PM मोदी ने चली ऐसी चाल,की पाकिस्तान के चारो खाने चित हो गए,अब न वो रो पा रहा न हस पा रहा…

भारत ने पाकिस्तान को यह साफ लफ्जो में समझा दिया है कि गिलगिट-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद समेत पूरा जम्मू कश्मीर और लद्दाख भारत का हिस्सा है! वहीं इसी बीच भारतीय मौसम विभाग ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के ऊपर अपना मौसम बुलेटिन शुरू भी कर दिया है! यानी अब वहां के मौसम का हाल भारतीय बुलेटिन बताया करेगी! क्योंकि वह भारत का हिस्सा है! इस मामले में मौसम विभाग का क्या कहना है मौसम विभाग के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव का कहना है कि मौसम विभाग ने गिलगिट-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद के लिए पूर्वानुमान जारी करना शुरू कर दिया है जो अभी पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके है! इस संबंध में पूर्वानुमान जम्मू कश्मीर मौसम विभाग उप मंडल के तहत 5 मई से जारी किया जा रहा है! वही, डायरेक्टर जनरल मृत्युंजय मोहपात्रा जो कि भारतीय मौसम विभाग के डायरेक्टर है उनके अनुसार- मौसम विभाग पूरे जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लिए बुलेटिन जारी करता है! उनका कहना है कि अब हमने गिलगित बालटिस्तान मुजफ्फर बाद के लिए भी बुलेटिन जारी करना शुरू कर दिया है क्योंकि यह हिस्से भी भारत के हिस्से है! मौसम विभाग के इस कदम का महत्व क्या है? दरअसल इस घटना का महत्व इसलिए काफी बढ़ जाता है क्योंकि हाल ही में भारत ने एक बार फिर अपनी स्थिति को स्पष्ट करते हुए कहा था कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर यानी पीओके भारत का हिस्सा है! इसमें गिलगिट-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद आते हैं! अब भारत ने इन शहरों के मौसम पूर्व अनुमान जारी करना भी शुरू कर दिया गया है जबकि कुछ दिन पहले पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने गिलगिट-बाल्टिस्तान चुनाव की अनुमति दी थी! जिसके चलते भारत में इस प्रतिक्रिया पर आलोचना भी की थी!
 

PM मोदी ने चली ऐसी चाल,की पाकिस्तान के चारो खाने चित हो गए,अब न वो रो पा रहा न हस पा रहा…

भारत ने पाकिस्तान को यह साफ लफ्जो में समझा दिया है कि गिलगिट-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद समेत पूरा जम्मू कश्मीर और लद्दाख भारत का हिस्सा है! वहीं इसी बीच भारतीय मौसम विभाग ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के ऊपर अपना मौसम बुलेटिन शुरू भी कर दिया है! यानी अब वहां के मौसम का हाल भारतीय बुलेटिन बताया करेगी! क्योंकि वह भारत का हिस्सा है!

इस मामले में मौसम विभाग का क्या कहना है

मौसम विभाग के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव का कहना है कि मौसम विभाग ने गिलगिट-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद के लिए पूर्वानुमान जारी करना शुरू कर दिया है जो अभी पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके है! इस संबंध में पूर्वानुमान जम्मू कश्मीर मौसम विभाग उप मंडल के तहत 5 मई से जारी किया जा रहा है! वही, डायरेक्टर जनरल मृत्युंजय मोहपात्रा जो कि भारतीय मौसम विभाग के डायरेक्टर है उनके अनुसार- मौसम विभाग पूरे जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लिए बुलेटिन जारी करता है! उनका कहना है कि अब हमने गिलगित बालटिस्तान मुजफ्फर बाद के लिए भी बुलेटिन जारी करना शुरू कर दिया है क्योंकि यह हिस्से भी भारत के हिस्से है!

मौसम विभाग के इस कदम का महत्व क्या है?

दरअसल इस घटना का महत्व इसलिए काफी बढ़ जाता है क्योंकि हाल ही में भारत ने एक बार फिर अपनी स्थिति को स्पष्ट करते हुए कहा था कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर यानी पीओके भारत का हिस्सा है! इसमें गिलगिट-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद आते हैं! अब भारत ने इन शहरों के मौसम पूर्व अनुमान जारी करना भी शुरू कर दिया गया है जबकि कुछ दिन पहले पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने गिलगिट-बाल्टिस्तान चुनाव की अनुमति दी थी! जिसके चलते भारत में इस प्रतिक्रिया पर आलोचना भी की थी!