कुश्ती के पहले ही मैच में हारकर बाहर हुई सोनम मालिक, ब्रॉन्ज जीतने का भी मौका गंवाया

Sonam Malik was out after losing in the very first match: टोक्यो ओलिंपिक (Olympic) 2020 के 12वे दिन भारत के लिए कुश्ती में अच्छी शुरुआत नहीं हुई है. भारत के लिए फ्रीस्टाइल कुश्ती में सबसे पहले महिलाओं के 62 किलोग्राम वर्ग में उतरी 19 साल की युवा खिलाड़ी सोनम मलिक को मंगोलिया के पहलवान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा. मंगोलिया की पहलवान बोलोरतुया ने सोनम को आखिरी 35 सेकेंड में जमाए 2 पॉइंट्स के दम पर हरा दिया. मुकाबला तो 2-2 से बराबर रहा, लेकिन मंगोलियाई पहलवान ने एक साथ दो पॉइंट्स हासिल कर लिए, जिसके आधार पर उसे जीत मिली और वह क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई. हालांकि, सोनम मलिक (Sonam Malik) ने शुरुआत से ही मंगोलिया की अनुभवी पहलवान को किसी भी तरह की बढ़त नहीं लेने दी लेकिन खुद सोनम ने भी कोई बड़ा दांव नहीं लगाया, लेकिन अपने जबरदस्त डिफेंस बाउट में अपना दबदबा बनाए रखा. इस दौरान सोनम ने मंगोलियाई पहलवान के खिलाफ लगातार दो बार मैट से बाहर धकेलते हुए 1-1 कर कुल 2 पॉइंट हासिल किए. बाउट में लंबे समय तक 2-0 की बढ़त हासिल करने वाली सोनम को हालांकि, आखिरी 35 सेकेंड में अनुभवी मंगोलियाई पहलवान का एक दांव भारी पड़ गया. एशियन गेम्स की सिल्व मेडलिस्ट बोलोरतुया ने सोनम को मैट पर पटकते हुए एक साथ 2 पॉइंट्स हासिल कर लिए और बराबरी हासिल की. इसके बाद सोनम और कोई पॉइंट हासिल नहीं कर सकी और एक दांव में ज्यादा पॉइंट हासिल करने के कारण मंगोलियाई पहलवान को विजेता घोषित किया गया. इस हार के बावजूद युवा सोनम के पास रेपेचेज से ब्रॉन्ज मेडल तक पहुंचने का मौका था, लेकिन उसके लिए मंगोलियाई पहलवान का फाइनल तक पहुंचना जरूरी था पर Pये भी संभव नहीं हो सका. क्वार्टर फाइनल मुकाबले में बोलोरतुया को 2018 की विश्व चैंपियन और दूसरी सीड बुल्गारिया की तैयब मुस्तफा ने हरा दिया, जिसके कारण वह बाहर हो गईं और सोनम का सफर भी वहीं खत्म हो गया. भारत को अब मेडल के लिये बाकी पहलवानों से उम्मीद है.
 

कुश्ती के पहले ही मैच में हारकर बाहर हुई सोनम मालिक, ब्रॉन्ज जीतने का भी मौका गंवाया

Sonam Malik was out after losing in the very first match: टोक्यो ओलिंपिक ( Olympic) 2020 के 12वे दिन भारत के लिए कुश्ती में अच्छी शुरुआत नहीं हुई है. भारत के लिए फ्रीस्टाइल कुश्ती में सबसे पहले महिलाओं के 62 किलोग्राम वर्ग में उतरी 19 साल की युवा खिलाड़ी सोनम मलिक को मंगोलिया के पहलवान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा. मंगोलिया की पहलवान बोलोरतुया ने सोनम को आखिरी 35 सेकेंड में जमाए 2 पॉइंट्स के दम पर हरा दिया. मुकाबला तो 2-2 से बराबर रहा, लेकिन मंगोलियाई पहलवान ने एक साथ दो पॉइंट्स हासिल कर लिए, जिसके आधार पर उसे जीत मिली और वह क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई. हालांकि, सोनम मलिक ( Sonam Malik) ने शुरुआत से ही मंगोलिया की अनुभवी पहलवान को किसी भी तरह की बढ़त नहीं लेने दी लेकिन खुद सोनम ने भी कोई बड़ा दांव नहीं लगाया, लेकिन अपने जबरदस्त डिफेंस बाउट में अपना दबदबा बनाए रखा. इस दौरान सोनम ने मंगोलियाई पहलवान के खिलाफ लगातार दो बार मैट से बाहर धकेलते हुए 1-1 कर कुल 2 पॉइंट हासिल किए. बाउट में लंबे समय तक 2-0 की बढ़त हासिल करने वाली सोनम को हालांकि, आखिरी 35 सेकेंड में अनुभवी मंगोलियाई पहलवान का एक दांव भारी पड़ गया. एशियन गेम्स की सिल्व मेडलिस्ट बोलोरतुया ने सोनम को मैट पर पटकते हुए एक साथ 2 पॉइंट्स हासिल कर लिए और बराबरी हासिल की. इसके बाद सोनम और कोई पॉइंट हासिल नहीं कर सकी और एक दांव में ज्यादा पॉइंट हासिल करने के कारण मंगोलियाई पहलवान को विजेता घोषित किया गया. इस हार के बावजूद युवा सोनम के पास रेपेचेज से ब्रॉन्ज मेडल तक पहुंचने का मौका था, लेकिन उसके लिए मंगोलियाई पहलवान का फाइनल तक पहुंचना जरूरी था पर Pये भी संभव नहीं हो सका. क्वार्टर फाइनल मुकाबले में बोलोरतुया को 2018 की विश्व चैंपियन और दूसरी सीड बुल्गारिया की तैयब मुस्तफा ने हरा दिया, जिसके कारण वह बाहर हो गईं और सोनम का सफर भी वहीं खत्म हो गया. भारत को अब मेडल के लिये बाकी पहलवानों से उम्मीद है.