‘2024 में मोदी के खिलाफ परफेक्ट चेहरा हैं पवार’: संजय राउत का बयान, 3 दिन बाद ही PM मोदी से 50 मिनट मुलाकात

Pawar is the perfect face against Modi: महाराष्ट्र की सत्ता में साझीदार का और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के संस्थापक अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar ) ने अभी हाल ही में नई दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी (Modi) से मुलाकात की है. दोनों की यह बैठक 50 मिनट तक चली. हालांकि, इस बैठक का क्या मुद्दा रहा यह बात अभी तक साफ नहीं हुआ है. गौरतलब है कि यह सब तब हो रहा है जब 3 दिन पहले ही शिवसेना सांसद संजय राउत ने रावत ने शरद पवार को नरेंद्र मोदी के खिलाफ प्रधानमंत्री पद का उपयुक्त उम्मीदवार बताया था. https://twitter.com/PMOIndia/status/1416290535086583808 अभी हाल ही में शिवसेना मुखपत्र ‘सामना’ के एग्जीक्यूटिव एडिटर संजय राउत ने कहा था कि विपक्ष के पास 2024 लोकसभा चुनाव जीतने के चांस कम ही हैं. उन्होंने बुधवार (14 जून) को कहा था कि बिना किसी मजबूत चेहरे के नरेंद्र मोदी को हराने में विपक्ष शायद ही सफल हो. उन्होंने कहा था कि फ़िलहाल विपक्ष के पास नरेंद्र मोदी के खिलाफ कोई चेहरा ही नहीं है. उन्होंने 2024 लोकसभा चुनाव के लिए सभी विपक्षी पार्टियों को मिल-बैठ कर एक चेहरा ढूँढने की सलाह दी थी. इसके साथ ही संजय रावत ने शरद पवार का नाम सुझाते हुए कहा था कि वरिष्ठ होने के कारण वो 2024 में नरेंद्र मोदी के खिलाफ विपक्षी दलों के संयुक्त उम्मीदवार बनने की काबिलियत रखते हैं. हालाँकि, यह पहली बार नहीं है कि उन्होंने ऐसी बात कही है. इससे पहले भी उन्होंने शरद पवार को कॉन्ग्रेस नीत UPA गठबंधन का चेहरा बनाए जाने की वकालत की थी. लेकिन, 3 दिन बाद शरद राव पवार की पीएम मोदी से मुलाकात से अटकलों का बाजार गर्म हो गया है. गौरतलब है कि केंद्र में नए सहकारिता मंत्रालय के गठन और पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) को गृह के साथ-साथ इसकी भी कमान दिए जाने पर भी शरद पवार ने कहा था कि इससे महाराष्ट्र के सहकारिता आंदोलन पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. जबकि शिवसेना ने इस फैसले का समर्थन किया था. 25000 करोड़ रुपए के ‘महाराष्ट्र स्टेट कोऑपरेटिव बैंक (MSCB)’ घोटाला में अजित पवार का नाम भी सामने आया है.
 

‘2024 में मोदी के खिलाफ परफेक्ट चेहरा हैं पवार’: संजय राउत का बयान, 3 दिन बाद ही PM मोदी से 50 मिनट मुलाकात

Pawar is the perfect face against Modi: महाराष्ट्र की सत्ता में साझीदार का और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के संस्थापक अध्यक्ष शरद पवार ( Sharad Pawar ) ने अभी हाल ही में नई दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी ( Modi) से मुलाकात की है. दोनों की यह बैठक 50 मिनट तक चली. हालांकि, इस बैठक का क्या मुद्दा रहा यह बात अभी तक साफ नहीं हुआ है. गौरतलब है कि यह सब तब हो रहा है जब 3 दिन पहले ही शिवसेना सांसद संजय राउत ने रावत ने शरद पवार को नरेंद्र मोदी के खिलाफ प्रधानमंत्री पद का उपयुक्त उम्मीदवार बताया था. https://twitter.com/PMOIndia/status/1416290535086583808 अभी हाल ही में शिवसेना मुखपत्र ‘सामना’ के एग्जीक्यूटिव एडिटर संजय राउत ने कहा था कि विपक्ष के पास 2024 लोकसभा चुनाव जीतने के चांस कम ही हैं. उन्होंने बुधवार (14 जून) को कहा था कि बिना किसी मजबूत चेहरे के नरेंद्र मोदी को हराने में विपक्ष शायद ही सफल हो. उन्होंने कहा था कि फ़िलहाल विपक्ष के पास नरेंद्र मोदी के खिलाफ कोई चेहरा ही नहीं है. उन्होंने 2024 लोकसभा चुनाव के लिए सभी विपक्षी पार्टियों को मिल-बैठ कर एक चेहरा ढूँढने की सलाह दी थी. इसके साथ ही संजय रावत ने शरद पवार का नाम सुझाते हुए कहा था कि वरिष्ठ होने के कारण वो 2024 में नरेंद्र मोदी के खिलाफ विपक्षी दलों के संयुक्त उम्मीदवार बनने की काबिलियत रखते हैं. हालाँकि, यह पहली बार नहीं है कि उन्होंने ऐसी बात कही है. इससे पहले भी उन्होंने शरद पवार को कॉन्ग्रेस नीत UPA गठबंधन का चेहरा बनाए जाने की वकालत की थी. लेकिन, 3 दिन बाद शरद राव पवार की पीएम मोदी से मुलाकात से अटकलों का बाजार गर्म हो गया है. गौरतलब है कि केंद्र में नए सहकारिता मंत्रालय के गठन और पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ( Amit Shah) को गृह के साथ-साथ इसकी भी कमान दिए जाने पर भी शरद पवार ने कहा था कि इससे महाराष्ट्र के सहकारिता आंदोलन पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. जबकि शिवसेना ने इस फैसले का समर्थन किया था. 25000 करोड़ रुपए के ‘महाराष्ट्र स्टेट कोऑपरेटिव बैंक (MSCB)’ घोटाला में अजित पवार का नाम भी सामने आया है.