ना सिर्फ अभिव्यक्ति पर रोक का प्रयास किया है बल्कि पत्रकारों को मनमाने ढंग से जेल भी भेजा है! इस लिस्ट में 19 देशों को रेड कलर में जोड़ा गया था! अर्थात इन देशों के अंदर पत्रकारिता के लिए आसिफ खराब हालत वाले देशों में से एक बताया गया जबकि 16 देश के अंदर ब्लैक कोडिंग भी दी गई है अर्थात यहां की स्थिति बेहद ही ज्यादा खराब है! गौरतलब है कि रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स को RSF के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि फ्रांसीसी में इसका नाम रिपोर्टर सा फ्रांतिए है! संस्था की ओर से जारी की गई लिस्ट में कहा गया है कि यह नाम प्रेस की आजादी पर लगातार हम ला कर रहे हैं इसे संस्थान ने गैलरी ऑफ ग्रिम पोट्रेट कहां है यानी कि निराशा बढ़ाने वाले चेहरों की गैलरी! अगर इस सूची में शामिल अन्य नामों की बात करें तो सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान, ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो, हंगरी के विक्टर ओरबान, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, सीरिया के बशर अल-असद, ईरान के सर्वोच्च नेता खमेनेई, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और बेलारूस के लुकाशेंको!