अकेला ही आमरण अनशन पर बैठा युवक, सरकार से थी मांग वापिस लो कानून

0
165
SC-ST Act Kanpur News

दिल्ली, इंडियावायरलस: भाजपा ने अपनी पिछली सरकार में एससी-एसटी एक्ट पारित किया था! केंद्र सरकार के इस एससी-एसटी फैसले को लेकर उत्तरप्रदेश में विरोध हो रहा है! इस फैसले के विरोध में कही तो लोगो ने पोस्टर लगाए तो कही लिखा है कि इस गाँव में आकर वोट मांग कर हमे शर्मिंदा ना करे!

हाल ही में कानपूर में यही आलम देखने को मिला है! इस फैसले के विरोध में एक युवक आमरण अनशन पर बैठा है वो भी अकेला! दावा किया जा रहा है कि युवक अकेला ही अनशन पर है और कानून वापिस लेने की मांग कर रहा है!

अनशन पर बैठने वाले युवक का नाम किशन भट्ट बताया जा रहा है! जोकि कानपूर के बर्रा 2 इलाके के रहने वाले है! दरअसल, जब किशन को एससी-एसटी के कानून के बारे में पता चला तो वह साथियों के साथ जगह जगह जाकर इसके प्रदर्शन कर रहा था!

परन्तु जब इतनी मेहनत करने के बावजूद भी उसकी बात नहीं सुनी गयी! तो कानपूर के दक्षिणी शास्त्री चौक पर अनशन के लिए बैठ गया! बताया जा रहा है कि अकेला ही शास्त्री चौक पर आमरण अनशन के लिए बैठ गया!

मिली हुई जानकारी के चलते बताया जा रहा है कि सरकार के द्वारा एससी-एसटी कानून पारित किया गया तो जैसे किशन को इसके बारे में मालूम हुआ! उसने एससी-एसटी के कानून को वापिस लेने के लिए आमरण अनशन धारण किया!

लेकिन जैसे ही उसके अनशन को 24 घंटे हुए तो उसकी तबियत बिगड़ने लगी! तबियत बिगड़ते देख दोस्तों ने किशन को समझा कर उसका अनशन समाप्त कर दिया!