देश को गोल्ड जिताने वाले नीरज चोपड़ा का प्रधानमंत्री ने किया समर्थन तो वामपंथियों ने खोज लिया संघी चहरा, उड़ाने लगे मजाक

When the Prime Minister supported Neeraj Chopra: टोक्यो ओलंपिक (Olympic) 2020 में भारतीय चुनौती के आखिरी दिन देश को पहला स्वर्ण पदक, भाला फेंक स्पर्धा में नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopda) ने दिलाकर इतिहास रच दिया . यह पदक का और विशेष महत्व है, क्योंकि नीरज ने 100 से अधिक वर्षों में पहली बार ट्रैक एंड फील्ड में भारत को स्वर्ण पदक दिलाया है. गौरतलब है कि किसी भारतीय खिलाड़ी ने एथलेटिक्स में आखिरी पदक 1920 में जीता था. टोक्यो ओलंपिक में चोपड़ा के शानदार प्रदर्शन और स्वर्ण पदक जीतने का जश्न पूरा देश मना रहा है. देश के विभिन्न हिस्सों, खासकर स्वर्ण पदक विजेता के गृह राज्य हरियाणा (Haryana) में खुशी का माहौल है. लोग जश्न में डूबे हुए हैं. सोशल मीडिया (Social Media) पर देश की तमाम बड़ी हस्तियों और आम लोगों ने नीरज चोपड़ा को जीत की बधाई दी और देश के लिए स्वर्ण पदक लाने के लिए आभार व्यक्त किया. इन्ही सब के बीच खुद को वामपंथी बताने वाले बहुत से लोग चोपड़ा को बधाई देने और उनकी जीत का जश्न मनाने से कतरा रहे हैं. इसका विरोध का एक बड़ा कारण चोपड़ा के पुराने ट्वीट्स हैं, जिनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Modi) के कट्टर विरोधियों ने उन्हें पीएम का समर्थन करते हुए देखा . अब ये ट्वीट्स वायरल हो गए हैं। गौरतलब है कि साल 2019 के आम चुनाव में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता पर दोबारा काबिज होने पर भारतीय खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई देते हुए एक ट्वीट किया था. इसमें उन्होंने लिखा था, ”इस ऐतिहासिक जीत के लिए हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मेरी तरफ से हार्दिक बधाई. आपके नेतृत्व में हमारा देश नई ऊँचाइयों को छुए.” नीरज चोपड़ा के टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने के बाद उनके पुराने ट्वीट सोशल मीडिया वायरल हो रहे हैं. इन ट्वीट्स को व्यापक रूप से सोशल मीडिया पे साझा किया जा रहा है उनके ट्वीट्स में से एक लोकसभा चुनाव 2019 में प्रचंड बहुमत हासिल करने वाले पीएम मोदी के लिए उनका बधाई संदेश था. यही ट्वीट भारत में वामपंथी ‘लिबरल’ को रास नहीं आ रहा है. यही कारण है कि वह ओलंपिक में स्वर्ण पदक दिलाने वाले नीरज चोपड़ा से खार खाए बैठे हैं.
 

देश को गोल्ड जिताने वाले नीरज चोपड़ा का प्रधानमंत्री ने किया समर्थन तो वामपंथियों ने खोज लिया संघी चहरा, उड़ाने लगे मजाक

When the Prime Minister supported Neeraj Chopra: टोक्यो ओलंपिक ( Olympic) 2020 में भारतीय चुनौती के आखिरी दिन देश को पहला स्वर्ण पदक, भाला फेंक स्पर्धा में नीरज चोपड़ा ( Neeraj Chopda) ने दिलाकर इतिहास रच दिया . यह पदक का और विशेष महत्व है, क्योंकि नीरज ने 100 से अधिक वर्षों में पहली बार ट्रैक एंड फील्ड में भारत को स्वर्ण पदक दिलाया है. गौरतलब है कि किसी भारतीय खिलाड़ी ने एथलेटिक्स में आखिरी पदक 1920 में जीता था. टोक्यो ओलंपिक में चोपड़ा के शानदार प्रदर्शन और स्वर्ण पदक जीतने का जश्न पूरा देश मना रहा है. देश के विभिन्न हिस्सों, खासकर स्वर्ण पदक विजेता के गृह राज्य हरियाणा ( Haryana) में खुशी का माहौल है. लोग जश्न में डूबे हुए हैं. सोशल मीडिया ( Social Media) पर देश की तमाम बड़ी हस्तियों और आम लोगों ने नीरज चोपड़ा को जीत की बधाई दी और देश के लिए स्वर्ण पदक लाने के लिए आभार व्यक्त किया. इन्ही सब के बीच खुद को वामपंथी बताने वाले बहुत से लोग चोपड़ा को बधाई देने और उनकी जीत का जश्न मनाने से कतरा रहे हैं. इसका विरोध का एक बड़ा कारण चोपड़ा के पुराने ट्वीट्स हैं, जिनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Modi) के कट्टर विरोधियों ने उन्हें पीएम का समर्थन करते हुए देखा . अब ये ट्वीट्स वायरल हो गए हैं। गौरतलब है कि साल 2019 के आम चुनाव में प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता पर दोबारा काबिज होने पर भारतीय खिलाड़ी नीरज चोपड़ा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई देते हुए एक ट्वीट किया था. इसमें उन्होंने लिखा था, ”इस ऐतिहासिक जीत के लिए हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मेरी तरफ से हार्दिक बधाई. आपके नेतृत्व में हमारा देश नई ऊँचाइयों को छुए.” नीरज चोपड़ा के टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने के बाद उनके पुराने ट्वीट सोशल मीडिया वायरल हो रहे हैं. इन ट्वीट्स को व्यापक रूप से सोशल मीडिया पे साझा किया जा रहा है उनके ट्वीट्स में से एक लोकसभा चुनाव 2019 में प्रचंड बहुमत हासिल करने वाले पीएम मोदी के लिए उनका बधाई संदेश था. यही ट्वीट भारत में वामपंथी ‘लिबरल’ को रास नहीं आ रहा है. यही कारण ​है कि वह ओलंपिक में स्वर्ण पदक दिलाने वाले नीरज चोपड़ा से खार खाए बैठे हैं.