योगी राज में सामने सामने आया अब तक का सबसे बड़ा चिट फण्ड घोटाला रकम इतनी बड़ी की उड़ जायेंगे होश

हापुड़ के गढ़मुक्तेश्वर के पास एक गांव है चाँदनेर, वहां का एक व्यक्ति है जिसका नाम अशोक है जो पैसे ब्याज पर लेता है उसपर 4-5% प्रतिमाह की दर से ब्याज देता है, बोले तो या तो आप 1 लाख मूल जमा करके ₹5 हज़ार प्रतिमाह ब्याज लेते रहिये अथवा 18 महीने में सीधा पैसे ही डबल ले लीजिए, लगभग 7-8 साल से आसपास के सभी ग्रामीणों की मौज आ रही थी, घर में 1 लाख हों तो जमा कर आओ 18 महीने में 2 लाख और फिर वहीं जमा रहने दो तो 18 महीने बाद सीधे 4 लाख.. आलम यह हुआ की लोगों ने अपने खेत (जमीन), बाग, भैंस तक बेचकर हज़ारों से लाखों तक उसके यहां जमा कर डाले, ब्याज के लालच में हारी बीमारी में रिश्तेदारों तक को पैसा देना बंद कर दिया, आस-पास के एक-एक गांव से लगभग कई कई करोड़ रुपया जमा.. 5 लाख जमा करो और मस्त 25 हज़ार महीना ब्याज खाओ, NCR के नोयडा, ग़ाज़ियाबाद के जितने भी इसी चेन के पैसा डबल करने वाले व्यापारी थे सबका पैसा उसी के यहां जमा था, बड़े बड़े बदमाशों का भी. फिर आया करोना हुआ लॉकडाउन, सबको पैसे की चिंता हुई, अब सब लगे पैसे मांगने...वो कहाँ से दे क्यूंकि वो तो 50 लाख इन्हीं से लिये और 10 लाख इन्हीं में ब्याज में बांट दिए के रूल पर चलता था. "आज, कल, परसों....पैसा मरा मत मानो" टाइप बहानेबाजी शुरू हुई और जून आते आते ये हाल है की सेठ जी के घर पुलिस का पहरा है और सेठजी घोषणा कर चुके हैं की उनके पार्टनर ने घाटा कर दिया है पैसे निल..... आपकी जानकारी के लिए बता दू इस तरह से दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 11 में भी अशोक नाम के व्यक्ति ने इसी पैटर्न को आधार बना के लोगो के करोड़ो रूपये ठग लिए थे इसके अलावा हरियाणा के रोहतक में भी इस तरह की ठगी को अंजाम दिया जा चूका है और अब ये हापुड़ में चाँदनेर गांव के अशोक नाम के ठग ने यहां की भोली भली जनता को ठग लिया है ये सब हुआ थाना बहादुरगढ़ से बस 100 मीटर की दुरी पर एक मध्यम फैमिली के लोग 7,8 लाख में लड़की की शादी करने वाले थे तो बेटी ने कहा की 7,8 लाख में कौनसा घर मिलेगा पैसा चाँदनेर के अशोक को दे दो भले साल भर बाद शादी कर देना पर 15 लाख में अच्छी करना, बापू ने दबाव में दे दिया.. सुना है कल लड़की की मां का हाथ तोड़ दिया है, कुछ सेठ लोगो की मोटी रकम लगी हुई थी सूत्रों से पता चला है की वो अब मेरठ अस्पताल में भर्ती है और सबसे हैरान करने वाली बात ये है की चाँदनेर गांव के और आस पास के ग्रामीणों को लगता है की उनके पैसे अभी भी मिलेंगे वो इस भरम में इस हद्द तक आगे बढ़ गए है की जब पुलिस ने उसपे सिकंजा कसने की सोची तो गांव वाले ही अपनी तरफ से राजीनामा देके उसे छुड़ा लाये क्योंकि उन्हें लगता है की ये बाहर रहा तो हमारे पैसे तो मिल ही जायेंगे अशोक नाम के इस व्यक्ति ने आप सोच भी नहीं सकते की इसने इतनी बड़ी रकम का घोटाला किया है लोग अंदाज़न लगभग 45-50 अरब मतलब 5000 करोड़ रुपये का हिसाब बताते हैं, और सबसे बड़ी बात ये है की ये सारा खेल वो थाना बहादुरगढ़ जनपद हापुड़ उत्तर प्रदेश की एक दम नाक के निचे बैठ के पूरी शानो शौकत से चला रहा था यहां हमे पुलिस से भी सवाल करने चाहिए की आखिर उन्होंने इतने करीब होते हुए इस मामले को संज्ञान में क्यों नहीं लिया क्यों अशोक पर समय रहते कोई कार्यवाही नहीं की और अभी भी पुलिस इस मामले में लापरवाही करती नजर आ रही है समय रहते उसे हिरासत में लेके उससे कठोर पूछताछ की जानी चाहिए और पता करे की उसके साथ इस घोटाले में और कौन कौन जिम्मेदार है और ग्रामीणों के साथ हुए घोटाले में लूटी हुई रकम को उन्हें जल्द से जल्द दिलाने का भरोशा देना चाहिए अंत में आपसे इतना निवेदन करता हूँ की आपके पैसे लगे है या नहीं पर इस पोस्ट को पढ़कर अपने दोस्तों में शेयर जरूर करे आपका एक शेयर गरीब गांव वालो के पैसे दिलवाने में मददगार शाबित होगा और अगर आप Twitter या Facebook चलते हो तो उसपे #ArrestAshok और #Chandnervillagescame इन हैसटैग के साथ शेयर करे
 

