हम सभी इस बात से बख़ूबी वाकिफ है कि कंगना रनौत के कंट्रोवर्शियल शो में आए दिन कोई न कोई नए खुलासे होते रहते हैं। बता दे कि हाल ही में कंगना ने बताया कि मीटू मूवमेंट के समर्थन में आने के बाद उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में बैन कर दिया गया था। कंगना ने कहा कि बाद में उन्होंने जिन महिलाओं का समर्थन किया वे गायब हो गईं। वह तब वर्ष 2020 में अभिनेत्री पायल घोष के समर्थन में आईं जब उन्होंने फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया।

गौरतलब है कि लॉकअप में कंटेस्टेंट सायशा शिंदे ने खुलासा किया कि- ‘जब मैं अपने पसंदीदा फैशन डिजाइनर से मिली तो मैं उनसे बहुत प्रभावित हुई। उसने मुझे अपने होटल के कमरे में आमंत्रित किया। उसके बाद मैंने उनसे सगाई की और उनके साथ संबंध बनाए। लेकिन बाद में मुझे पता चला कि उसी फैशन डिजाइनर ने सात से आठ अन्य पुरुषों के साथ भी ऐसा ही किया है। सायशा का राज सुनकर हर कोई हैरान रह गया. सायशा की कहानी सुनने के बाद कंगना ने कहा कि मुझे लगता है कि युवाओं का यौन शोषण बहुत आम है, खासकर फिल्म इंडस्ट्री में। हम इस उद्योग का कितना भी बचाव करें, यह सच है। उन्होंने कहा कि यह उद्योग लोगों को कई अवसर देता है और कई लोगों के सपने भी तोड़ता है। यह इस उद्योग का काला सच है।

हम आपको यह बताते चले की कंगना ने कहा कि यौन शोषण हर इंडस्ट्री में होता है, लेकिन लगता है फिल्म इंडस्ट्री को इसका लाइसेंस मिल गया है। कंगना रनौत ने आगे कहा- जब यहां मीटू कैंपेन शुरू हुआ तो उन्हें भी कुछ नहीं हुआ. जो लड़कियां खुल कर बोल रही थीं वो बाहर निकलीं, वो सब गायब हैं. कंगना ने कहा- जिन महिलाओं का मैंने समर्थन किया वो गायब हो गईं और मुझे इंडस्ट्री में बैन कर दिया गया।

By Admin