मोदी का रास्ता रोकना इस बार पाकिस्तान के लिए पड़ा महंगा, भारत ने उठाया ये कदम

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद से ही पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान भड़का हुआ है। इसी वजह से पाक अब भारत के खिलाफ तरह-तरह के दांव चल रहा है जिससे परेशानी हो सके। अभी मोदी सरकार ने पाकिस्तान से उसके विमान क्षेत्र के इस्तेमाल की इजाजत मांगी तो उसने मना कर दिया। इससे पहले भी पाक कई बार ऐसा ही फैसला ले चुका है। हालांकि इस बार पाकिस्तान को मोदी के विमान को रास्ता न देना महंगा पड़ा गया है। भारत सरकार ने ये बड़ा कदम उठा लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सऊदी अरब की यात्रा के लिए जाना था। वहां जाने के लिए जो हवाई रूट है वो पाकिस्तान से होकर जाता है। इसी वजह से भारत सरकार ने मोदी के विशेष विमान के लिए रास्ता मांगा था। हालांकि पाकिस्तान ने रास्ता देने से इनकार दिया। इससे पहले भी पाकिस्तान कई बार पीएम मोदी के विमान को रास्ता देने से मना कर चुका है। पाकिस्तान को इस बार मोदी के विमान को रास्ता न देना महंगा पड़ गया। पाकिस्तान लगातार भारत के प्रधानमंत्री को अपना उड़ान क्षेत्र का इस्तेमाल नहीं करने दे रहा था। इस बार भारत ने भी बड़ा कदम उठा लिया। भारत पाकिस्तान के इस फैसले के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय नागर विमानन संगठन यानि आईसीएओ चला गया है। भारत ने पाकिस्तान की शिकायत इस अन्तरराष्ट्रीय संगठन में कर दी है। आईसीएओ के पास ये अधिकार है कि वो दूसरे देशों को विमान क्षेत्र के इस्तेमाल की इजाजत दे सकता है।
 

मोदी का रास्ता रोकना इस बार पाकिस्तान के लिए पड़ा महंगा, भारत ने उठाया ये कदम

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद से ही पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान भड़का हुआ है। इसी वजह से पाक अब भारत के खिलाफ तरह-तरह के दांव चल रहा है जिससे परेशानी हो सके। अभी मोदी सरकार ने पाकिस्तान से उसके विमान क्षेत्र के इस्तेमाल की इजाजत मांगी तो उसने मना कर दिया। इससे पहले भी पाक कई बार ऐसा ही फैसला ले चुका है। हालांकि इस बार पाकिस्तान को मोदी के विमान को रास्ता न देना महंगा पड़ा गया है। भारत सरकार ने ये बड़ा कदम उठा लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सऊदी अरब की यात्रा के लिए जाना था। वहां जाने के लिए जो हवाई रूट है वो पाकिस्तान से होकर जाता है। इसी वजह से भारत सरकार ने मोदी के विशेष विमान के लिए रास्ता मांगा था। हालांकि पाकिस्तान ने रास्ता देने से इनकार दिया। इससे पहले भी पाकिस्तान कई बार पीएम मोदी के विमान को रास्ता देने से मना कर चुका है। पाकिस्तान को इस बार मोदी के विमान को रास्ता न देना महंगा पड़ गया। पाकिस्तान लगातार भारत के प्रधानमंत्री को अपना उड़ान क्षेत्र का इस्तेमाल नहीं करने दे रहा था। इस बार भारत ने भी बड़ा कदम उठा लिया। भारत पाकिस्तान के इस फैसले के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय नागर विमानन संगठन यानि आईसीएओ चला गया है। भारत ने पाकिस्तान की शिकायत इस अन्तरराष्ट्रीय संगठन में कर दी है। आईसीएओ के पास ये अधिकार है कि वो दूसरे देशों को विमान क्षेत्र के इस्तेमाल की इजाजत दे सकता है।