Funeral: किन्नरों का कुछ ऐसे होता है अंतिम संस्कार! देखकर दिमाग पूरा हिल जाएगा! भारत में या देश विदेश में किन्नरों के बारें में काैन नही जानता है! कि हमारी सोसाइटी में वाे कैसे अपनी जिन्दगी काे चलाते है! कभी उसके घर शादी में नाच कर कभी उसके घर! अगर किसी के घर किन्नर का जन्म हाे जाता है! ताे किन्नर उसे ले जाते है! किन्नरों का जीवन अासान नही हाेता है! किन्नराें की पूरी स्टोरी जानकर अाप भी हैरान हाे जाएंगे!

Funeral-

क्या अाप जानते है! किन्नर की आखरी यात्रा को गोपनीय रखा जाता है! बाकी धर्मों से ठीक उलट किन्नरों की अंतिम यात्रा दिन की जगह रात में निकाली जाती है! किन्नरों के अंतिम संस्कार को गैर-किन्नरों से छिपाकर किया जाता है! अगर किसी किन्नर की अंतिम यात्रा को कोई आम इंसान देख ले! फिर मरने वाले का जन्म फिर से किन्नर के रूप में ही होगा!

अंतिम संस्कार से पहले बॉडी को जूते-चप्पलों से पीटा जाता है! कहा जाता है इससे उस जन्म में किए सारे पापों का प्रायश्चित हो जाता है! आपको पता है अपने साम्राज्य में किसी की मौत होने के बाद किन्नर अगले एक हफ्ते तक खाना नहीं खाते! वैसे तो ये लोग हिन्दू धर्म की कई रीति-रिवाजों को मानते हैं! लेकिन इनकी डेड बॉडी को जलाया नहीं जाता! बल्कि इनकी बॉडी को दफनाया जाता है!

आपको जानकर आश्चर्य होगा! कि किन्नर समाज अपने किसी सदस्य की मौत के बाद मातम नहीं मनाते! इसकी ये वजह है! कि मौत के बाद किन्नर को नरक रूपी जिन्दगी से मुक्ति मिल गई! मौत के बाद किन्नर समाज खुशियां मनाते हैं! और अपने अराध्य देव अरावन से मांगते हैं! कि अगले जन्म में मरने वाले को किन्नर ना बनाएं!

और देखें-

दूल्हे को करना पड़ता है पहले ये गन्दा काम तब ही होगी शादी, कुछ ऐसा जो आपके पसीने निकलवा दे…!wrong think

wrong traditionयहाँ सुहागरात पर दुल्हन की वर्जिनिटी ऐसे जाची जाती है, पास न होने पर दी जाती है ये सजा…!

 

By dp

You missed