29 C
Delhi
Thursday, October 29, 2020

“श्री राम” मंदिर का निर्माण देख शिवसेना ने खोया आपा, बोला मंदिर बनाने से अच्छा होता….

कभी राम मंदिर आंदोलन का सक्रिय हिस्सा रही शिवसेना ने मंदिर निर्माण के लिए अलग रुख अपनाया। शिवसेना के मुख्य रणनीतिकार और राज्यसभा सांसद ने कहा कि यह राम मंदिर और भारत-पाकिस्तान जैसे मुद्दों को देखने का नहीं है, बल्कि कोरोना वायरस से लड़ने का है। शिवसेना ने कुछ महीने पहले भाजपा छोड़ दी और कांग्रेस के साथ महाराष्ट्र में सरकार बनाई।

शिवसेना सांसद राउत ने कहा, ‘हमारा पूरा ध्यान कोरोना के खिलाफ लड़ाई पर है। अवशेषों को देखने वाले और भी लोग हैं। अभी राम मंदिर, भारत और पाकिस्तान जैसे मुद्दों को अलग रखा जाना चाहिए। अभी देश के सामने सबसे बड़ा संकट कोरोना वायरस है और इसे संबोधित किया जाना चाहिए।

दरअसल, तालाबंदी के कारण कुछ दिनों तक बंद रहने के बाद अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण फिर से शुरू हो गया है। मंदिर के लिए जन्मस्थान की भूमि को समतल किया जा रहा है। बुधवार को समतल करने के दौरान, कई मूर्तियां, पुरावशेष और पौराणिक अवशेष वहां पाए गए हैं, जो पहली बार इस स्थान पर एक मंदिर होने की ओर इशारा करते हैं।

दूसरी ओर, राम जन्मभूमि परिसर को राम मंदिर के एक प्रामाणिक तथ्य के रूप में समतल करने के दौरान पाए गए मंदिर के पुरावशेषों को देखते हुए, विहिप ने उन कट्टरपंथियों को करारा जवाब दिया है, जिनका राम मंदिर के प्रति नकारात्मक रवैया है और जो तुष्टिकरण करते हैं राजनीति। विहिप ने कहा कि मंदिर स्थल को समतल करने में, प्राचीन मंदिर के दुर्लभ पुरावशेष मिल रहे हैं, जो साबित करते हैं कि राम मंदिर को लेकर हिंदुओं के 76 वर्षों के संघर्ष पूरी तरह से सबूतों और तथ्यों से भरे पड़े हैं।

Latest news

अक्षय की शादी को लेकर थी यह बड़ी शर्त जिसे शिल्पा कर दिया था इंकार

अक्षय कुमार और ट्विंकल खन्ना की शादी को लगभग 19 साल पुरे हो चुके हैं. एक तरफ जहां अक्षय कुमार खतरों के खिलाड़ी कहलाते...

क्रिकेट के बाद फिल्मों में अपनी नई पारी की शुरुआत करेंगे इरफ़ान पठान

क्रिकेट की दुनिया में अपना नाम कमा चुके इरफ़ान पठान अब एक तमिल फिल्म से डेब्यू करने जा रहें हैं. इस फिल्म की घोषणा...

कांग्रेस के आचार्य प्रमोद कृष्णम के बिगड़े बोल, शिवराज सिंह चौहान को कहा- कंस और शकुनि और …

मध्यप्रदेश में नेता अब एक दूसरे पर बदजुबानी के साथ उल्ल-जलूल ब्यान दे रहें हैं. इसका मुख्य कारण मध्यप्रदेश में होने वाले उप-चुनाव भी...

NHM के नाम पर महाराष्ट्र में 400 करोड़ रुपये का हुआ भ्रष्टाचार: फडणवीस

केंद्र सरकार की योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (NHM) के तहत संविदा कर्मचारियों को स्थायी करने के लिए महा अघाड़ी गठबंधन की सरकार पर लगभग...

Related news

अक्षय की शादी को लेकर थी यह बड़ी शर्त जिसे शिल्पा कर दिया था इंकार

अक्षय कुमार और ट्विंकल खन्ना की शादी को लगभग 19 साल पुरे हो चुके हैं. एक तरफ जहां अक्षय कुमार खतरों के खिलाड़ी कहलाते...

क्रिकेट के बाद फिल्मों में अपनी नई पारी की शुरुआत करेंगे इरफ़ान पठान

क्रिकेट की दुनिया में अपना नाम कमा चुके इरफ़ान पठान अब एक तमिल फिल्म से डेब्यू करने जा रहें हैं. इस फिल्म की घोषणा...

कांग्रेस के आचार्य प्रमोद कृष्णम के बिगड़े बोल, शिवराज सिंह चौहान को कहा- कंस और शकुनि और …

मध्यप्रदेश में नेता अब एक दूसरे पर बदजुबानी के साथ उल्ल-जलूल ब्यान दे रहें हैं. इसका मुख्य कारण मध्यप्रदेश में होने वाले उप-चुनाव भी...

NHM के नाम पर महाराष्ट्र में 400 करोड़ रुपये का हुआ भ्रष्टाचार: फडणवीस

केंद्र सरकार की योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (NHM) के तहत संविदा कर्मचारियों को स्थायी करने के लिए महा अघाड़ी गठबंधन की सरकार पर लगभग...
- Advertisement -