बेटे की खोज में देर रात मुनव्वर राना के घर पहुंची यूपी पुलिस, तलाशी लेने पर परिवार के लोग नाराज

लखनऊ और रायबरेली पुलिस मशहूर शायर मुनव्वर राणा के बेटे तबरेज को गिरफ्तार करने के लिए उनके घर पर पहुंच गई.गुरुवार की देर रात करीब 2:00 बजे स्थित एफिल टावर ढींगरा अपार्टमेंट में उनके फ्लैट पर छापा मारा. इस दौरान लखनऊ और रायबरेली पुलिस ने फ्लैट की तलाशी ली लेकिन तबरेज नहीं मिला. इस दौरान तबरेज के परिजनों ने कहा कि पुलिस ने उनके घर में जमकर तांडव मचाया और सभी के मोबाइल फोन छीन लिए. इस दौरान पुलिस प्रशासन ने महिलाओं के साथ अभद्रता भी की. मनोवर राणा और उनकी बेटी ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं साथ ही पुलिस के इस बर्ताव से खासे नाराज हैं. रायबरेली जिले के सदर कोतवाल का दावा है कि 28 जून को शायर मुनव्वर राना के बेटे तबरेज पर हुआ जानलेवा हमला फर्जी था. तब उसने अपने प्रतिनिधियों को फसाने के लिए खुद पर ही गोली चलवाई थी. रायबरेली पुलिस ने तबरेज की तरफ से एफआईआर दर्ज किए मुकदमे में उल्टा तबरेज राणा को ही मुलजिम दिया है. इस मुकदमे में तबीयत की गिरफ्तारी को लेकर रायबरेली पुलिस ने छापा मारा है. क्या है पूरा मामला 28 जून को मनोवर राणा के बेटे तबरेज राणा ने रायबरेली में सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था कि वह अपनी कार से त्रिपुला चौराहे के पास स्थित पेट्रोल पंप से डीजल लेकर निकल रहे थे. तभी एक बाइक पर सवार दो युवकों ने कार पर फायरिंग कर दी तबरेज का कहना है कि वह अपने लाइसेंसी गन लेकर नीचे उतरे तो नकाबपोश बदमाश तब तक भाग चुके थे. इसकी जांच के लिए पुलिस ने पेट्रोल पंप के सीसीटीवी फुटेज को जांचा तो पता चला कि यह दावा पूरी तरह से फर्जी है. खुद तबरेज ने अपने चाचा और चचेरे भाइयों को फसाने के लिए मुकदमा दर्ज कराया था. मुनव्वर ने बताया था खुद और बेटे की जान को है खतरा कुछ दिनों पहले ही शायर मुनव्वर राणा ने बेटे तबरेज पर जानलेवा हमला होने के बाद रायबरेली पुलिस से जान की सुरक्षा की गुहार लगाते हुए कहा था कि पुश्तैनी जमीन के लिए मेरे भतीजे मेरी हत्या की साजिश रच रहे हैं. वह मेरी जान ले लेंगे उन्होंने कहा था कि अगर रायबरेली पुलिस सक्रिय नहीं हुई तो उनकी हत्या हो सकती हैं.
 

बेटे की खोज में देर रात मुनव्वर राना के घर पहुंची यूपी पुलिस, तलाशी लेने पर परिवार के लोग नाराज

लखनऊ और रायबरेली पुलिस मशहूर शायर मुनव्वर राणा के बेटे तबरेज को गिरफ्तार करने के लिए उनके घर पर पहुंच गई.गुरुवार की देर रात करीब 2:00 बजे स्थित एफिल टावर ढींगरा अपार्टमेंट में उनके फ्लैट पर छापा मारा. इस दौरान लखनऊ और रायबरेली पुलिस ने फ्लैट की तलाशी ली लेकिन तबरेज नहीं मिला. इस दौरान तबरेज के परिजनों ने कहा कि पुलिस ने उनके घर में जमकर तांडव मचाया और सभी के मोबाइल फोन छीन लिए. इस दौरान पुलिस प्रशासन ने महिलाओं के साथ अभद्रता भी की. मनोवर राणा और उनकी बेटी ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए हैं साथ ही पुलिस के इस बर्ताव से खासे नाराज हैं. रायबरेली जिले के सदर कोतवाल का दावा है कि 28 जून को शायर मुनव्वर राना के बेटे तबरेज पर हुआ जानलेवा हमला फर्जी था. तब उसने अपने प्रतिनिधियों को फसाने के लिए खुद पर ही गोली चलवाई थी. रायबरेली पुलिस ने तबरेज की तरफ से एफआईआर दर्ज किए मुकदमे में उल्टा तबरेज राणा को ही मुलजिम दिया है. इस मुकदमे में तबीयत की गिरफ्तारी को लेकर रायबरेली पुलिस ने छापा मारा है. क्या है पूरा मामला 28 जून को मनोवर राणा के बेटे तबरेज राणा ने रायबरेली में सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था कि वह अपनी कार से त्रिपुला चौराहे के पास स्थित पेट्रोल पंप से डीजल लेकर निकल रहे थे. तभी एक बाइक पर सवार दो युवकों ने कार पर फायरिंग कर दी तबरेज का कहना है कि वह अपने लाइसेंसी गन लेकर नीचे उतरे तो नकाबपोश बदमाश तब तक भाग चुके थे. इसकी जांच के लिए पुलिस ने पेट्रोल पंप के सीसीटीवी फुटेज को जांचा तो पता चला कि यह दावा पूरी तरह से फर्जी है. खुद तबरेज ने अपने चाचा और चचेरे भाइयों को फसाने के लिए मुकदमा दर्ज कराया था. मुनव्वर ने बताया था खुद और बेटे की जान को है खतरा कुछ दिनों पहले ही शायर मुनव्वर राणा ने बेटे तबरेज पर जानलेवा हमला होने के बाद रायबरेली पुलिस से जान की सुरक्षा की गुहार लगाते हुए कहा था कि पुश्तैनी जमीन के लिए मेरे भतीजे मेरी हत्या की साजिश रच रहे हैं. वह मेरी जान ले लेंगे उन्होंने कहा था कि अगर रायबरेली पुलिस सक्रिय नहीं हुई तो उनकी हत्या हो सकती हैं.