iCFDR द्वारा COVID-19 राहत के लिए आवश्यक राशन का वितरण किया गया।

आज करोना वैश्विक महामारी के चलते 14 अप्रेल को दिल्ली स्थित NGO इंडियन सेंटर ऑफ डेवलपमेंट एंड राइट्स के द्वारा पीएस आरआई बस स्टैंड, साकेत, ओखला मोड़ एमबी रोड बस स्टैंड और जेएमआई,जामिया नगर, नई दिल्ली के झुग्गी बस्ती वाले इलाके में एक विशाल स्तर पर दैनिक जीवन मे इस्तेमाल होने वाली सामग्री और घर के राशन का वितरण किया गया। iCFDR एक लोकोपकारी संस्था है स्वास्थ, शिक्षा, वातावरण और अधिकार से संबंधित छेत्रों में काम करती है। संस्था का उद्देश्य है कि अपने समाज मैं मौजूद सभी प्रकार के लोगों के लिए एक बेहतर जगह बनाना| इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए संस्था कई तरह की परियोजना पर काम करती है और साथ-साथ कैंपेनिंग कराती हैं| ऑर्गनाइजेशन के फाउंडर "रविंद्र विक्रम' की देखरेख में सारा सामान लोगों तक पहुंचाया गया| राशन में आटा, दाल, तेल, नमक, मसाला और चीनी इत्यादि सामान रखा गया| लगभग 15 दिन का राशन तैयार किया गया और 150 परिवारों में पहुंचाया गया| लगभग 1000 लोगों के खाने का इंतजाम किया गया| इसके साथ-साथ iCFDR टीम लोगों को कोविड-19 से संबंधित सभी जानकारी भी दे रही है ताकि लोग अपनी सुरक्षा कर सके और गलत जानकारी पर भरोसा ना करें| रविंद्र विक्रम का कहना है कि "इस वक्त यह बेहद जरूरी है कि जो लोग जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं वह खुद भी सावधानी बरतें और लोगों को जितना संभव हो सके उतनी जानकारी दें| भारत में ज्यादातर लोग गरीबी रेखा के नीचे हैं इसलिए हम सभी का कर्तव्य है कि हम उन सभी लोगों की जितनी हो सके उतनी सहायता करें"!
 

iCFDR द्वारा COVID-19 राहत के लिए आवश्यक राशन का वितरण किया गया।

आज करोना वैश्विक महामारी के चलते 14 अप्रेल को दिल्ली स्थित NGO इंडियन सेंटर ऑफ डेवलपमेंट एंड राइट्स के द्वारा पीएस आरआई बस स्टैंड, साकेत, ओखला मोड़ एमबी रोड बस स्टैंड और जेएमआई,जामिया नगर, नई दिल्ली के झुग्गी बस्ती वाले इलाके में एक विशाल स्तर पर दैनिक जीवन मे इस्तेमाल होने वाली सामग्री और घर के राशन का वितरण किया गया। iCFDR एक लोकोपकारी संस्था है स्वास्थ, शिक्षा, वातावरण और अधिकार से संबंधित छेत्रों में काम करती है। संस्था का उद्देश्य है कि अपने समाज मैं मौजूद सभी प्रकार के लोगों के लिए एक बेहतर जगह बनाना| इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए संस्था कई तरह की परियोजना पर काम करती है और साथ-साथ कैंपेनिंग कराती हैं| ऑर्गनाइजेशन के फाउंडर "रविंद्र विक्रम' की देखरेख में सारा सामान लोगों तक पहुंचाया गया| iCFDR द्वारा COVID-19 राहत के लिए आवश्यक राशन का वितरण किया गया। राशन में आटा, दाल, तेल, नमक, मसाला और चीनी इत्यादि सामान रखा गया| लगभग 15 दिन का राशन तैयार किया गया और 150 परिवारों में पहुंचाया गया| लगभग 1000 लोगों के खाने का इंतजाम किया गया| इसके साथ-साथ iCFDR टीम लोगों को कोविड-19 से संबंधित सभी जानकारी भी दे रही है ताकि लोग अपनी सुरक्षा कर सके और गलत जानकारी पर भरोसा ना करें| रविंद्र विक्रम का कहना है कि "इस वक्त यह बेहद जरूरी है कि जो लोग जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं वह खुद भी सावधानी बरतें और लोगों को जितना संभव हो सके उतनी जानकारी दें| भारत में ज्यादातर लोग गरीबी रेखा के नीचे हैं इसलिए हम सभी का कर्तव्य है कि हम उन सभी लोगों की जितनी हो सके उतनी सहायता करें"!