योगी राज में सामने सामने आया अब तक का सबसे बड़ा चिट फण्ड घोटाला रकम इतनी बड़ी की उड़ जायेंगे होश

हापुड़ के गढ़मुक्तेश्वर के पास एक गांव है चाँदनेर, वहां का एक व्यक्ति है जिसका नाम अशोक है जो पैसे ब्याज पर लेता है उसपर 4-5% प्रतिमाह की दर से ब्याज देता है, बोले तो या तो आप 1 लाख मूल जमा करके ₹5 हज़ार प्रतिमाह ब्याज लेते रहिये अथवा 18 महीने में सीधा पैसे ही डबल ले लीजिए, लगभग 7-8 साल से आसपास के सभी ग्रामीणों की मौज आ रही थी, घर में 1 लाख हों तो जमा कर आओ 18 महीने में 2 लाख और फिर वहीं जमा रहने दो तो 18 महीने बाद सीधे 4 लाख.. आलम यह हुआ की लोगों ने अपने खेत (जमीन), बाग, भैंस तक बेचकर हज़ारों से लाखों तक उसके यहां जमा कर डाले, ब्याज के लालच में हारी बीमारी में रिश्तेदारों तक को पैसा देना बंद कर दिया, आस-पास के एक-एक गांव से लगभग कई कई करोड़ रुपया जमा.. 5 लाख जमा करो और मस्त 25 हज़ार महीना ब्याज खाओ, NCR के नोयडा, ग़ाज़ियाबाद के जितने भी इसी चेन के पैसा डबल करने वाले व्यापारी थे सबका पैसा उसी के यहां जमा था, बड़े बड़े बदमाशों का भी. फिर आया करोना हुआ लॉकडाउन, सबको पैसे की चिंता हुई, अब सब लगे पैसे मांगने...वो कहाँ से दे क्यूंकि वो तो 50 लाख इन्हीं से लिये और 10 लाख इन्हीं में ब्याज में बांट दिए के रूल पर चलता था. "आज, कल, परसों....पैसा मरा मत मानो" टाइप बहानेबाजी शुरू हुई और जून आते आते ये हाल है की सेठ जी के घर पुलिस का पहरा है और सेठजी घोषणा कर चुके हैं की उनके पार्टनर ने घाटा कर दिया है पैसे निल..... आपकी जानकारी के लिए बता दू इस तरह से दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 11 में भी अशोक नाम के व्यक्ति ने इसी पैटर्न को आधार बना के लोगो के करोड़ो रूपये ठग लिए थे इसके अलावा हरियाणा के रोहतक में भी इस तरह की ठगी को अंजाम दिया जा चूका है और अब ये हापुड़ में चाँदनेर गांव के अशोक नाम के ठग ने यहां की भोली भली जनता को ठग लिया है ये सब हुआ थाना बहादुरगढ़ से बस 100 मीटर की दुरी पर एक मध्यम फैमिली के लोग 7,8 लाख में लड़की की शादी करने वाले थे तो बेटी ने कहा की 7,8 लाख में कौनसा घर मिलेगा पैसा चाँदनेर के अशोक को दे दो भले साल भर बाद शादी कर देना पर 15 लाख में अच्छी करना, बापू ने दबाव में दे दिया.. सुना है कल लड़की की मां का हाथ तोड़ दिया है, कुछ सेठ लोगो की मोटी रकम लगी हुई थी सूत्रों से पता चला है की वो अब मेरठ अस्पताल में भर्ती है और सबसे हैरान करने वाली बात ये है की चाँदनेर गांव के और आस पास के ग्रामीणों को लगता है की उनके पैसे अभी भी मिलेंगे वो इस भरम में इस हद्द तक आगे बढ़ गए है की जब पुलिस ने उसपे सिकंजा कसने की सोची तो गांव वाले ही अपनी तरफ से राजीनामा देके उसे छुड़ा लाये क्योंकि उन्हें लगता है की ये बाहर रहा तो हमारे पैसे तो मिल ही जायेंगे अशोक नाम के इस व्यक्ति ने आप सोच भी नहीं सकते की इसने इतनी बड़ी रकम का घोटाला किया है लोग अंदाज़न लगभग 45-50 अरब मतलब 5000 करोड़ रुपये का हिसाब बताते हैं, और सबसे बड़ी बात ये है की ये सारा खेल वो थाना बहादुरगढ़ जनपद हापुड़ उत्तर प्रदेश की एक दम नाक के निचे बैठ के पूरी शानो शौकत से चला रहा था यहां हमे पुलिस से भी सवाल करने चाहिए की आखिर उन्होंने इतने करीब होते हुए इस मामले को संज्ञान में क्यों नहीं लिया क्यों अशोक पर समय रहते कोई कार्यवाही नहीं की और अभी भी पुलिस इस मामले में लापरवाही करती नजर आ रही है समय रहते उसे हिरासत में लेके उससे कठोर पूछताछ की जानी चाहिए और पता करे की उसके साथ इस घोटाले में और कौन कौन जिम्मेदार है और ग्रामीणों के साथ हुए घोटाले में लूटी हुई रकम को उन्हें जल्द से जल्द दिलाने का भरोशा देना चाहिए अंत में आपसे इतना निवेदन करता हूँ की आपके पैसे लगे है या नहीं पर इस पोस्ट को पढ़कर अपने दोस्तों में शेयर जरूर करे आपका एक शेयर गरीब गांव वालो के पैसे दिलवाने में मददगार शाबित होगा और अगर आप Twitter या Facebook चलते हो तो उसपे #ArrestAshok और #Chandnervillagescame इन हैसटैग के साथ शेयर करे