पाकिस्तानी मौलाना सांसद बोला- इजराइल के खिलाफ जिहाद ही समाधान, कश्मीर और फलीस्तीन के लिए गिरा दो परमाणु बम

Pakistan On Israel Palestine Conflict: फिलिस्तीन पर इस्राइली हमले के बीच पाकिस्तान ने अपने आका तुर्की के साथ साजिश रचनी शुरू कर दी है। पाकिस्तानी विदेश मंत्री फिलिस्तीन के बहाने तुर्की पहुंचे हैं और मुस्लिम देशों के खलीफा बनने का सपना देख रहे राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन से मुलाकात की है. इस बीच पाकिस्तानी सांसद मौलाना चित्राली ने इमरान सरकार से कहा कि जिहाद ही इजराइल के खिलाफ एकमात्र समाधान है। मौलाना चित्राली ने संसद में अपने भाषण में कहा कि सरकार को फिलिस्तीन और कश्मीर की आजादी के लिए परमाणु बम और मिसाइल का इस्तेमाल करने में संकोच नहीं करना चाहिए। चित्राली ने कहा, 'क्या हमने संग्रहालय में देखने के लिए परमाणु बम बनाए हैं? अगर हम फिलिस्तीन और कश्मीर को स्वतंत्र नहीं बना सकते हैं, तो हमें मिसाइल, परमाणु बम या विशाल सेना की कोई आवश्यकता नहीं है। ' [embed]https://twitter.com/nailainayat/status/1394658355755487238[/embed] दरअसल, पाकिस्तान और तुर्की दोनों फिलिस्तीन पर इजरायल के हमले को एक अवसर के रूप में ले रहे हैं। बंगाली से जूझ रहे पाकिस्तान ने अब फिलिस्तीन को कोरोना सहायता भेजने का ऐलान किया है. तुर्की और पाकिस्तान को उम्मीद है कि इससे उन्हें दुनिया भर के मुसलमानों की हमदर्दी हासिल होगी. साथ ही वे खुद को मुसलमानों का नेता साबित करने में सक्षम होंगे। आपको बता दें कि इजरायल और फिलीस्तीनी उग्रवादी समूह हमास के बीच हुए हमलों के दौरान मंगलवार को इजरायल और उसके कब्जे वाले इलाकों में फिलीस्तीनियों ने हड़ताल कर दी थी। उन्होंने यह कदम इजरायल की नीतियों के खिलाफ सामूहिक कार्रवाई के तौर पर उठाया है। इज़राइल ने मंगलवार को गाजा में चरमपंथियों पर कई हवाई हमले किए और छह मंजिला इमारत को गिरा दिया, जबकि चरमपंथियों ने इज़राइल में बड़ी संख्या में रॉकेट दागे। दोनों के बीच विवाद को खत्म हुए एक सप्ताह हो गया है और युद्ध थमने के कोई संकेत नहीं हैं।
 

पाकिस्तानी मौलाना सांसद बोला- इजराइल के खिलाफ जिहाद ही समाधान, कश्मीर और फलीस्तीन के लिए गिरा दो परमाणु बम

Pakistan On Israel Palestine Conflict: फिलिस्तीन पर इस्राइली हमले के बीच पाकिस्तान ने अपने आका तुर्की के साथ साजिश रचनी शुरू कर दी है। पाकिस्तानी विदेश मंत्री फिलिस्तीन के बहाने तुर्की पहुंचे हैं और मुस्लिम देशों के खलीफा बनने का सपना देख रहे राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन से मुलाकात की है. इस बीच पाकिस्तानी सांसद मौलाना चित्राली ने इमरान सरकार से कहा कि जिहाद ही इजराइल के खिलाफ एकमात्र समाधान है। मौलाना चित्राली ने संसद में अपने भाषण में कहा कि सरकार को फिलिस्तीन और कश्मीर की आजादी के लिए परमाणु बम और मिसाइल का इस्तेमाल करने में संकोच नहीं करना चाहिए। चित्राली ने कहा, 'क्या हमने संग्रहालय में देखने के लिए परमाणु बम बनाए हैं? अगर हम फिलिस्तीन और कश्मीर को स्वतंत्र नहीं बना सकते हैं, तो हमें मिसाइल, परमाणु बम या विशाल सेना की कोई आवश्यकता नहीं है। ' [embed]https://twitter.com/nailainayat/status/1394658355755487238[/embed] दरअसल, पाकिस्तान और तुर्की दोनों फिलिस्तीन पर इजरायल के हमले को एक अवसर के रूप में ले रहे हैं। बंगाली से जूझ रहे पाकिस्तान ने अब फिलिस्तीन को कोरोना सहायता भेजने का ऐलान किया है. तुर्की और पाकिस्तान को उम्मीद है कि इससे उन्हें दुनिया भर के मुसलमानों की हमदर्दी हासिल होगी. साथ ही वे खुद को मुसलमानों का नेता साबित करने में सक्षम होंगे। आपको बता दें कि इजरायल और फिलीस्तीनी उग्रवादी समूह हमास के बीच हुए हमलों के दौरान मंगलवार को इजरायल और उसके कब्जे वाले इलाकों में फिलीस्तीनियों ने हड़ताल कर दी थी। उन्होंने यह कदम इजरायल की नीतियों के खिलाफ सामूहिक कार्रवाई के तौर पर उठाया है। इज़राइल ने मंगलवार को गाजा में चरमपंथियों पर कई हवाई हमले किए और छह मंजिला इमारत को गिरा दिया, जबकि चरमपंथियों ने इज़राइल में बड़ी संख्या में रॉकेट दागे। दोनों के बीच विवाद को खत्म हुए एक सप्ताह हो गया है और युद्ध थमने के कोई संकेत नहीं हैं।